Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'मोदी को आतंकी घोषित करो': ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानियों ने हिंदू मंदिर को फिर बनाया...

‘मोदी को आतंकी घोषित करो’: ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानियों ने हिंदू मंदिर को फिर बनाया निशाना, प्रधानमंत्री के खिलाफ लिखे आपत्तिजनक नारे

जनवरी 2023 में 20 दिनों में खालिस्तानियों ने 3 हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ करते हुए देश विरोधी और खालिस्तान समर्थक नारे लिखे थे। पहला हमला मेलबर्न के स्वामीनारायण मंदिर में हुआ था। मंदिर में तोड़फोड़ करने के बाद खालिस्तानियों ने मंदिर की दीवार पर ‘हिंदुस्तान मुर्दाबाद’, ‘मोदी हिटलर है’ और ‘भिंडरावाले जिंदाबाद’ लिखे थे।

ऑस्ट्रेलिया (Australia) में एक बार फिर हिंदू मंदिर (Hindu Temple) में तोड़फोड़ की आई है। खालिस्तानी आतंकियों ने शुक्रवार (5 मई 2023) की सुबह सिडनी के स्वामीनारायण मंदिर (BAPS Swaminarayan Temple) में तोड़फोड़ की और पीएम मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक नारे लिख दिए। मंदिर के दरवाजे पर खालिस्तानी झंडा भी लटका मिला।

ऑस्ट्रेलिया टुडे की रिपोर्ट्स के अनुसार, स्वामीनारायण मंदिर सिडनी के रोजहिल इलाके में स्थित है। हर रोज की तरह श्रद्धालु जब पूजा करने के लिए मंदिर आए, तब उन्हें मंदिर की दीवार पर आपत्तिजनक नारे और दरवाजे पर खालिस्तानी झंडा लटका हुआ दिखाई दिया। खालिस्तानी ने मंदिर की दीवार पर काले रंग से ‘मोदी को आतंकी घोषित करो (BBC)’ लिखा था।

स्थानीय निवासी सेजल पटेल ने मीडिया को बताया कि सुबह जब वह मंदिर आईं तो उन्होंने देखा कि मंदिर की दीवारों पर नारे लिखे हैं। इसके बाद उन्होंने मंदिर प्रबंधन को मामले की जानकारी दी। इसके बाद मंदिर प्रबंधन ने इस घटना जानकारी न्यू साउथ वेल्स पुलिस को दी।

घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने मौके पर पहुँचकर सीसीटीवी फुटेज अपने कब्जे में ले लिया है। फिलहाल मामले की जाँच करने की बात कही जा रही है। बताते चलें कि इससे पहले भी कई मौकों पर ऑस्ट्रेलिया के हिंदू मंदिरों में इस तरह की आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिया गया है।

पीएम मोदी ने ऑस्ट्रेलियाई पीएम से की थी बात…

गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिरों पर हो रहे हमलों को लेकर भारत ने गंभीर चिंता जाहिर की थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने मार्च 2023 में भारत दौरे पर आए ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री एंथनी अल्बनीज (Anthony Albanese) से बात की थी।

इस बातचीत को लेकर पीएम मोदी ने कहा था, “मैंने ऑस्ट्रेलिया में मंदिरों पर हमले की खबरें देखी हैं। मैंने पीएम अल्बनीज को इस बात से अवगत करा दिया है और उन्होंने मुझे आश्वासन दिया है कि ऑस्ट्रेलिया में भारतीय समुदाय की सुरक्षा और भलाई उनकी प्राथमिकता है।”

खालिस्तानियों के निशाने पर हिंदू मंदिर…

ऑस्ट्रेलिया में हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ और नारे लिखने की घटना नई नहीं है। इससे पहले इसी साल 4 मार्च को ब्रिस्बेन के लक्ष्मी नारायण मंदिर में खालिस्तानियों ने तोड़फोड़ की थी। तोड़फोड़ के दौरान बदमाशों ने मंदिर के पास दीवारों पर हिंदू विरोधी, भारत विरोधी और खालिस्तानी समर्थक नारे लिखे थे।

यही नहीं, 17 फरवरी 2023 को ब्रिस्बेन के गायत्री माता मंदिर के पुजारी को महाशिवरात्रि ना मनाने की चेतावनी दी गई थी। चेतावनी देने वाले शख्स ने खुद को खालिस्तानी बताया था और कहा था कि वह पाकिस्तान के लाहौर से फोन कर रहा है।

फोन करने वाले ने कहा था, “यदि तुम महाशिवरात्रि मनाने की योजना बना रहे हो तो पुजारी से खालिस्तान का समर्थन करने के लिए कहो। तुमको अपने कार्यक्रम के दौरान पाँच बार ‘खालिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाना है।”

इसी तरह 16 फरवरी 2023 को मेलबर्न के काली माता मंदिर में भजन कार्यक्रम आयोजित करने के खिलाफ चेतावनी दी गई थी। ऑस्ट्रेलिया में मेलबर्न के उत्तरी उपनगर में स्थित काली माता मंदिर की एक महिला पुजारी को भारतीय गायक कन्हैया मित्तल का भजन कार्यक्रम आयोजित करने पर धमकी दी गई थी। कहा जाता है कि ये धमकी खालिस्तानी आतंकवादियों ने दी थी।

जनवरी 2023 में 20 दिनों में खालिस्तानियों ने 3 हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ करते हुए देश विरोधी और खालिस्तान समर्थक नारे लिखे थे। खालिस्तानियों ने हिंदू मंदिर में पहला हमला 12 जनवरी को किया था। यह हमला मेलबर्न के स्वामीनारायण मंदिर में हुआ था। मंदिर में तोड़फोड़ करने के बाद खालिस्तानियों ने मंदिर की दीवार पर ‘हिंदुस्तान मुर्दाबाद’, ‘मोदी हिटलर है’ और ‘भिंडरावाले जिंदाबाद’ लिखे थे।

इसके बाद खालिस्तानियों ने 16 जनवरी 2023 को मेलबर्न के ही कैरम डाउन्स में स्थित ऐतिहासिक श्री शिव विष्णु मंदिर (Shri Shiva Vishnu Temple) पर हमला किया था। तोड़फोड़ के बाद, मंदिर की दीवारों पर ‘टारगेट मोदी (मोदी को बनाओ निशाना)’, ‘मोदी हिटलर’ और ‘हिंदुस्तान मुर्दाबाद’ के नारे लिखे गए थे।

तीसरा हमला मेलबर्न के ही अल्बर्ट पार्क इलाके में स्थित श्री राधा बल्लभ मंदिर में 22 जनवरी 2023 को हमला हुआ। इस मंदिर को इस्कॉन मंदिर भी कहा जाता है। हमले के बाद मंदिर की दीवारों में ‘खालिस्तान जिंदाबाद’, ‘हिन्दुस्तान मुर्दाबाद’ के नारे लिखे गए। इसके अलावा, खालिस्तानी आतंकी भिंडरवाले को शहीद बताते हुए भी नारा लिखा गया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -