Wednesday, July 24, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'बेटों के साथ देखती हूँ पोर्न... पूछती हूँ कैसा लगा': इंडोनेशियाई सिंगर ने कहा...

‘बेटों के साथ देखती हूँ पोर्न… पूछती हूँ कैसा लगा’: इंडोनेशियाई सिंगर ने कहा बताती भी हूँ- सेक्स के दौरान क्या करें, क्या न करें

“मुझे लगता है कि ये अच्छा है कि मैंं उनसे पूछूँ कि उन्हें ऐसे पोर्न देखना कैसा लगता है? लेकिन वह कहते हैं, ‘माँ ऐसे मत पूछो’।”

इंडोनेशिया की मशहूर पॉप सिंगर वायू सेतयानिंग ने हाल में दावा किया है कि वो अपने दोनों बेटों के साथ बैठकर पोर्न फिल्म देखती हैं। ऐसा करने के पीछे उनका तर्क है कि वह ऐसा केवल उन्हें सेक्स एजुकेशन के बारे में जागरूक करने के लिए करती हैं। 

49 साल की वायू सेतयानिंग देश में यूनी शारा के नाम से मशहूर हैं। उन्होंने अपने दोनों लड़कों केविन ओब्रिएंट सलोमो सियाहान और सेलो ओबिएंट को सेक्स एजुकेशन देने पर अपने विचार वेन्ना मेलिंदा के सामने रखे। उन्होंने कहा कि कुछ लोग उन्हें अजीब कहते हैं, लेकिन ये सब बिलकुल नॉर्मल बात है।

शारा ने कहा कि आज के समय में नामुमकिन है कि बच्चे पोर्न न देखें। वह कहती हैं, “अगर माता-पिता उन्हें ऐसी सामग्री देखते हुए पकड़ते हैं तो उन्हें बताना चाहिए।” उन्होंने साक्षात्कार में कहा, “मेरे बच्चे भी खुले विचारों वाले हैं। आजकल हमारे बच्चों के लिए पोर्न नहीं देखना असंभव है, चाहे वह ‘एनीमे’ हो या कोई अन्य प्रकार जो आजकल उपलब्ध है।”

द सन के मुताबिक शारा ने कहा कि वह अपने जवान लड़कों को स्वतंत्र रूप से पोर्न देखने की अनुमति देती है और यहाँ तक ​​कि उन्हें सेक्स के बारे में शिक्षित करने के लिए उनके साथ भी ऐसी फिल्में देखती है। साथ ही बताती हैं कि सेक्स के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं।

वह खुद के पुराने ख्यालत वाली होने से इनकार करती हैं और अपने बच्चों को भी खुले दिमाग का होने पर जोर डालती हैं। वह अपने लड़कों से पूछती भी हैं क्या उन्हें ऐसे साथ में पोर्न देखना पसंद है। इंटरव्यू में वह कहती हैं, “मुझे लगता है कि ये अच्छा है कि मैंं उनसे पूछूँ कि उन्हें ऐसे पोर्न देखना कैसा लगता है? लेकिन वह कहते हैं, ‘माँ ऐसे मत पूछो’।”

शारा की अनूठी पेरेंटिंग पर सिंगर की छोटी बहन उन्हें सराहती हैं और कहती हैं कि ये जरूरी है कि बच्चों को सही सेक्स की जानकारी दी जाए। वहीं कुछ अन्य लोग हैं जो इस तरह की पेरेंटिंग की बात सुन कर असहज हो गए और इस पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। एक मनोवैज्ञानिक के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया कि जब हम बच्चों को अश्लील सामग्री देखते हुए पकड़ते हैं तो चाहे स्थिति कितनी असहज हो हमें गुस्सा नहीं करना चाहिए, क्योंकि अगर ऐसा किया तो वो दोबारा इस काम को चुपके से करेंगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मानहानि मामले में यूट्यूबर ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली कोर्ट ने जारी किया समन, BJP नेता की शिकायत के बाद सुनवाई: अदालत ने कहा-...

ध्रुव राठी के खिलाफ दिल्ली की एक कोर्ट ने मानहानि मामले में समन जारी किया है। ये समन भाजपा नेता सुरेश करमशी नखुआ द्वारा द्वारा शिकायत के बाद जारी हुआ।

आतंकियों की करते थे मदद, उनके लिए हथियार-पैसे जुटाते थे: सरकार ने J&K में 4 सरकारी कर्मचारियों को किया बर्खास्त, अब तक 60+ पर...

जम्मू कश्मीर में आतंकियों की मदद करने वाले और उनके लिए हथियार-पैसा जुटाने वाले 4 कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -