Saturday, January 22, 2022
Homeराजनीति'गाय' और 'ॐ' सुनते कुछ लोगों के बाल खड़े हो जाते हैं, PM मोदी...

‘गाय’ और ‘ॐ’ सुनते कुछ लोगों के बाल खड़े हो जाते हैं, PM मोदी ने मथुरा में विपक्षियों की चुटकी ली

इस दौरान उन्होंने 1000 करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया। उन्होंने पशु आरोग्य मेले में किसानों से मुलाक़ात कर यह जाना कि उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है या नहीं?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (सितम्बर 11, 2019) को मथुरा में ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान की शुरुआत की। उन्होंने सिंगल यूज प्लास्टिक के ख़िलाफ़ लोगों को जागरूक बनाने के लिए नई पहल का आह्वान किया। प्रधानमंत्री ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वे अपने घर एवं कार्यक्षेत्र में सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग बंद करें। इसके लिए उन्होंने लोगों से इस वर्ष गाँधी जयंती तक की समयावधि निर्धारित करने को कहा। उन्होंने मथुरा में कचरा बीनने वाली महिलाओं के साथ भी मुलाक़ात की।

इस दौरान उन्होंने 1000 करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाओं का भी शिलान्यास किया। उन्होंने पशु आरोग्य मेले में किसानों से मुलाक़ात कर यह जाना कि उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है या नहीं? केंद्र में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने के बाद पीएम मोदी पहली बार मथुरा पहुँचे थे। उन्होंने यूपी में बड़ी संख्या में लोकसभा सीटों पर भाजपा की विजय के लिए जनता का धन्यवाद किया।

भगवान श्रीकृष्ण की नगरी में पर्यावरण का महत्व समझाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि यमुना और गाय के बिना कान्हा की कोई भी तस्वीर पूरी नहीं होती। उन्होंने कहा कि दूध, दही और माखन के बिना श्रीकृष्ण की कल्पना की ही नहीं जा सकती। पीएम मोदी ने समझाया कि जिस तरह प्रकृति, पशुधन और पर्यावरण के बिना भगवान कृष्ण अधूरे नज़र आते हैं, उसी तरह इनके बिना भारत भी अधूरा लगेगा। उन्होंने प्रकृति से संतुलन बना कर चलने की अपील की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों को प्लास्टिक के कारण उत्पन्न ख़तरे के बारे में बताया। विपक्ष पर निशाना साधते हुए पीएम ने कहा कि कुछ लोगों के कान में जैसे ही ‘ॐ’ या ‘गाय’ शब्द पड़ते हैं, उनके बाल खड़े हो जाते हैं। प्लास्टिक कचरे से मुक्ति के महत्व पर प्रकाश डालते हुए पीएम मोदी ने कहा:

“प्लास्टिक कचरे की समस्या समय के साथ गंभीर होती जा रही है। ब्रजवासी अच्छी तरह जानते हैं कि कैसे प्लास्टिक पशुओं की मौत का कारण बन रहा है। मैं देशभर में काम कर रहे सभी स्वास्थ्य संगठन, सिविल सोसाइटी, युवा मंडल, महिला मंडल, क्लब, स्कूल, कालेजों से सिंगल यूज प्लास्टिक खत्म करने के मिशन में शामिल होने का आग्रह करता हूँ। महात्मा गाँधी ने भी स्वच्छता को प्रमुखता दी। उनकी 150वीं जयंती पर यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी।”

प्रधानमंत्री ने अपने सम्बोधन की शुरुआत ब्रजभाषा से की। इस दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह भी मौजूद रहे। प्रधानमंत्री ने प्लास्टिक-कूड़ा अलग करने वाले लोगों से न सिर्फ़ बातचीत की बल्कि उनके काम में हाथ भी बँटाया।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ईसाई बनने को कहा, मना करने पर टॉयलेट साफ़ करने को मजबूर किया’: तमिलनाडु में 17 साल की लड़की की आत्महत्या, माता-पिता ने बताई...

परिजनों ने आरोप लगाया कि हॉस्टल वॉर्डन द्वारा लावण्या प्रताड़ित किया गया था और मारा-पीटा गया था, क्योंकि उसने ईसाई मजहब में धर्मांतरण से इनकार किया था।

‘मेरे जलसे के बराबर में हिन्दुओं को इजाजत तो… घर में घुस इन्हें मारूँगा’ – जो था पहले IPS, कॉन्ग्रेसी नेता बनते ही उगला...

"मेरे जलसे के बराबर में हिन्दुओं को इजाजत दी गई तो मैं ऐसे हालात पैदा करूँगा कि संभालने मुश्किल हो जाएँगे।" - सिद्धू के सलाहकार मो. मुस्तफा

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,725FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe