Saturday, July 13, 2024
Homeराजनीतिलताड़े जाने के बाद राहुल गाँधी ने J&K पर मारा यू-टर्न, गदगद थरूर ने...

लताड़े जाने के बाद राहुल गाँधी ने J&K पर मारा यू-टर्न, गदगद थरूर ने कहा- ‘बहुत सही मालिक’

पाकिस्तान ने यूएन को लिखे पत्र में राहुल गाँधी के बयानों का सहारा लिया है। गौरतलब है, जब पाकिस्तान द्वारा राहुल गाँधी के बयानों के सहारे यूएन में अपनी बात साबित करने की कोशिश वाली ख़बर आई तो लोगों ने राहुल को जम कर लताड़ा।

कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी अब डैमेज कंट्रोल में जुट गए हैं। पाकिस्तान ने उनके बयानों का सहारा लेकर यूएन में अपनी बात साबित करने की कोशिश की है। पाकिस्तान ने राहुल गाँधी के बयान ‘कश्मीर में लोग मर रहे हैं’ को सहारा बनाया और यूएन को कहा कि भारत के प्रमुख नेता भी मानते हैं कि मोदी सरकार जम्मू कश्मीर में ‘गड़बड़ियाँ और अत्याचार’ कर रही है। पाकिस्तान ने यूएन को भेजे पत्र में पूर्व कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल के उस बयान का भी सहारा लिया जिसमें उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर में चीजें ग़लत दिशा में जा रही हैं।

अब राहुल गाँधी ने ट्वीट कर डैमेज कंट्रोल की कोशिश की है। राहुल गाँधी ने जम्मू कश्मीर में हिंसा के लिए पाकिस्तान को ज़िम्मेदार बता कर ट्विटर पर सुर्खियाँ बटोरी। उन्होंने जम्मू कश्मीर को भारत का आंतरिक मुद्दा बताते हुए किसी भी अन्य देश द्वारा हस्तक्षेप की बात को नकारते हुए कहा कि दुनिया भर में पाकिस्तान को आतंक के प्रमुख समर्थक के रूप में जाना जाता है।

लेकिन, तब तक लोगों ने राहुल को लताड़ लगानी शुरू कर दी थी। जब पाकिस्तान द्वारा राहुल गाँधी के बयानों के सहारे यूएन में अपनी बात साबित करने की कोशिश वाली ख़बर आई तो लोगों ने राहुल को जम कर लताड़ा।

तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर ने राहुल गाँधी के बयान का समर्थन करते हुए गदगद होकर लिखा- ‘बहुत सही मालिक, पाकिस्तान को हमारे रुख से लाभ उठाने की ज़रूरत नहीं है।

हालाँकि, इस दौरान थरूर यह लिखना नहीं भूले कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को ‘अलोकतांत्रिक और असंवैधानिक तरीके’ से हटाया गया था। लोगों ने थरूर से पूछा कि अब तो राहुल गाँधी कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष भी नहीं रहे, तो फिर वे ‘मालिक’ कैसे हुए? लोगों ने कहा कि अब जो डैमेज होना था वह हो चुका, अब इन बयानों का कोई फ़ायदा नहीं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -