Tuesday, August 3, 2021
HomeराजनीतिUP के इंटर कॉलेजों में सेनेट्री पैड वेंडिंग मशीन, स्कूलों में लड़कियों को करियर...

UP के इंटर कॉलेजों में सेनेट्री पैड वेंडिंग मशीन, स्कूलों में लड़कियों को करियर काउंसलिंग: योगी सरकार की पहल

8वीं कक्षा तक की लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग। पहली बार राजकीय कन्या इंटर कॉलेजों में सेनेट्री पैड वेंडिंग मशीन व इंसीनिरेटर लगेंगे। लड़कियों के सुनहरे भविष्य के लिए योगी सरकार ने...

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर अक्सर पितृसत्तात्मक होने के इल्जाम मढ़े जाते रहे हैं, लेकिन इन सभी चीजों से ऊपर उठ कर इस सरकार ने हमेशा प्रदेश की महिलाओं के लिए उपयुक्त कदम उठाए और उनके कल्याण हेतु योजना चलाई।

अब इसी क्रम में सरकार ने एक और सराहनीय फैसला लिया है। इस फैसले के अनुसार राज्य में पहली बार 1000 राजकीय कन्या इंटर कॉलेजों में सेनेट्री पैड वेंडिंग मशीन व इंसीनिरेटर लगेंगे।

हर मशीन व इंसीनिरेटर के लिए 30 हजार रुपए दिए जाएँगे। पूरी योजना पर 3 करोड़ रुपए का खर्चा आएगा। इस योजना का उद्देश्य लड़कियों को मासिक धर्म के दौरान स्कूल में होने वाली परेशानियों से निजात दिलाना है ताकि वह अपनी पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित कर पाएँ।

इससे पूर्व 6 से 8 कक्षा तक चलने वाले कस्तूरबा गाँधी आवासीय स्कूलों में सेनेट्री नैपकिन वेंडिंग मशीन व इंसीनिरेटर लगाए जाते थे। लेकिन अब पहली बार समग्र शिक्षा अभियान के तहत इसे विस्तार देते हुए राजकीय कन्या इंटर कालेजों में लगाया जाएगा।

इसके अलावा सरकार ने स्कूल जाने वाली लड़कियों के सुनहरे भविष्य के लिए 779 स्कूलों में करियर काउंसलिंग कार्यक्रम चलाने की योजना भी बनाई है। इसके लिए सरकार प्रति स्कूल 7 हजार रुपए खर्च करेगी। इसके साथ ही सरकार ने 28839 स्कूलों में लड़कियों को सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग देने का ऐलान किया है।

जानकारी के अनुसार 8वीं कक्षा तक की लड़कियों को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके लिए 28839 स्कूलों में 3 महीने तक का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए प्रति स्कूल 9000 रुपए खर्च होंगे।

सरकार ने ग्रामीण परिवेश की लड़कियों में आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए उनकी पर्सनेलिटी डेवलवमेंट भी करवाने का फैसला लिया है। इसके तहत लड़कियों को बातचीत करने की कला, व्यवहार, उठने-बैठने का सही तरीका समेत ऐसी सभी सॉफ्ट स्किल को सिखाया जाएगा। यह अभियान लड़कियों के लिए प्रदेश के 1.59 लाख प्राइमरी स्कूलों में कार्यक्रम चलाया जाएगा, जिसके लिए केन्द्र सरकार ने 23 करोड़ रुपए का बजट मंजूर किया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमित शाह ने बना दी असम-मिजोरम के बीच की बिगड़ी बात, अब विवाद के स्थायी समाधान की दरकार

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के प्रयासों के पश्चात दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने जिस तरह की सतर्कता और संयम दिखाया है उसका स्वागत होना चाहिए।

वे POK क्रिकेट लीग के चीयरलीडर्स, इधर कश्मीर पर भी बजाते हैं ‘अमन’ का झुनझुना: Pak वालों से ही सीख लो सेलेब्रिटियों

शाहिद अफरीदी, राहत फ़तेह अली खान और शोएब अख्तर कभी इस्लाम और पाकिस्तान के खिलाफ नहीं जा सकते, गलत या सही। भारतीय सेलेब्स इनसे क्या सीखे, जानिए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,775FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe