Tuesday, September 28, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय24 घंटे में 303 आतंकियों का सफाया, 125 गंभीर रूप से घायल: तालिबानियों पर...

24 घंटे में 303 आतंकियों का सफाया, 125 गंभीर रूप से घायल: तालिबानियों पर अफगानी सेना का कहर

ANDSF ने अफगान वायुसेना के साथ एक संयुक्त अभियान चला कर 24 घंटों में ही 400 से अधिक तालिबान आतंकियों का सफाया जुलाई में भी किया था।

अफगानिस्तान की सेना तालिबान के खिलाफ लगातार अपना अभियान मजबूत करती जा रही है। तालिबान के प्रभाव को खत्म करने और देश के विभिन्न इलाकों को कट्टरपंथी इस्लामिक आतंकी संगठन से आजाद करने के इसी क्रम में अफगानी सेना ने बड़ी कार्रवाई की और पिछले 24 घंटों में 300 से अधिक तालिबानी लड़ाकों को मार गिराया। अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी।

रक्षा मंत्रालय के द्वारा ट्वीट में यह जानकारी दी गई कि अफगानिस्तान नेशनल डिफेंस सिक्योरिटी फोर्स (ANDSF) के द्वारा की गई कार्रवाई में पिछले 24 घंटों में 303 तालिबानी आतंकी मारे गए हैं जबकि लगभग 125 आतंकी गंभीर रूप से घायल हुए हैं। ट्वीट में जानकारी दी गई कि ANDSF का तालिबान विरोधी यह ऑपरेशन नांगरहार, लघमान, गजनी, पक्तिका, कंधार, हेरात, हेलमंड और कुंडुज समेत कई अन्य शहरों में चलाया गया।

अफगानिस्तान की न्यूज एजेंसी एरियाना न्यूज के मुताबिक हेरात में अफगानी सेना को सबसे बड़ी कामयाबी मिली, जहाँ एयर फोर्स की सहायता से शहर में घुसने की कोशिश कर रहे तालिबानी आतंकियों को मार गिराया गया। जानकारी के मुताबिक तालिबान विरोधी एयरस्ट्राइक में लगभग 100 आतंकी मारे गए हैं और दर्जनों घायल हुए हैं।

हेलमंड की राजधानी लश्करगाह और लघमान में भी अफगानिस्तान की सेना ने तालिबान को शहर से निकालने के लिए ऑपरेशन चलाया। लघमान के गवर्नर के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि अफगानी सेना ने कड़ी कार्रवाई करते हुए प्रांत के बदाख जिले को तालिबान के नियंत्रण से मुक्त करा लिया।

जुलाई का आखिर में भी ANDSF ने अफगान वायुसेना (AAF) के साथ एक संयुक्त अभियान चलाया, जिसमें 24 घंटों में ही 400 से अधिक तालिबान आतंकियों का सफाया हुआ। बता दें कि मध्य एशियाई देश अफगानिस्तान की सेना जुलाई 31, 2021 से तालिबान के ठिकानों पर लगातार हमले कर रही है, जिससे सैकड़ों आतंकी मारे गए। इसके साथ ही बड़े पैमाने पर गोला-बारूद को नष्ट किया गया। अफगान रक्षा मंत्रालय ने ही इस कार्रवाई की पुष्टि की थी। जानकारी दी गई थी कि इस ऑपरेशन में कुल 455 आतंकवादी मारे गए, जबकि 232 अन्य घायल हुए।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरि के मौत के दिन बंद थे कमरे के सामने लगे 15 CCTV कैमरे, सुबूत मिटाने की आशंका: रिपोर्ट्स

पूरा मठ सीसीटीवी की निगरानी में है। यहाँ 43 कैमरे लगाए गए हैं। इनमें से 15 सीसीटीवी कैमरे पहली मंजिल पर महंत नरेंद्र गिरि के कमरे के सामने लगाए गए हैं।

अवैध कब्जे हटाने के लिए नैतिक बल जुटाना सरकारों और उनके नेतृत्व के लिए चुनौती: CM योगी और हिमंता ने पेश की मिसाल

तुष्टिकरण का परिणाम यह है कि देश के बहुत बड़े हिस्से पर अवैध कब्जा हो गया है और उसे हटाना केवल सरकारों के लिए कानून व्यवस्था की चुनौती नहीं बल्कि राष्ट्रीय सभ्यता के लिए भी चुनौती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,829FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe