Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में यहूदी बुजुर्ग को भारी पड़ा हमास समर्थक से बहस करना, मेगाफोन से...

अमेरिका में यहूदी बुजुर्ग को भारी पड़ा हमास समर्थक से बहस करना, मेगाफोन से वार कर मार डाला: इजरायल के विरोध में रैली, फ्रांस में महिला को मारा था चाकू

आरोपित ने हाथ में पकड़े मेगाफोन से 65 साल के यहूदी शख्स के सिर पर हमला कर दिया। इस वजह से वो जमीन पर गिर पड़े और उनके सिर से बहुत अधिक से खून बहने लगा।

संयुक्त राज्य अमेरिका के उत्तरी लॉस एंजिल्स में रविवार (5 नवंबर, 2023) को एक यहूदी बुजुर्ग को इजरायल विरोधी प्रदर्शनकारी के साथ बहस की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।

दरअसल, उत्तरी लॉस एंजिल्स शहर के नजदीक वेस्टलेक विलेज में एक फिलिस्तीन समर्थक रैली आयोजित की गई थी। इस दौरान ही इजरायल विरोधी प्रदर्शनकारी ने यहूदी बुजुर्ग के सिर पर मेगाफोन दे मारा। इससे बुजुर्ग की बुरी तरह घायल हो गए। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहाँ अधिक खून बहने की वजह से उनकी मौत हो गई।

बुजुर्ग की पहचान पॉल केसलर के तौर पर की गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सोमवार (6 नवंबर, 2023) को पुलिस अधिकारियों ने इस हादसे की पुष्टि की। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, रैली के दौरान केसलर और एक युवा इजरायल विरोधी समर्थक के बीच तीखी बहस हुई थी।।

इसके बाद आरोपित ने हाथ में पकड़े मेगाफोन से 65 साल के यहूदी शख्स के सिर पर हमला कर दिया। इस वजह से वो जमीन पर गिर पड़े और उनके सिर से बहुत अधिक से खून बहने लगा। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहाँ उन्होंने दम तोड़ दिया।

कथित तौर पर उनकी मौत की वजह ‘ब्रेन हैमरेज’ बताई जा रही है। इस घटना से वेस्टलेक विलेज के नजदीक रहने वाला यहूदी समुदाय सदमे में है। वेंचुरा काउंटी शेरिफ कार्यालय (VSCO) ने एक बयान में कहा कि वो घटना की जाँच कर रहे हैं। उसने नफरत में किए गए अपराध (हेट क्राइम) की आशंका से इनकार नहीं किया है। वहीं आरोपित की पहचान अभी तक नहीं हो पाई है।

एक बयान में, यहूदी फेडरेशन ऑफ ग्रेटर लॉस एंजिल्स ने कहा, “जबकि हम अपने कानूनी अधिकारियों से अधिक जानकारी मिलने का इंतजार कर रहे हैं। हम आपको याद दिलाते हैं कि अकेले इस साल लॉस एंजिल्स में हुआ यह यहूदियों के खिलाफ हुआ चौथा बड़ा अपराध है।”

यहूदी फेडरेशन ने आगे कहा, “सभ्य समाज में हमारे लोगों के खिलाफ हिंसा की कोई जगह नहीं है। हम सुरक्षा की माँग करते हैं। हम अपने समुदाय के खिलाफ हिंसा बर्दाश्त नहीं करेंगे। हम इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश करेंगे।”

गौरतलब है कि शनिवार (7 अक्टूबर, 2023) को हमास के इजरायल पर खौफनाक हमले के बाद के बाद से ही दुनिया भर में यहूदियों के खिलाफ होने वाले अपराधों में बढ़ोतरी हुई। हाल ही में इजरायल-हमास युद्ध के बीच, फ्रांस के औवेर्गने-रोन-आल्प्स इलाके के ल्योन शहर में एक यहूदी महिला को उसके घर में घुस कर चाकू मार दिया गया था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, अज्ञात हमलावर ने पीड़िता के पेट में दो बार चाकू मारा। हमलावरों ने अपार्टमेंट के दरवाजे पर नाज़ी प्रतीक (जिसे हेकेनक्रूज़ या हुक्ड क्रॉस भी कहा जाता है) भी बनाया। इसके बाद पीड़िता को स्थानीय अस्पताल में ले जाया गया और हल्की चोटों के लिए उसका इलाज किया गया। बताया जा रहा है कि महिला की उम्र लगभग 30 साल के करीब होगी। उसने घंटी की आवाज सुनकर दरवाजा खोला तो उस पर हमला कर दिया गया।

पीड़िता के वकील स्टीफन ड्रेई ने BFMTV को बताया, “महिला, उसका परिवार और यहूदी समुदाय सदमे में है। जब हमने दरवाजा खोला, तो हमें नहीं पता था कि हम यहूदी-विरोधी हमले का शिकार हो सकते हैं, हत्या की कोशिश की जा सकती है।” इस घटना पर ल्योन के मेयर ग्रेगरी डौसेट ने ट्वीट किया, “हिंसा का ऐसा कृत्य कल्पना से परे है। मैं पीड़िता और उसके रिश्तेदारों को अपना पूरा समर्थन देता हूँ।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

‘लैंड जिहाद और लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हेमंत सोरेन की सरकार’: झारखंड में गरजे अमित शाह, कहा – बिगड़ रहा जनसंख्या का...

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर 'भूमि जिहाद', 'लव जिहाद' को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए उन पर तीखा हमला किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -