Saturday, July 20, 2024
HomeराजनीतिREET में पद बढ़ाकर 50 हजार करने की माँग को लेकर राजस्थान में बेरोजगारों...

REET में पद बढ़ाकर 50 हजार करने की माँग को लेकर राजस्थान में बेरोजगारों का प्रदर्शन, कड़ाके की ठंड में अर्धनग्न प्रदर्शन से कइयों की तबीयत बिगड़ी

आमरण अनशन पर बैठे अभ्यर्थी मुकेश चौधरी का कहना है, "शिक्षा विभाग में बड़ी संख्या में पद खाली हैं। इसके बावजूद सरकार इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। आमरण अनशन को 8 दिन हो गए हैं, लेकिन हमारी माँगे पूरी नहीं की गई हैं। यदि हमारी माँगे पूरी नहीं होती हैं तो हम धरना स्थल पर ही अपनी जान दे देंगे, लेकिन आंदोलन खत्म नहीं करेंगे।"

राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET Exam 2021) भर्ती में पदों की संख्या बढ़ाकर 50 हजार करने का मुद्दा पिछले कुछ दिनों से ट्विटर पर छाया हुआ है। वहीं, रीट पास अभ्यर्थियों को पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट का समर्थन मिलने के बाद गहलोत सरकार की मुश्किलें और बढ़ गई हैं। दरअसल, 26 दिसंबर 2021 को 31 हजार पदों पर आयोजित रीट भर्ती परीक्षा में पदों की संख्या 50 हजार करने की माँग को लेकर शहीद स्मारक पर पिछले करीब दो महीनों से बेरोजगारों का धरना चल रहा है। यही नहीं, बेरोजगारों ने अपनी माँगों को मनवाने के लिए इस कड़ाके की ठंड में अर्द्धनग्न प्रदर्शन भी शुरू किया है, जिससे उनकी तबीयत खराब होने लगी है, लेकिन अभी तक इस मामले में कोई भी सुनवाई नहीं होने पर इन लोगों में खासा आक्रोश है।

REET_के_पद_बढ़ाकर_50000_करो और #REET_50000_नहीं_तो _वोट_नहीं लिखकर बीते कुछ दिनों से ट्रेंड किया जा रहा है। ट्विटर पर राजस्थान की किरकिरी होने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अभ्यर्थियों को आश्वासन देते हुए ट्वीट किया। उन्होंने गुरुवार (30 दिसंबर 2021) को लिखा, “वर्ष 2022 में 14-15 मई को रीट परीक्षा आयोजित करने का निर्णय किया है, जिससे प्रदेश को करीब 20,000 नए शिक्षक मिल सकेंगे। इस भर्ती में विशेष शिक्षकों हेतु भी प्रावधान किया जाएगा। इससे युवाओं को रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे।”

वहीं, आमरण अनशन पर बैठे अभ्यर्थी मुकेश चौधरी का कहना है, “शिक्षा विभाग में बड़ी संख्या में पद खाली हैं। इसके बावजूद सरकार इस पर कोई ध्यान नहीं दे रही है। आमरण अनशन को 8 दिन हो गए हैं, लेकिन हमारी माँगे पूरी नहीं की गई हैं। यदि हमारी माँगे पूरी नहीं होती हैं तो हम धरना स्थल पर ही अपनी जान दे देंगे, लेकिन आंदोलन खत्म नहीं करेंगे। कड़ाके की सर्दी में बेरोजगारों की तबीयत भी खराब होती जा रही है। जब तक माँग पूरी नहीं होगी तब तक आंदोलन जारी रहेगा।”

बता दें कि बेरोजगारों के प्रतिनिधिमंडल ने शिक्षा मंत्री बीडी कल्ला से 29 दिसंबर को मुलाकात की थी। प्रतिनिधिमंडल ने पीटीआई और विशेष शिक्षक के मामले पर उनसे चर्चा की, जिसके बाद कल्ला ने बेरोजगारों को आश्वासन दिया कि सीएम अशोक गहलोत जल्द ही पद बढ़ाने की मंजूरी दे सकते हैं। गहलोत सरकार ने 31 हजार से 50 हजार शिक्षकों के पद बढ़ाने की पूरी तैयारी कर ली है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -