Thursday, June 13, 2024
Homeराजनीति'ईसा मसीह को प्यार करता हूँ': पंजाब चुनाव के बीच मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी...

‘ईसा मसीह को प्यार करता हूँ’: पंजाब चुनाव के बीच मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा- ‘सिख धर्म में पैदा हुआ, ईसाई धर्म में आस्था’

चन्नी ने पिछले साल दिसंबर के अंतिम सप्ताह में कहा था कि पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ईसा मसीह की शिक्षाओं और ईसाइयों के पवित्र धर्मग्रंथ बाइबल पर व्यापक अध्ययन और शोध के लिए एक ‘पीठ’ स्थापित करेगी। उन्होंने यह पीठ राज्य के विश्वविद्यालय करने के बारे में कही थी।  

पंजाब विधानसभा चुनावों (Punjab Assembly Election 2022) के बीच प्रदेश के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी (Charanjit Sinh Channi) ने शुक्रवार (4 फरवरी 2022) को कहा वह ईसाइयों के देवता ईसा मसीह को बहुत मानते हैं। उन्होंने कहा कि वे सिख धर्म में पैदा हुए हैं। वे ईसाई धर्म अपनाया नहीं है, लेकिन उसमें उनकी आस्था है।

न्यू इंडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ईसाई में मेरी आस्था है। पैदा सिख हुआ हूँ। लेकिन ये भी है कि मैं प्रभु ईसा मसीह को प्यार करता हूँ।”

बता दें कि चन्नी के क्रिश्चियन में धर्मांतरण करने को लेकर बहस होता रहा है। उन्होंने पिछले साल दिसंबर के अंतिम सप्ताह में कहा था कि पंजाब की कॉन्ग्रेस सरकार ईसा मसीह की शिक्षाओं और ईसाइयों के पवित्र धर्मग्रंथ बाइबल पर व्यापक अध्ययन और शोध के लिए एक ‘पीठ’ स्थापित करेगी। उन्होंने यह पीठ राज्य के विश्वविद्यालय करने के बारे में कही थी।  

क्रिसमस के उपलक्ष्य में ‘वॉयस ऑफ पीस मिनिस्ट्री’ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा था कि समाज के सभी वर्गों के इस पवित्र अवसर को मिलकर मनाना चाहिए। सीएम ने कहा था कि क्रिसमस न केवल ईसाइयों के लिए, बल्कि सभी धर्मों और आस्था के लोगों के लिए एक पवित्र अवसर है। ईसा मसीह ने शांति, प्रेम, सद्भाव और भाईचारे का मार्ग दिखाया था, जो आज भी प्रासंगिक है।

वहीं, पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चन्नी पर गंभीर आरोप लगाया था। कैप्टन ने कहा था कि वर्तमान सीएम चन्नी एक महिला अधिकारी को देर रात कॉल करके परेशान करते थे। इस बात की शिकायत उनसे महिला अधिकारी ने की थी। बाद में चन्नी से जब सवाल-जवाब हुआ तो उन्हें महिला अधिकारी से माफी माँगनी पड़ी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -