Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'परमाणु शक्ति होने के बावजूद भीख माँगना शर्म की बात': पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने...

‘परमाणु शक्ति होने के बावजूद भीख माँगना शर्म की बात’: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने बयाँ किया दर्द, बोले – सऊदी ने बड़े प्यार से दिया कर्ज

पाकिस्तान में उत्पन्न हुई आर्थिक चुनौतियों को लेकर उन्होंने कहा है कि बीते 75 वर्षो के दौरान देश में कई सरकारें रहीं हैं, चाहे वह राजनीतिक नेतृत्व वाली सरकार हो या सैन्य तानाशाहों के नेतृत्व वाली सरकार - कोई भी देश की आर्थिक समस्याओं का समाधान नहीं कर सकीं।

बीते कुछ समय से पाकिस्तान गंभीर आर्थिक संकट से गुजर रहा है। देश को इस संकट से उबारने के लिए पाकिस्तान अन्य देशों से कर्ज माँगता फिर रहा है। ऐसे में, पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (Pak PM Shehbaz Sharif) ने कहा है कि एक परमाणु संपन्न देश के लिए कर्ज माँगना शर्म की बात है।

दरअसल, शनिवार (14 जनवरी 2023) को पाकिस्तान प्रशासनिक सेवा (पीएएस) के परिवीक्षाधीन अधिकारियों का पासिंग आउट कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शहबाज शरीफ ने खेद व्यक्त करते हुए कहा है कि मित्र देशों से और कर्ज माँगना उनके लिए शर्मनाक था। विदेशों से कर्ज लेना आर्थिक चुनौतियों का स्थायी समाधान नहीं है, क्योंकि यह कर्ज लौटाना होगा।

उन्होंने यह भी कहा है कि अगर उनकी बस तेज गति से सही दिशा में बढ़ती तो सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) को प्राप्त करके, विदेशी कर्ज से बचा जा सकता है।

पाकिस्तान में उत्पन्न हुई आर्थिक चुनौतियों को लेकर उन्होंने कहा है कि बीते 75 वर्षो के दौरान देश में कई सरकारें रहीं हैं, चाहे वह राजनीतिक नेतृत्व वाली सरकार हो या सैन्य तानाशाहों के नेतृत्व वाली सरकार – कोई भी देश की आर्थिक समस्याओं का समाधान नहीं कर सकीं।

UAE ने शालीनता और प्यार से दिया कर्ज: पाकिस्तान PM

शहबाज शरीफ ने कर्ज देने के लिए UAE की तारीफ करते हुए कहा है कि राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद ने बहुत ही शालीनता और प्यार से पाकिस्तान को 1 अरब डॉलर का और कर्ज देने की घोषणा की है।

बता दें कि पाकिस्तान के ऊपर दिवालिया होने का संकट गहराता जा रहा है। पाकिस्तान फिलहाल पूरी तरह से विदेशी मदद पर निर्भर हो गया है। पाकिस्तान में एक पैकेट आटे की कीमत 3100 रुपए के पार पहुँच गई है। इस गंभीर संकट से उबरने के लिए पाकिस्तान सरकार रूस से गेहूँ खरीद रही है। हालाँकि, इसके बाद भी पाकिस्तान की आवाम आटे के लिए मोहताज है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -