Saturday, July 20, 2024
Homeराजनीति'बेईमान कहते हैं मर जा मोदी, जनता कहती है मत जा मोदी': पूर्वोत्तर में...

‘बेईमान कहते हैं मर जा मोदी, जनता कहती है मत जा मोदी’: पूर्वोत्तर में BJP की जीत पर बोले PM- पूर्वोत्तर न ही दिल्ली से दूर और न ही दिल से दूर

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले त्रिपुरा में ये हाल था कि एक पार्टी के अलावा दूसरी पार्टी का एक झंडा तक नहीं लगाया जा सकता था। अगर किसी ने लगाने की कोशिश की तो उसे लहूलुहान कर दिया जाता था। इस बार इन चुनावों में हमने कितना बड़ा परिवर्तन देखा है। 

त्रिपुरा, नगालैंड और मेघालय विधानसभा चुनावों में जीत का डंका बजाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार (2 मार्च 2023) की रात दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय पहुँचकर भाजपा कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर निशाना भी साधा और पूर्वोत्तर के विकास को सरकार की प्राथमिकता बताया।

पीएम मोदी ने कहा कि जनता ने भाजपा और उसके सहयोगियों को आशीर्वाद दिया है। इसलिए यह आम जनता को नमन करने का एक और अवसर है। उन्होंने कहा कि विधानसभा के नतीजे दिखाते हैं कि भारत में लोकतंत्र और लोकतांत्रिक व्यवस्था पर विश्वास मजबूत हुआ है।

उन्होंने कहा, “दिल्ली में भाजपा के लिए कार्य करना कठिन नहीं है, लेकिन पूर्वोत्तर में हमारे कार्यकर्ताओं ने दोगुनी मेहनत की है। यह चुनाव दिलों की दूरी समाप्त होने के साथ नई सोच का प्रतिबिंब है। अब पूर्वोत्तर न ही दिल्ली से दूर है और न ही दिल से दूर। यह नया युग और नया इतिहास रचे जाने का पल है।”

इस दौरान उन्होंने विपक्षी दलों पर निशाना भी साधा। पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों को पूर्वोत्तर के राज्यों की चिंता नहीं थी। उन्होंने कहा, “हमारे कुछ शुभचिंतक भी हैं, जिन्हें इससे तकलीफ है कि आखिर भाजपा के जीतने का राज क्या है? अभी तक के परिणाम को मैंने टीवी नहीं देखा और यह भी नहीं देखा कि ईवीएम को गाली पड़नी शुरू हुई है या नहीं।”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “कुछ लोग मोदी की कब्र खोदने की साजिश करते हैं, लेकिन कमल खिलता ही जा रहा है, खिलता ही जा रहा है। कुछ लोग बेईमानी भी कट्टरता से करते हैं। बेईमान कह रहे हैं- मर जा मोदी। जनता कह रही है मत जा मोदी।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि कॉन्ग्रेस ने अपनी नफरत को जगजाहिर कर दिया है। कॉन्ग्रेस कह रही है कि ये तो छोटे राज्य हैं, इनके नतीजे उतना मायने नहीं रखते। प्रधानमंत्री ने कहा कि जब दिल में ही भारत को जोड़ने की भावना ना हो तो ऐसे ही बोल निकलते हैं। उन्होंने कहा कि राजनीति में पूर्वोत्तर को महत्व मिलता है तो उनके कुछ विशेष शुभचिंतकों के पेट में दर्द होता है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले त्रिपुरा में ये हाल था कि एक पार्टी के अलावा दूसरी पार्टी का एक झंडा तक नहीं लगाया जा सकता था। अगर किसी ने लगाने की कोशिश की तो उसे लहूलुहान कर दिया जाता था। इस बार इन चुनावों में हमने कितना बड़ा परिवर्तन देखा है। पार्टी मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं से मोबाइल की फ्लैश लाइट जलवाकर पूर्वोत्तर के लोगों का आभार व्यक्त करवाया। इस दौरान पीएम ने कहा, “ये नॉर्थ-ईस्ट की देशभक्ति का सम्मान है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -