Thursday, July 18, 2024
Homeराजनीतिशरजील को जेल भेजने के पक्ष में हो? शाह ने केजरीवाल को घेरा, बताया...

शरजील को जेल भेजने के पक्ष में हो? शाह ने केजरीवाल को घेरा, बताया ओछी व नीची राजनीति करने वाला

मैंने अपने दशकों पुराने राजनीतिक करियर में कई राजेनता देखे हैं, लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जैसा ओछी और नीची राजनीति करने वाला आज तक नहीं देखा।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में एक रैली में अरविन्द केजरीवाल को निशाने पर लिया। शाह ने कहा कि उन्होंने अपने दशकों पुराने राजनीतिक करियर में कई राजेनता देखे हैं लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल जैसा ओछी और नीची राजनीति करने वाला आज तक नहीं देखा। पूर्व भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि दिल्ली के करोड़ों गरीबों को 5 लाख की योजना से केजरीवाल ने अलग-थलग कर दिया। गृह मंत्री ने केजरीवाल से पूछा कि दिल्ली के गरीबों का क्या दोष था कि आपने जो 5 लाख रुपये की सहायता मोदी जी उनको देना चाहते थे, उसे उनसे छीन लिया?

दिल्ली के रिठाला में एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि केजरीवाल ने चुनाव से पहले कहा था कि सत्ता में आए तो सरकारी बंगला, सरकारी गाड़ी नहीं लेंगे। लेकिन, शपथ लेने के बाद सरकारी गाड़ी, सरकारी बंगला लिया। अमित शाह ने आगे कहा:

“2015 में मोदी जी ने एक पत्र लिखा और उसमें कहा कि दिल्ली की 1731 अनधिकृत कॉलोनियों को आप मुझे दे दो, मैं उन्हें अधिकृत बनाऊँगा। इन्होंने कहा कि अभी नक़्शे बन रहे हैं, 2 साल लगेंगे। फिर 2017 में मोदी जी ने पत्र लिखा तब भी केजरीवाल सरकार ने कहा कि अभी 2 साल और लगेंगे। दिल्लीवासियों, 8 तारीख को ये सरकार बदल दो, मैं आपसे कह कर जाता हूँ कि जहाँ झुग्गी है, वहीं मकान देने का काम मोदी सरकार करने वाली है। केजरीवाल ने पूरी दिल्ली में फ्री वाई-फाई देने का वादा किया था। आप लोग बताइए कि आपको फ्री वाई-फाई मिलता है क्या?”

अमित शाह ने रैली के दौरान न सिर्फ़ मोदी सरकार के कामकाज को गिनाया बल्कि केजरीवाल सरकार की नाकामियों को भी जनता के समक्ष रखा। शाह ने दिल्ली के सीएम से पूछा कि वो भारत माता के टुकड़े करने वाले टुकड़े-टुकड़े गैंग को जेल में डालने की परमिशन दे रहे हैं या नहीं? उन्होंने केजरीवाल को चुनौती दी कि वो उनके आरोपों का जवाब देते हुए एक ट्वीट कर दें। शाह ने कहा कि मोदी जी के शासन में ये अधिकार सबको है, केजरीवाल को भी है, गाली देनी है तो हमें दे दो या भाजपा को दे दो। बकौल शाह, अगर कोई भारत माता के टुकड़े करने की बात करेगा, तो उसे जेल की सलाखों के पीछे जाना पड़ेगा।

अमित शाह दिल्ली में कई नुक्कड़ सभाएँ भी कर रहे हैं और कार्यतकर्ताओं के घर जाकर खाना खा रहे हैं। ऐसे में पार्टी का जोश भी अभी हाई है। शाह ने अपने कैडर में और जोश भरते हुए कहा कि कुछ समय पहले जेएनयू में ‘भारत तेरे टुकड़े हो एक हजार’ जैसे नारे लगे, जिसके बाद मोदी जी ने इन नारे लगाने वालों को उठाकर जेल में डाल दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का मामला बताते हैं और उनका बचाव करते हैं।

अमित शाह ने इस दौरान भारत से नॉर्थ-ईस्ट को लाग करने की बात करने वाले शरजील इमाम का भी जिक्र किया। उन्होंने बताया कि उसके ख़िलाफ़ दिल्ली पुलिस ने देशद्रोह का मामला दर्ज किया है और उसकी तलाश की जा रही है। शाह ने केजरीवाल से पूछा कि क्या वो शरजील को पकड़ने के पक्ष में हैं?

शाहीन बाग पर कुमार विश्वास का केजरीवाल पर हमला, ‘खुद भेजते हो अमानती गुंडे, दूसरे को बोलते हो हटाओ’

आम लोग कपड़े और राशन दे जाते हैं, केजरीवाल ने कोई मदद नहीं की: पाकिस्तानी हिंदू

बीवी को कुत्ते से कटवाने से लेकर साली के शोषण व कार्यकर्ता के बलात्कार तक: केजरीवाल के साथ दागियों की फौज

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -