Monday, July 22, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'बेवकूफ बाइडेन' को ड्रम की तरह बजा रहे 'स्मार्ट पुतिन', ट्रंप ने कहा -...

‘बेवकूफ बाइडेन’ को ड्रम की तरह बजा रहे ‘स्मार्ट पुतिन’, ट्रंप ने कहा – ‘मैं राष्ट्रपति रहता तो नहीं होता हमला’

इसके पहले ट्रंप ने पुतिन को स्मार्ट और नाटो (NATO) और जो बाइडेन की कार्यों की आलोचना की थी। उन्होंने कहा कि पुतिन बहुत स्मार्ट तरीके से अपना काम कर गए और जो बाइडेन और नाटो देश बेवकूफों की तरह देखते रह गए।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) रूस (Russia) के सामने खड़ी नहीं हो पाए और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) उन्हें ड्रम की तरह बजा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पुतिन उनके मित्र हैं, लेकिन यूक्रेन पर रूस का हमला मानवता के खिलाफ और भयावह है।

ट्रंप ने पुतिन को स्मार्ट और अमेरिका राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) एवं नाटो (NATO) को बेवकूफ बताया है। उन्होंने कहा कि अगर वह अमेरिका के राष्ट्रपति होते तो यूक्रेन में रूस का हमला (Russia-Ukraine War) नहीं हुआ होता। बाइडेन की आलोचना करते हुए ट्रंप ने कहा कि रूस को हमला करने के लिए छोड़कर बाइदेन ने न सिर्फ मानवता के लिए विश्वासघात किया है, बल्कि देशद्रोह भी किया है।

अमेरिका के फ्लोरिडा में कंजर्वेटिव पॉलिटिकल एक्शन कॉन्फ्रेंस (सीपीएसी) में ट्रंप ने कहा, “यूक्रेन पर रूस का हमला भयावह है। यह एक अत्याचार और नरसंहार है। यह कभी नहीं होना चाहिए था। हम यूक्रेन के स्वाभिमानी लोगों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।” इस दौरान उन्होंने यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदमिर जेलेंस्की की सराहना की और उन्हें बहादुर बताया।

ट्रंप ने शनिवार (26 फरवरी) को कहा था कि वह 21वीं सदी के एकमात्र अमेरिकी राष्ट्रपति थे, जिन्होंने विदेशों में रूस की सैन्य कार्रवाई पर अंकुश रखा। उन्होंने कहा, “हम एक स्मार्ट देश थे। अब हम एक मूर्ख देश हैं।” ट्रम्प ने कहा कि जब वह राष्ट्रपति थे तो रूस अमेरिका का सम्मान करता था, लेकिन अब जो बाइडेन को वह ‘कमजोर’ के रूप में देख रहा है।

इसके एक दिन पहले ट्रंप ने पुतिन को स्मार्ट और नाटो (NATO) और जो बाइडेन की कार्यों की आलोचना की थी। उन्होंने कहा कि पुतिन बहुत स्मार्ट तरीके से अपना काम कर गए और जो बाइडेन और नाटो देश बेवकूफों की तरह देखते रह गए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -