Monday, June 24, 2024
Homeराजनीति'कब तक हिन्दुओं पर हमले कराती रहेंगी ममता बनर्जी?': स्मृति ईरानी ने दागे सवाल,...

‘कब तक हिन्दुओं पर हमले कराती रहेंगी ममता बनर्जी?’: स्मृति ईरानी ने दागे सवाल, CM ने कहा था – रमजान में गलत काम नहीं कर सकते मुस्लिम

अभिषेक बनर्जी यहीं नहीं रूके। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने सभी लोगों से शांति की अपील की, लेकिन भाजपा के किसी नेता ने ऐसी अपील नहीं की। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है कि शांति कभी ना हो। बनर्जी ने आरोप लगाया कि शोभायात्रा में शामिल लोग तलवार, बंदूक, पिस्तौल जैसे हथियार लिए हुए थे।

पश्चिम बंगाल में रामनवमी पर हिंसा को लेकर राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा इस हिंसा के लिए केंद्र की भाजपा सरकार को दोषी ठहराने के बाद अब भाजपा ने भी बनर्जी पर हमला बोला है। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पूछा कि हिंदू समुदाय पर ममता बनर्जी कब तक हमले कराती रहेंगी।

बता दें कि रामनवमी के दिन शुरू हुई हिंसा बंगाल में अगले दिन भी जारी रही। हालात इतने तनावपूर्ण हैं कि इलाके में धारा 144 लगाना पड़ा है। हावड़ा के कई इलाकों में दूसरे दिन भी जारी हिंसा के कई वीडियो सामने आए थे।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने आरोप लगाया कि रामनवमी की शोभायात्रा पर हावड़ा में पथराव हुआ, लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पत्थरबाजों को क्लीन चिट दे दी। उन्होंने कहा कि सवाल यह है कि ममता कब तक हिंदू समुदाय पर हमले कराती रहेंगी।

स्मृति ईरानी ने कहा कि ममता के शासन में हुई यह पहली घटना नहीं है। साल 2022 में लक्ष्मी पूजा कर रहे दलितों पर हमला किया गया था। उस समय भी ममता चुप थीं। इससे पहले बंगाल भाजपा के नेता ने ममता बनर्जी पर आरोप लगाया था। उन्होंने मामले की जाँच NIA से कराने की माँग की थी।

उधर, बंगाल की सत्ताधारी तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के महासचिव और ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी ने कहा कि अपराधियों का कोई धर्म नहीं होता। उन्होंने कहा कि ये भाजपा ही है, जो कार्रवाई करने से पहले अपराधियों के धर्म के बारे में बात करती है।

गौरतलब है कि रामनवमी के दिन शोभायात्रा से पहले बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने हिंदुओं को चेतावनी देते हुए कहा था कि मुस्लिम रमजान में हिंसा नहीं करते। उन्होंने हिंसा का ठीकरा भाजपा और हिंदुओं पर फोड़ा था। इसके साथ ही शोभात्रा को मुस्लिम इलाके में नहीं ले जाने की चेतावनी दी थी।

ममता ने कहा था, “मेरे आँख-कान खुले हैं। मुझे सब दिख रहा है। मैंने पहले ही चेतावनी दी थी कि मुस्लिम बहुल इलाकों से यात्रा ना निकाली जाए। मैंने पहले ही कहा था कि राम नवमी पर रैली निकाली गई तो हिंसा हो सकती है।” वह बोलीं, “यह रमजान का वक्त है। इस वक्त में वे (मुस्लिम समुदाय) कुछ गलत काम नहीं कर सकते।”

अभिषेक बनर्जी यहीं नहीं रूके। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ने सभी लोगों से शांति की अपील की, लेकिन भाजपा के किसी नेता ने ऐसी अपील नहीं की। उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है कि शांति कभी ना हो। बनर्जी ने आरोप लगाया कि शोभायात्रा में शामिल लोग तलवार, बंदूक, पिस्तौल जैसे हथियार लिए हुए थे।

सीपीएम के मोहम्मद सलीम ने बंगाल में हिंसा के लिए भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के साथ-साथ टीएमसी को भी जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि भाजपा ने इन धार्मिक जुलूसों को राजनीतिक रंग दे दिया है। उन्होंने कहा कि रामनवमी पर निकाले गए कई जुलूसों का नेतृत्व टीएमसी के नेताओं ने किया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

14 साल की लड़की से 9 घुसपैठियों ने रेप किया, लेकिन सजा 20 साल की उस लड़की को मिली जिसने बलात्कारियों को ‘सुअर’ बताया:...

जर्मनी में 14 साल की लड़की का रेप करने वाले बलात्कारी सजा से बच गए जबकि उनकी आलोचना करने वाले एक लड़की को जेल भेज दिया गया।

‘बोलो मियाँ साहेब ज़िंदाबाद, अल्लाह-हू-अकबर’… बिहार में किशोर को पैर पर थूक कर चाटने को मजबूर किया, छड़ी और थप्पड़ से ताबड़तोड़ पिटाई का...

वीडियो में आरोपित कह रहा है कि 'अल्लाह-हू-अकबर' का नारा लगाने पर ही वो पीड़ित को जाने देगा। बंधक बना कर छड़ी और थप्पड़ से कई बार पीटा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -