Tuesday, January 26, 2021
Home सोशल ट्रेंड 'देवी' से 'चुप चुड़ैल': वामपंथी जोकर देवदत्त पटनायक ने महिलाओं को लिखे बेहूदे ट्वीट,...

‘देवी’ से ‘चुप चुड़ैल’: वामपंथी जोकर देवदत्त पटनायक ने महिलाओं को लिखे बेहूदे ट्वीट, दी गाली

जबकि देवदत्त पट्टनायक खुद को किसी ऐसे व्यक्ति के रूप में देखना चाहेंगे, जिसने वास्तव में वाम-अधिकार विभाजन की बाधाओं को पार कर लिया है, लेकिन वह वास्तव में वाम-उदारवादी जोकर संसार का एक और प्रमुख चेहरा बन गए हैं।

फर्जी माइथोलॉजी एक्सपर्ट देवदत्त पटनायक ने 10 अक्टूबर को मानसिक स्वास्थ्य दिवस (Mental Health Day) के अवसर पर सोशल मीडिया पर अपनी गिरी हुई मानसिकता का परिचय दिया। देवदत्त ने सोशल मीडिया पर जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, उसे उनके बिगड़ते मानसिक स्वास्थ्य के प्रमाण के रूप में लिया जा सकता है।

विचारों में अंतर होने को लेकर किसी महिला को ‘चुड़ैल’ कहना बेहद ही अशिष्ट और नीचतापूर्ण व्यवहार है। हालाँकि, यह सब बातें पटनायक के पल्ले नहीं पड़ने वाली है, क्योंकि बहुत सारे वामपंथी-उदारवादी जोकर हैं, जो महिलाओं के साथ तब तक ही सही तरीके से बात कर सकते हैं, जब तक कि बात उनके मन मुताबिक हो, जैसे ही कोई महिला इनके विचार के विपरीत रुख अपनाती है तो वो उनके साथ बदतमीजी से पेश आने से जरा भी नहीं हिचकते।

यह पहली बार नहीं है जब पटनायक की बेहूदगी सोशल मीडिया पर दिखी हो। ऐसा बराबर ही होता रहता है। पद्मावत विवाद के दौरान, पटनायक का मानना था कि उस समाज के मर्दों को राक्षस सदृश बताया जाए जिसमें महिलाओं को जौहर करना पड़ता है भले ही वो इस्लामी आक्रांताओं के अत्याचार से बचने के लिए किया गया था। उन्होंने उन हिंदुओं पर आरोप लगाया और दावा किया कि उन्हें सिर्फ जलती हुई महिलाएँ पसंद हैं और यहाँ तक कहा कि वो वैवाहिक बलात्कार में लिप्त रहते हैं।

देवदत्त पटनायक की अभद्रता बार-बार ट्विटर पर देखने को मिलती है। हाल ही में ‘माइथोलॉजी एक्सपर्ट’ ने ट्विटर पर एक यूजर से पूछा कि क्या उसके साथ एक बच्चे के रूप में दुर्व्यवहार किया गया था।

एक अन्य ट्वीट में जब एक महिला ने उन्हें सुझाव दिया कि उन्हें अपने जीवन में कुछ सकारात्मक ऊर्जा की आवश्यकता है तो पटनायक ने इसका जवाब देते हुए लिखा कि वो उनकी तरह की ‘नकारात्मक शक्तियों’ को गाली दे रहे हैं।

पटनायक दूसरों की माताओं को गाली देने में भी काफी रुचि दिखाते रहे हैं। एक यूजर ने जब उनसे कुछ पूछा तो उन्होंने बेहद ही घटिया भाषा शैली का इस्तेमाल करते हुए ट्वीट किया, “मैं तुम्हारी माँ से पूछकर बताऊँगा।”

ऐसा लगता है कि पटनायक को सोशल मीडिया पर उनका मजाक उड़ाने वाले लोगों की माताओं को शामिल करने की आदत है। भगवान जाने उन्हें ये आदत कहाँ से लगी, मगर ये बहुत ही गंदी आदत है।

देवदत्त पटनायक को लोगों पर महिलाओं के जलाने का आरोप लगाना खासा पसंद है। उन्होंने 17 नवंबर 2017 को “आप सिर्फ जलती महिलाओं को पसंद करते हैं” वाक्य को लेकर एक साथ कई सारे ट्वीट किए। इस दौरान उन्होंने अपने शब्दों को बदलने की जहमत भी नहीं उठाई और बस प्रवाह के साथ सबको एक ही जवाब देते चले गए।

सोशल मीडिया पर उनके घटिया आचरण के अलावा, त्रुटियों, जोड़तोड़ और एकमुश्त झूठ के लिए उनके काम की काफी आलोचना की गई। उन पर संस्कृत ग्रंथों की गलत व्याख्या करने का आरोप लगाया गया है और कई लोगों का मानना है कि वह एक घटिया तरह के वामपंथी अजेंडे के तहत ऐसा करते हैं।

पटनायक ने वामपंथी हठधर्मिता के कुछ रुग्ण पहलुओं का मुकाबला करने का भी प्रयास किया है, जिसके लिए उन्हें उस तरह के लोगों से आलोचनाएँ भी सुनने को मिली।

पटनायक ने वामपंथियों में व्याप्त ब्राह्मण विरोध पर भी बोला है और कई बार इस्लामी असहिष्णुता पर ध्यान आकर्षित करने की कोशिश की है जिसे हमेशा वामपंथियों द्वारा अनदेखा किया जाता है।

जबकि देवदत्त पट्टनायक खुद को किसी ऐसे व्यक्ति के रूप में देखना चाहेंगे, जिसने वास्तव में वाम-अधिकार विभाजन की बाधाओं को पार कर लिया है, लेकिन वह वास्तव में वाम-उदारवादी जोकर संसार का एक और प्रमुख चेहरा बन गए हैं। उनके एक या दो ट्वीट ही ऐसे होंगे, जिसमें उनके विचार से समझदार लोग सहमत होंगे। उनके अधिकांश ट्वीट ये दर्शाते हैं कि वो मानसिक तौर पर अस्थिर और विक्षिप्त हैं।

हैरानी की बात ये है कि पटनायक ने ‘देवी’, ‘लक्ष्मी’ और ‘बुक ऑफ काली’ नाम की पुस्तकें लिखी हैं और इसके बावजूद वो महिलाओं और दूसरों की माताओं को लेकर बेहूदा और शर्मनाक ट्वीट करते रहते हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

K Bhattacharjee
Black Coffee Enthusiast. Post Graduate in Psychology. Bengali.

 

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रस्सी से लाल किला का गेट तोड़ा, जहाँ से देश के PM देते हैं भाषण, वहाँ से लहरा रहे पीला-काला झंडा

किसान लाल किले तक घुस चुके हैं और उन्होंने वहाँ झंडा भी फहरा दिया है। प्रदर्शनकारी किसानों ने लाल किले के फाटक पर रस्सियाँ बाँधकर इसे गिराने की कोशिश भी कीं।

मीलॉर्ड! आज खुश तो बहुत होंगे आप: ऑपइंडिया एडिटर के चंद सवाल

शायद अब सुप्रीम कोर्ट को लगेगा कि औरों के भी संवैधानिक अधिकार हैं, लिब्रांडू मीडिया गिरोह इसे सफल आंदोलन करार देगा, जबकि पुलिस पर तलवारों से हमले हुए हैं!

लाल किला पर खालिस्तानी झंडा फहराने पर SFJ देगा ₹1.83 करोड़, पहुँच गई ‘किसानों’ की ट्रैक्टर रैली

दिल्ली में जारी 'किसानों' का विरोध प्रदर्शन अब हिंसा और अराजकता में बदल गया है। लाल किला तक किसानों की ट्रैक्टर रैली का जत्था पहुँच चुका है।

ITO पर पुलिसकर्मी को डंडों से घोंचा, कॉलर पकड़ कर हाथापाई और मारपीट: Video

हाथ में डंडे लिए इन किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा पुलिसकर्मी को सड़क पर घेर लिया गया और उनका कॉलर पकड़कर उनके साथ लाठी-डंडों से हाथापाई करने लगे।

DTC बस को तोड़ा, तलवारबाजी करते बढ़ रहे… पुलिस को धकियाते-रगेदते संसद और लाल किला की ओर ‘किसान’

घटना की वीडियो भी है। वीडियो में देख सकते हैं कि डीटीसी बस पर भारी भीड़ ने हमला किया है। उसे गिराकर तोड़ने का प्रयास हो रहा है।

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

प्रचलित ख़बरें

12 साल की लड़की का स्तन दबाया, महिला जज ने कहा – ‘नहीं है यौन शोषण’: बॉम्बे HC का मामला

बॉम्बे हाई कोर्ट की नागपुर बेंच ने शारीरिक संपर्क या ‘यौन शोषण के इरादे से किया गया शरीर से शरीर का स्पर्श’ (स्किन टू स्किन) के आधार पर...

राहुल गाँधी बोले- किसान मजबूत होते तो सेना की जरूरत नहीं होती… अनुवादक मोहम्मद इमरान बेहोश हो गए

इरोड में राहुल गाँधी के अंग्रेजी भाषण का तमिल में अनुवाद करने वाले प्रोफेसर मोहम्मद इमरान मंच पर ही बेहोश होकर गिर पड़े।

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

छठी बीवी ने सेक्स से किया इनकार तो 7वीं की खोज में निकला 63 साल का अयूब: कई बीमारियों से है पीड़ित, FIR दर्ज

गुजरात में अयूब देगिया की छठी बीवी ने उसके साथ सेक्स करने से इनकार कर दिया, जब उसे पता चला कि उसके शौहर की पहले से ही 5 बीवियाँ हैं।

15 साल छोटी हिन्दू से निकाह कर परवीन बनाया, अब ‘लव जिहाद’ विरोधी कानून को ‘तमाशा’ बता रहे नसीरुद्दीन शाह

नसरुद्दीन शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' को लेकर तमाशा चल रहा है। कहा कि लोगों को 'जिहाद' का सही अर्थ ही नहीं पता है।

दलित लड़की की हत्या, गुप्तांग पर प्रहार, नग्न लाश… माँ-बाप-भाई ने ही मुआवजा के लिए रची साजिश: UP पुलिस ने खोली पोल

बाराबंकी में दलित युवती की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि पिता, माँ और भाई ने ही मिल कर युवती की हत्या कर दी।
- विज्ञापन -

 

महिला पुलिस कॉन्स्टेबल को जबरन घेर कर कोने में ले गए ‘अन्नदाता’, किया दुर्व्यवहार: एक अन्य जवान हुआ बेहोश

महिला पुलिस को किसान प्रदर्शनकारी चारों ओर से घेरे हुए थे। कोने में ले जाकर महिला कॉन्स्टेबल के साथ दुर्व्यवहार किया गया।

रस्सी से लाल किला का गेट तोड़ा, जहाँ से देश के PM देते हैं भाषण, वहाँ से लहरा रहे पीला-काला झंडा

किसान लाल किले तक घुस चुके हैं और उन्होंने वहाँ झंडा भी फहरा दिया है। प्रदर्शनकारी किसानों ने लाल किले के फाटक पर रस्सियाँ बाँधकर इसे गिराने की कोशिश भी कीं।
00:32:37

मीलॉर्ड! आज खुश तो बहुत होंगे आप: ऑपइंडिया एडिटर के चंद सवाल

शायद अब सुप्रीम कोर्ट को लगेगा कि औरों के भी संवैधानिक अधिकार हैं, लिब्रांडू मीडिया गिरोह इसे सफल आंदोलन करार देगा, जबकि पुलिस पर तलवारों से हमले हुए हैं!

उपद्रवी ‘अन्नदाता’ को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस जान-जोखिम में डालकर बैठी सड़क पर: जगह-जगह हो रहे भयंकर तोड़-फोड़

उपद्रव को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस जहाँ जान को जोखिम में डालकर सुरक्षा सुनिश्चित करने का प्रयास कर रही है। वहीं वामपंथी गिरोह सोशल मीडिया पर पुलिस को नेगेटिव दिखाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहा।

लाल किला पर खालिस्तानी झंडा फहराने पर SFJ देगा ₹1.83 करोड़, पहुँच गई ‘किसानों’ की ट्रैक्टर रैली

दिल्ली में जारी 'किसानों' का विरोध प्रदर्शन अब हिंसा और अराजकता में बदल गया है। लाल किला तक किसानों की ट्रैक्टर रैली का जत्था पहुँच चुका है।

ITO पर पुलिसकर्मी को डंडों से घोंचा, कॉलर पकड़ कर हाथापाई और मारपीट: Video

हाथ में डंडे लिए इन किसान प्रदर्शनकारियों द्वारा पुलिसकर्मी को सड़क पर घेर लिया गया और उनका कॉलर पकड़कर उनके साथ लाठी-डंडों से हाथापाई करने लगे।

हिंदुओं को धमकी देने वाले के अब्बा, मोदी को 420 कहने वाले मौलाना और कॉन्ग्रेस नेता: ‘लोकतंत्र की हत्या’ गैंग के मुँह पर 3...

पद्म पुरस्कारों में 3 नाम ऐसे हैं, जो ध्यान खींच रहे- मौलाना वहीदुद्दीन खान (पद्म विभूषण), तरुण गोगोई (पद्म भूषण) और कल्बे सादिक (पद्म भूषण)।

DTC बस को तोड़ा, तलवारबाजी करते बढ़ रहे… पुलिस को धकियाते-रगेदते संसद और लाल किला की ओर ‘किसान’

घटना की वीडियो भी है। वीडियो में देख सकते हैं कि डीटीसी बस पर भारी भीड़ ने हमला किया है। उसे गिराकर तोड़ने का प्रयास हो रहा है।

दलित लड़की की हत्या, गुप्तांग पर प्रहार, नग्न लाश… माँ-बाप-भाई ने ही मुआवजा के लिए रची साजिश: UP पुलिस ने खोली पोल

बाराबंकी में दलित युवती की मौत के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया। पुलिस ने बताया कि पिता, माँ और भाई ने ही मिल कर युवती की हत्या कर दी।

दिल्ली में ‘किसानों’ ने किया कश्मीर वाला हाल: तलवार ले पुलिस को खदेड़ा, जगह-जगह तोड़फोड़, पुलिस वैन पर पथराव

दिल्ली में प्रदर्शनकारी पुलिस के वज्र वाहन पर चढ़ गए और वहाँ जम कर तोड़-फोड़ मचाई। 'किसानों' द्वारा तलवारें भी भाँजी गईं।

हमसे जुड़ें

272,571FansLike
80,695FollowersFollow
386,000SubscribersSubscribe