Tuesday, July 16, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयकंगाल पाकिस्तान में सबसे बड़ी रिफायनरी बंद, क्रिकेट पर भी संकट: संयुक्त अरब अमीरात...

कंगाल पाकिस्तान में सबसे बड़ी रिफायनरी बंद, क्रिकेट पर भी संकट: संयुक्त अरब अमीरात में अब हो सकता है एशिया कप

2 फरवरी 2023 से 10 फरवरी 2023 तक कच्चे तेल की कमी के कारण पाकिस्तान की सबसे बड़ी रिफायनरी बंद। पत्र में स्पष्ट कहा गया कि तेल-उद्योग पतन के कगार पर है। बैंक से उपलब्ध वित्तीय राशि अपर्याप्त हो गई है।

पाकिस्तान में अर्थव्यवस्था चौपट। घर-घर में आटे-दाल का संकट। लोग जगह-जगह अनाज लूट रहे। मुर्गियों को भी लूटा जा रहा। अब वहाँ की सबसे बड़ी रिफायनरी को भी बंद करना पड़ा। क्रिकेट ऐसे में कैसे बचा रह जाएगा। पाकिस्तान में आयोजित होने वाला एशिया कप अब संयुक्त अरब अमीरात में हो सकता है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने भी इस जगह के लिए अपनी हामी भर दी है।

पहले बात करते हैं तेल की। पाकिस्तान की सबसे बड़ी रिफाइनरी ने वहाँ के ऊर्जा मंत्रालय (पेट्रोलियम डिवीजन) को एक पत्र लिखकर सूचित किया कि 2 फरवरी 2023 से 10 फरवरी 2023 तक कच्चे तेल की कमी के कारण रिफाइनरी बंद रहेगी। यह पत्र 31 जनवरी को लिखा गया। एक हफ्ते पहले पाकिस्तान की तेल कंपनी सलाहकार परिषद ने वहाँ के तेल और गैस नियामक प्राधिकरण को एक पत्र लिखा था, जिसमें रिफाइनरी उद्योग के संकट का जिक्र किया गया था। इस पत्र में स्पष्ट कहा गया कि तेल-उद्योग पतन के कगार पर है।

पाकिस्तानी रुपए का मूल्य इन दिनों काफी गिर गया है। इस कारण से आयात पर प्रभाव की ओर इशारा करते हुए पत्र में आगे लिखा गया, “तेल की कीमतों में वृद्धि और पिछले 18 महीनों में पाकिस्तानी रुपए में लगातार गिरावट के कारण, बैंकिंग क्षेत्र से उपलब्ध वित्तीय राशि व्यापार के लिए अपर्याप्त हो गई है।”

एशिया कप पाकिस्तान से बाहर?

मौजूदा हालात को देखते हुए भारतीय क्रिकेट टीम ने साफ कर दिया था कि वह क्रिकेट खेलने पाकिस्तान नहीं जाएगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस एलान के बाद शनिवार (4 फरवरी 2023) को एशियन क्रिकेट काउंसिल (ACC) की बहरीन में मीटिंग हुई। इस मीटिंग की अध्यक्षता BCCI और ACC के चेयरमैन जय शाह ने की। लम्बे मंथन के बाद इस मीटिंग में विकल्प के तौर पर आबू धाबी, शारजाह और दुबई के विकल्प दिए गए। BCCI ने इन विकल्पों पर हामी भर दी। हालाँकि इन स्थानों पर भी आयोजक पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ही होगा।

बताते चलें कि इस बार एशिया कप का आयोजक पाकिस्तान है। विदेशी टीमें अपनी सुरक्षा के नजरिए से वहाँ जाने में कतराती हैं। हालाँकि तमाम कोशिशों के बाद वहाँ इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों ने जाकर मैच खेले हैं। फिलहाल पाकिस्तान द्वारा दिए गए सुरक्षा के लाख दिलासे के बावजूद भारत की टीम ने वहाँ जाने से साफ़ इंकार कर दिया है। संयुक्त अरब अमीरात में संभावित मैचों पर अंतिम मुहर व उसकी रूपरेखा लगभग 1 माह बाद सामने आ सकती है।

गौरतलब है कि इससे पहले श्रीलंका की क्रिकेट टीम पर 3 मार्च 2009 को पाकिस्तान में आतंकी हमला हो चुका है। इस हमले में उनके खिलाड़ी बाल-बाल बचे थे, जिसमें सुरक्षाकर्मी मारे गए थे। लगभग एक दशक पहले न्यूजीलैंड की क्रिकेट टीम जिस होटल में रुकी थी, उसके आगे एक आत्मघाती हमला हुआ है। इन हमलों बाद दुनिया भर के देशों ने अपनी टीमें पाकिस्तान भेजना बंद कर दिया था। तब से पाकिस्तान दुनिया भर को विश्वास में लेने की हर संभव कोशिश कर रहा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

किसानों के प्रदर्शन से NHAI का ₹1000 करोड़ का नुकसान, टोल प्लाजा करने पड़े थे फ्री: हरियाणा-पंजाब में रोड हो गईं थी जाम

किसान प्रदर्शन के कारण NHAI को ₹1000 करोड़ से अधिक का नुकसान झेलना पड़ा। यह नुकसान राष्ट्रीय राजमार्ग 44 और 152 पर हुआ है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -