Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीतिजिन्हें लालू यादव ने बताया था 'भकचोन्हर', उन्हें अपनी ही पार्टी के नेताओं ने...

जिन्हें लालू यादव ने बताया था ‘भकचोन्हर’, उन्हें अपनी ही पार्टी के नेताओं ने दी गाली: मंत्री बनने के लिए कॉन्ग्रेस में बवाल, बिहार में होना है मंत्रिमंडल विस्तार

वहाँ मौजूद पार्टी के दूसरे वरिष्ठ नेताओं ने बिहार कॉन्ग्रेस प्रभारी को किसी तरह बाहर निकाला और मामला शांत कराया। लेकिन गयासुद्दीन खान और आपात खान जैसे नेताओं ने जिस तरीके से विरोध जताया उससे सदाकत आश्रम में अफरा-तफरी का माहौल बन गया।

बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बवाल हो गया है। सोमवार (15 अगस्त 2022) को सदाकत आश्रम में कॉन्ग्रेस कोटे से पाँच मंत्री बनाने की माँग को लेकर खूब हंगामा किया गया। इस दौरान जमकर गाली-गलौज भी हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने माँग की है कि विधायकों की संख्या के आधार पर कैबिनेट में हमारे पाँच मंत्री होने चाहिए। इस दौरान कॉन्ग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बिहार प्रभारी भक्त चरण दास के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली।

कॉन्ग्रेस के पूर्व प्रदेश सचिव गयासुद्दीन खान ने कहा कि विधायकों की संख्या के आधार पर कॉन्ग्रेस को मंत्रिमंडल में जगह मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जीतन राम मांझी की पार्टी के एक विधायक हैं, उनकी पार्टी से एक मंत्री बनाया जा रहा है। उसी तरह कॉन्ग्रेस के विधायकों की संख्या को देखते हुए पाँच मंत्रीपद मिलना चाहिए। मंत्रिमंडल में सबकी भागदारी होनी चाहिए।

हालाँकि, बाद में वहाँ मौजूद पार्टी के दूसरे वरिष्ठ नेताओं ने बिहार कॉन्ग्रेस प्रभारी को किसी तरह बाहर निकाला और मामला शांत कराया। लेकिन गयासुद्दीन खान और आपात खान जैसे नेताओं ने जिस तरीके से विरोध जताया उससे सदाकत आश्रम में अफरा-तफरी का माहौल बन गया। इन दोनों नेताओं ने मीडिया में खुलकर अपनी आपत्ति जताई। यही नहीं इस दौरान उन्होंने अपमानजनक टिप्पणी करने से भी गुरेज नहीं किया।

बता दें कि मंगलवार (16 अगस्त 2022) को नीतीश कैबिनेट का विस्तार होने जा रहा है। कहा जा रहा है कि महागठबंधन ने संभावित मंत्रियों के नाम लगभग तय कर लिए हैं। कैबिनेट में राजद की हिस्सेदारी अधिक होगी। उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात कर उनसे संभावित नाम पर चर्चा की। नीतीश कैबिनेट के सारे मंत्रियों की शपथ एक साथ नहीं होगी। कुछ ही मंत्रियों की शपथ मंगलवार को होगी। तय फार्मूले के तहत राजद को 17, जदयू को 13, कॉन्ग्रेस को 3, हम को 1, निर्दलीय को 1 मंत्री पद मिलना लगभग तय है। शिक्षा, ग्रामीण कार्य समेत कुछ विभाग राजद के खाते में, जबकि वित्त जदयू के पास जा सकता है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -