Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति₹2 लाख करोड़ की 225 परियोजनाओं को केंद्र ने दी मंजूरी, 8 साल में...

₹2 लाख करोड़ की 225 परियोजनाओं को केंद्र ने दी मंजूरी, 8 साल में 8 करोड़ औरतों की मदद: महाराष्ट्र के रोजगार मेले में PM मोदी, कहा- अब नौकरी का स्वरूप बदल रहा है

युवाओं को नियुक्ति पत्र मिलने की बधाई देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, "मैं सीएम एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का अभिनंदन करता हूँ। इतने कम समय में रोजगार मेले के आयोजन से साफ है कि महाराष्ट्र सरकार युवाओं को रोजगार देने की दिशा में मजबूती के साथ बढ़ रही है।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार (3 नवंबर 2022) को महाराष्ट्र में आयोजित रोजगार मेले को वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से संबोधित किया। उन्होंने कहा कि देश के युवाओं को सरकारी विभागों में सामूहिक रूप से नियुक्ति पत्र देने के अभियान में महाराष्ट्र का नाम जुड़ रहा है।

उन्होंने कहा, “धनतेरस के दिन केंद्र सरकार ने 10 लाख नौकरियाँ देने के अभियान की शुरुआत की थी। तभी मैंने कहा था कि आने वाले दिनों में विभिन्न राज्य सरकारें भी रोजगार मेले किया करेंगी। इसी कड़ी में आज महाराष्ट्र सैकड़ों युवाओं को एक साथ नियुक्ति पत्र दिए जा रहे हैं। इस समय देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, देश विकसित भारत के लक्ष्य पर काम कर रहा है। इस लक्ष्य की प्राप्ति में बहुत बड़ी भूमिका हमारे देश के युवाओं की है।”

‘रोजगार के लाखों नए अवसर’

पीएम मोदी ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा महाराष्ट्र के युवाओं को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार ने राज्य में 2 लाख करोड़ रुपए की 225 परियोजनाओं को मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में रेलवे में 75 हजार करोड़ रुपए और आधुनिक सड़कों के लिए 50 हजार करोड़ रुपए का प्रोजेक्ट स्वीकृत किए गए हैं। सरकार जब इतनी बड़ी राशि इंफ्रास्ट्रक्चर पर खर्च करती है तो उस वजह से भी रोजगार के लाखों नए अवसर बनते हैं।

युवाओं को नियुक्ति पत्र मिलने की बधाई देते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “मैं सीएम एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का अभिनंदन करता हूँ। इतने कम समय में रोजगार मेले के आयोजन से साफ है कि महाराष्ट्र सरकार युवाओं को रोजगार देने की दिशा में मजबूती के साथ बढ़ रही है।”

‘स्टार्टअप्स, एमएसएमई को हर संभव आर्थिक सहायता’

पीएम मोदी ने यह भी कहा कि सरकार स्टार्टअप्स, एमएसएमई को हर संभव आर्थिक सहायता दे रही है। दलितों, जनजातीय वर्ग, अल्पसंख्यकों और महिलाओं को समान रोजगार के अवसर दिए जा रहे हैं। पिछले 8 वर्षों में, गाँवों में स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी 8 करोड़ महिलाओं को 5.5 लाख करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता दी गई।

पीएम मोदी के अनुसार, बदलते समय में नौकरियों का स्वरूप तेजी से बदल रहा है, सरकार भी लगातार अलग-अलग तरह की नौकरियों के अवसर पैदा कर रही है। मुद्रा ऋण योजना के तहत सरकार ने युवाओं को 20 लाख करोड़ रुपए की सहायता प्रदान की है। इस योजना से महाराष्ट्र के युवाओं को काफी फायदा हुआ है।

बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा इसी तरह स्टार्ट-अप्स और एमएसएमई सेक्टर को भी बड़े पैमाने पर सपोर्ट किया जा रहा है। युवाओं को आर्थिक सहायता दी जा रही है, ताकि युवा अवसरों से न चूकें और अपनी प्रतिभा का अधिकतम लाभ उठाएँ।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण पर बांग्लादेश में हो रही हत्याएँ, सीख भारत के लिए: परिवार और जाति-विशेष से बाहर निकले रिजर्वेशन का जिन्न

बांग्लादेश में आरक्षण के खिलाफ छात्र सड़कों पर उतर आए हैं। वहाँ सेना को तैनात किया गया है। इससे भारत को सीख लेने की जरूरत है।

कर्नाटक के बाद अब तमिलनाडु में YouTuber अजीत भारती के खिलाफ FIR, कॉन्ग्रेस नेता सैमुअल MC ने की शिकायत: राहुल गाँधी से जुड़ा है...

"कर्नाटक उच्च न्यायालय ने स्थगन का आदेश दे रखा है, उस पर कथित घटना और केस पर स्टे के बाद, वापस दूसरे राज्य में केस करना क्या बताता है? "

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -