Monday, July 26, 2021
Homeराजनीतिबंगाल: फ्री वैक्सीन बाँटने के लिए दीदी ने 'दंगाबाज' मोदी से माँगी मदद, भाषण...

बंगाल: फ्री वैक्सीन बाँटने के लिए दीदी ने ‘दंगाबाज’ मोदी से माँगी मदद, भाषण में उगला जहर

पत्र में ममता बनर्जी ने लिखा कि पीएम मोदी कोविड-19 टीकों की खरीद में मदद करें, जिससे राज्य के लोगों को वैक्सीनेशन मुफ्त में किया जा सके।

पश्चिम बंगाल की सीएम एवं तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) प्रमुख ममता बनर्जी ने जहाँ एक तरफ पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर प्रदेश सरकार की तरफ से कोरोना के टीकों की खरीद को लेकर मदद माँगी है तो वहीं दूसरी ओर, उन्होंने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘सबसे बड़ा दंगाबाज’ करार दिया है।

कोरोना वैक्सीन के लिए माँगी मदद

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राज्य सरकार की ओर से कोरोना के टीकों की खरीद को लेकर मदद माँगी। दरअसल, टीएमसी अध्यक्ष राज्य के सभी लोगों को मुफ्त वैक्सीन लगाना चाहती है इस कारण बड़े पैमाने पर टीका खरीदना चाहती है।

ममता बनर्जी ने लिखा, ”पश्चिम बंगाल सरकार राज्य के सभी लोगों को मुफ्त वैक्सीनेशन के लिए टीका खरीदना चाहती है। मैं पीएम मोदी से अपील करती हूँ कि टीकों की खरीद में हमारी मदद करें जिससे की राज्य के लोगों को मुफ्त में यह वैक्सीन दिया जाए।”

ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को लिखा है, “राज्य सरकार ने कोरोना टीकाकरण का कार्यक्रम शुरू किया है। सभी स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिसकर्मियों, नगरपालिका के कर्मचारियों और राजस्व के अधिकारियों के साथ-साथ फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका दिया जा रहा है। राज्य सरकार आम लोगों तक शीघ्र ही टीका पहुँचना चाहती है। इस बाबत वह टीका निश्चित प्राधिकरण से खरीदना चाहती है, ताकि आम लोगों को निःशुल्क टीका दे सके।

बता दें, पश्चिम बंगाल में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए ममता बनर्जी का यह पत्र सियासी माना जा रहा है। बिहार में भाजपा की राजनीतिक रणनीति को देखते हुए ममता बनर्जी ने भी चुनाव के मद्देनजर राज्य में फ्री वैक्सीन की घोषणा की थी।

सीएम ममता ने पीएम मोदी को कहा दंगाबाज

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हुगली जिले के शाहगंज में एक रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह पूरे देश में झूठ और नफरत फैला रहे हैं। उन्होंने कहा, “नरेंद्र मोदी देश के सबसे बड़े दंगाबाज हैं। ट्रंप के साथ जो हुआ, उनके (मोदी के) साथ उससे भी बुरा होगा। हिंसा से कुछ हासिल नहीं किया जा सकता।”

उन्होंने आगे कहा, “हमेशा आप (बीजेपी) कहते हैं कि तृणमूल कॉन्ग्रेस ‘तोलाबाज’ है, लेकिन मैं आज कहती हूँ आप (बीजेपी) ‘दंगाबाज और ढंगाबाज’ है। बंगाल पर बंगाल शासन करेगा। बंगाल पर गुजरात शासन नहीं करेगा। हमें बंगाल नहीं, बांग्ला चाहिए। मोदी बंगाल पर राज नहीं करेंगे। बंगाल पर गुंडे और बदमाश राज नहीं करेंगे।”

बनर्जी ने कहा, “मैं विधानसभा चुनाव में गोलकीपर रहूँगी और तुम (भाजपा) एक भी गोल नहीं कर पाओगे। सभी शॉट गोल पोस्ट के ऊपर से चले जाएँगे।” इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कोयले की हेराफेरी से जुड़े एक घोटाले के सिलसिले में तृणमूल कॉन्ग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी रुजीरा बनर्जी से सीबीआई पूछताछ की भी आलोचना की और इसे एक महिला का अपमान बताया।

भाषण के दौरान पीएम मोदी पर ममता बनर्जी इस कदर बौखलाई की उन्होंने सारी मर्यादा तार तार करते हुए पीएम मोदी व अमित शाह को रावण व दानव तक करार कर दिया। उन्होंने कहा, “बहुत ज्यादा बोल रहे हैं और दो माह बाकी हैं, देखें कौन बाद में बोलता है। नरेंद्र मोदी झूठ बोल रहे हैं। बोल रहे हैं, बंगाल ले लेंगें, लेकिन बंगाल को लेना इतना आसन नहीं है। इस चुनाव में खेला होबे.. खेला तो होबे.. (खेल होगा) बीजेपी देखो खेला होबे..”

ममता बनर्जी ने कहा, “हमें सीबीआई की धमकी दे रहे हैं, लेकिन गिरफ्तार करके दिखाए। कितने लोगों को गिरफ्तार करेंगे। 20 लाख लोगों को गिरफ्तार करना होगा। तुम मुझे यहां दबाओगे, मैं दिल्ली में पेड़ बनकर उठूँगी। एक घायल बाघिन खतरनाक होती है। खेल जारी है। ममता बनर्जी ने लोगों से कहा, “यदि आप उन्हें बंगाल में हरा सकते हैं, तो जान लें कि वे भारत से गायब हो जाएँगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe