Thursday, June 20, 2024
Homeराजनीति'कॉमरेड कन्हैया मुर्दाबाद' के नारों से हुआ स्वागत, बिहार के लोगों को समझाने गए...

‘कॉमरेड कन्हैया मुर्दाबाद’ के नारों से हुआ स्वागत, बिहार के लोगों को समझाने गए थे CAA और NRC

सीएए के ख़िलाफ़ चल रही 'प्रोपेगेंडा यात्रा' के दौरान कन्हैया कुमार के काफ़िले पर छपरा में पथराव करने की कोशिश की गई। इस हमले में कन्हैया की गाड़ी के शीशे टूट गए, जबकि कन्हैया बाल-बाल बच गए।

सीएए और एनआरसी के खिलाफ बिहार में चल रहे प्रोपेगेंडा के तहत गाँव-गाँव घूम रहे सीपीआई के नेताओं को ग्रामीणों के विरोध का सामना करना पड़ा। इस दौरान लोगों ने सीपीआई नेताओं को काले झंडे तो दिखाए ही साथ ही काफ़िले में मौजूद कन्हैया कुमार के ख़िलाफ़ जमकर मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। इस बीच कॉमरेड कन्हैया को गाँव से बाहर निकलना भारी पड़ गया।

इन दिनों बिहार में चल रही जन-गण-मन यात्रा के तहत भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (CPI) नेता और जेएनयू के ‘काम’रेड कन्हैया कुमार गाँव में आयोजित सभाओं में जाकर लोगों को सीएए के खिलाफ भड़का रहे, भ्रमित कर रहे हैं। इसी यात्रा के दौरान रविवार को कन्हैया कुमार की एक सभा बिहार के शिवहर जिले में थी। यहाँ पहुँचे कन्हैया ने लोगों को बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह सीएए को लागू कर देश को बाँटने की कोशिश कर रहे हैं, जिसमें वह कभी सफल नहीं होंगे। इसके बाद कन्हैया की एक सभा सीतामढ़ी के पास होनी थी।

सीएए का विरोध करने पर लोगों ने कन्हैया कुमार को दिखाए काले झंडे (साभार- दैनिक जागरण)

अपने अगले कार्यक्रम के लिए कन्हैया जैसे ही शिवहर से निकलकर सीतामढ़ी की ओर जा रहे थे, तो रास्ते में खड़े लोगों ने उनकी गाड़ी को जबरन रोकने की कोशिश की। इस बीच ग्रामीणों ने पहले तो कन्हैया को काले झंडे दिखाए और फिर जमकर कॉमरेड कन्हैया मुर्दाबाद के नारे लगाए। लेकिन पुलिस ने कन्हैया को सुरक्षा घेरे में लेकर सभा स्थल तक सुरक्षित पहुँचाया। इससे पहले कन्हैया के काफिले को शहर के अंदर पुनौरा में भी रोकने की कोशिश की गई। वहाँ भी युवाओं ने काले झंडे दिखाकर कन्हैया मुर्दाबाद के नारे लगाए।

बीते शनिवार को भी सीएए के ख़िलाफ़ चल रही प्रोपेगेंडा यात्रा के दौरान कन्हैया कुमार के काफ़िले पर छपरा में पथराव करने की कोशिश की गई थी। इस हमले में कन्हैया की गाड़ी के शीशे टूट गए थे जबकि कन्हैया बाल-बाल बच गए थे।

आपको बता दें कि देशद्रोह के आरोप में मुकदमा झेल रहे कन्हैया कुमार ने सीपीआई के टिकट पर मंत्री गिरिराज सिंह के सामने बेगूसराय से लोकसभा का चुनाव लड़ा था, जिसमें उन्हें बुरी हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद से वह अपनी जमीन तलाश करने में जुटे हुए हैं।

मोतिहारी से ​हिरासत में लिए गए कन्हैया कुमार

मोदी के कहने पर फोर्ब्स में कन्हैया का नाम, शेहला ने नए नोट पर लिख दिया- कन्हैबा बेब्फा है

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या NEET पेपर लीक के पीछे हैं तेजस्वी यादव, जिस सरकारी गेस्ट हाउस में पेपर लेकर आया था सिकंदर यदुवंशी उनसे क्या है RJD...

एनएचएआई गेस्ट हाउस मामले में बिहार के डिप्टी सीएम और पथ निर्माण विभाग के मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने दावा किया कि पूरा मामला तेजस्वी यादव से जुड़ा हुआ है।

UGC-NET जून 2024 परीक्षा रद्द, 18 जून को 11.21 लाख छात्रों ने दी थी परीक्षा: साइबर क्राइम सेल से मिला सेंधमारी का इनपुट,...

परीक्षा प्रक्रिया की उच्चतम स्तर की पारदर्शिता और पवित्रता सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि यूजीसी-नेट जून 2024 परीक्षा रद्द की जाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -