Monday, January 17, 2022
Homeराजनीतिटॉलीगंज से भी चुनाव लड़ सकती हैं ममता बनर्जी, नंदीग्राम में चोट लगने के...

टॉलीगंज से भी चुनाव लड़ सकती हैं ममता बनर्जी, नंदीग्राम में चोट लगने के बाद ‘सेफ’ सीट की तलाश: रिपोर्ट्स

पार्टी सूत्रों ने कहा कि पार्टी ने अरूप विश्वास को टॉलीगंज सीट पर चुनाव प्रचार धीमा रखने को कहा गया है। साथ ही अपने नाम वाले पोस्टर और ग्रैफिटी का उपयोग नहीं करने के भी निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि विश्वास टॉलीगंज सीट से तीन बार के विधायक हैं।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) की मुखिया ममता बनर्जी दो सीटों से विधानसभा चुनाव लड़ सकती हैं। संडे गार्डियन ने अपनी रिपोर्ट में इसके आसार जताए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, नंदीग्राम से नामांकन कर चुकीं ममता बनर्जी अब किसी ‘सुरक्षित’ सीट से भी चुनाव लड़ने पर विचार कर रही हैं। बताया जा रहा है कि वह दक्षिण कोलकाता के टॉलीगंज सीट से भी नामांकन दाखिल कर सकती हैं।

टीएमसी के शीर्ष सूत्रों ने संडे गार्जियन से इसकी पुष्टि की है। इसके मुताबिक चोटिल होने के बाद ममता बनर्जी टॉलीगंज से चुनाव लड़ने पर विचार कर रही हैं। चोटिल होने के बाद नंदीग्राम में आक्रामक प्रचार करना उनके लिए कठिन हो गया है। नंदीग्राम में ममता बनर्जी को अपने पूर्व सहयोगी शुभेंदु अधिकारी की कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा। हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए अधिकारी से नंदीग्राम में ममता बनर्जी को तगड़ी टक्कर मिल रही है और कयास लगाए जा रहे हैं कि वे यहाँ से जीत जाएँगे।

ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में जिस दिन नामांकन किया था उसी दिन उनको चोट लग गई थी। फिलहाल वे घायल हैं। उनके पैर पर पट्टी बँधी है। इस वजह से वह फिलहाल किसी तरह की गतिविधि में हिस्सा नहीं ले सकती। इससे उनके नंदीग्राम के चुनाव प्रचार अभियान पर असर पड़ने वाला है। ममता बनर्जी किसी तरह का चांस नहीं लेना चाहती, इसलिए संभावना जताई जा रही है कि वह टॉलीगंज से भी चुनाव लड़ सकती हैं।

बता दें कि 5 मार्च को विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए टीएमसी उम्मीदवारों की सूची की घोषणा करने वाली ममता बनर्जी ने संकेत दिया था कि वह बाद में दूसरी सीट- टॉलीगंज से चुनाव लड़ने पर विचार कर सकती हैं।

टॉलीगंज में आक्रामक प्रचार नहीं करने का निर्देश

शुभेंदु अधिकारी के पार्टी छोड़ने के बाद ममता बनर्जी ने घोषणा की थी कि वह पूर्व और पश्चिम मेदिनीपुर जिलों में टीएमसी कैडरों के मनोबल को बढ़ाने के लिए नंदीग्राम सीट से चुनाव लड़ेंगी। बता दें कि अधिकारी समेत कई वरिष्ठ नेताओं के पार्टी से निकलने के बाद इस क्षेत्र में TMC को बड़े पैमाने पर झटका लगा है।

टीएमसी के सूत्रों ने कहा कि पार्टी और ममता बनर्जी के करीबी नेताओं ने पहले ही टॉलीगंज सीट से टीएमसी उम्मीदवार अरूप विश्वास को यह सूचित कर दिया है। पार्टी सूत्रों ने कहा कि पार्टी ने अरूप विश्वास को टॉलीगंज सीट पर चुनाव प्रचार धीमा रखने को कहा गया है। साथ ही अपने नाम वाले पोस्टर और ग्रैफिटी का उपयोग नहीं करने के भी निर्देश दिए गए हैं। बता दें कि विश्वास टॉलीगंज सीट से तीन बार के विधायक हैं।

दक्षिण कोलकाता की टॉलीगंज सीट को बंगाली फिल्म उद्योग का केंद्र और टीएमसी के लिए एक सुरक्षित सीट माना जाता है। टॉलीगंज सीट पर 10 अप्रैल को मतदान होगा, जबकि नामांकन भरने की अंतिम तारीख 23 मार्च है।

चुनाव आयोग ने घोषणा की थी कि पश्चिम बंगाल 8 चरणों में चुनाव में होगा। राज्य की 294 विधानसभा सीटों पर चुनाव 27 मार्च से शुरू होकर 29 अप्रैल तक होंगे। मतों की गिनती 2 मई को होगी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘रेप कैपिटल बन गया है राजस्थान’: अलवर मूक-बधिर बच्ची से गैंगरेप मामले में पुलिस का यू-टर्न, गहलोत सरकार ने की CBI जाँच की सिफारिश

अलवर में रेप की शिकार मूक-बधिर बच्ची के मामली की जाँच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सीबीआई को सौंप दी है। सरकार का काफी विरोध हो रहा है।

CM योगी का UP: 2000 Cr का अवैध साम्राज्य ध्वस्त, ढेर हुए 140 अपराधी, धर्मांतरण और गोकशी पर शिकंजा, महिलाएँ सुरक्षित हुईं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश को महिलाओं के लिए सुरक्षित बनाया। गोकशी-धर्मांतरण पर प्रहार किया। उत्तर प्रदेश में माफिया राज खत्म हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
151,690FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe