Tuesday, July 16, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयडकैती, ड्रग्स और फिर कत्ल: 11 साल की सजा काट निकला था जीसस मैनुअल,...

डकैती, ड्रग्स और फिर कत्ल: 11 साल की सजा काट निकला था जीसस मैनुअल, पैसों के लिए सिख परिवार को मारा, पकड़े जाने पर सुसाइड का प्रयास

शेरिफ कार्यालय के प्रवक्ता एलेक्जेंड्रा ब्रिटनने बताया कि जीसस मैनुअल सालगाडो को बच्ची समेत चार लोगों का अपहरण करने और उनकी हत्या करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। सालगाडो पेशेवर अपराधी है। उसे कई मामलों में दोषी ठहराया गया है। पिछले मामले में उसे जनवरी 2007 में डकैती मामले में 11 साल की सजा सुनाई गई थी।

अमेरिका के कैलिफोर्निया में सिख परिवार के चार सदस्यों को किडनैप करने और उनकी हत्या करने वाले को गुरुवार (6 अक्टूबर 2022) देर रात गिरफ्तार कर लिया गया।

मर्सिड काउंटी शेरिफ कार्यालय (Merced County Sheriff’s Office) के प्रवक्ता एलेक्जेंड्रा ब्रिटन (Alexandra Britton) ने बताया कि जीसस मैनुअल सालगाडो को बच्ची समेत चार लोगों का अपहरण करने और उनकी हत्या करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इसकी फोटो भी जारी की है।

48 वर्षीय सालगाडो पर 8 महीने की आरोही, उसके माता-पिता जसलीन कौर, जसदीप सिंह और चाचा अमनदीप सिंह के अपहरण और हत्या का आरोप है। शेरिफ कार्यालय ने अपने बयान में कहा कि उसे मर्सिड काउंटी जेल में रखा गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस वारदात को जीसस मैनुअल नामक ऐसे शख्स ने अंजाम दिया जो हथियार के दम पर लूटपाट करने के मामले में दोषी ठहराया गया था और उसे 11 साल की सजा हुई थी। मर्सिड काउंटी के शेरिफ ने कहा कि अब तक इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि आरोपित ने परिवार को किडनैप क्यों किया था।

बताया जा रहा है कि सालगाडो पेशेवर अपराधी है। उसे कई मामलों में दोषी ठहराया गया है। पिछले मामले में उसे जनवरी 2007 में डकैती मामले में 11 साल की सजा सुनाई गई थी। जून 2015 में वह पैरोल पर बाहर आया था। इसके बाद जून 2018 में उसे जेल से रिहा कर दिया गया था। बताया जा रहा है कि आरोपित के ऊपर ड्रग्स आदि रखने का भी आरोप है

काउंटी के शेरिफ ने कहा कि उसका पिछला रिकॉर्ड इस बात की ओर इशारा करता है कि ये जघन्य अपराध पैसों के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि मंगलवार (4 अक्टूबर 2022) की सुबह मर्सिड काउंटी शेरिफ ऑफिस को सूचना मिली थी कि अगवा किए गए परिवार के एटीएम कार्डों में से एक का इस्तेमाल एटवाटर में एक एटीएम में किया गया है।

जाँच कर रहे अधिकारियों ने एटीएम कार्ड इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति की तस्वीर सीसीटीवी फुटेज से निकाली। वह तस्वीर अपहृतों के ऑफिस से प्राप्त अपहरणकर्ता की तस्वीर के जैसे थी। इसके बाद अन्य स्थानीय कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ मिलकर शेरिफ कार्यालय की टीम 48 वर्षीय आरोपित को 4 अक्टूबर को पूछताछ के लिए हिरासत में लेने गई। लेकिन वहाँ आरोपित ने सुसाइड का प्रयास किया। इस घटना के बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत नाजुक है।

गौरतलब है कि बंदूक की नोक पर अगवा की गई एक बच्ची और परिवार के तीन अन्य सदस्य एक बगीचे में मृत पाए गए थे। सिख परिवार पंजाब के होशियारपुर के टांडा के हरसी गाँव का रहने वाला था। उनका अमेरिका में ट्रांसपोर्ट बिजनेस था। परिवार का अपहरण 3 अक्टूबर 2022 को किया गया था और इनकी गाड़ी बीच सड़क पर जली हुई मिली थी।

इस घटना का वीडियो भी सामने आया था। वीडियो में एक बंदूकधारी शख्स को चारों लोगों को किडनैप करते हुए देखा गया था। वीडियो में दिख रहा था कि पहले जसदीप और अमनदीप को घर से हाथ बाँधकर बाहर निकाला गया। इसके बाद बंदूकधारी जसलीन और आठ माह की बच्ची को बाहर लाता दिखा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक मैनुअल ने सिख परिवार के तीन लोगों को गोली से मारा जबकि बच्ची को उसने भूख से तड़पाकर मारा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भारतवंशी पत्नी, हिंदू पंडित ने करवाई शादी: कौन हैं JD वेंस जिन्हें डोनाल्ड ट्रम्प ने चुना अपना उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, हमले के बाद पूर्व अमेरिकी...

पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को रिपब्लिकन पार्टी के नेशनल कंवेंशन में राष्ट्रपति और सीनेटर JD वेंस को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार चुना है।

जम्मू-कश्मीर के डोडा में 4 जवान बलिदान, जंगल में छिपे थे इस्लामी आतंकवादी: हिन्दू तीर्थयात्रियों पर हमला करने वाले आतंकी समूह ने ली जिम्मेदारी

जम्मू कश्मीर के डोडा में हुए आतंकी हमले में एक अफसर समेत 4 जवान वीरगति को प्राप्त हुए हैं। इस हमले की जिम्मेदारी कश्मीर टाइगर्स ने ली है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -