Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टमीडिया'हिंदू जवान बेटियों को मुस्लिमों के पीछे लगाते हैं': मसूद हाशमी को शो से...

‘हिंदू जवान बेटियों को मुस्लिमों के पीछे लगाते हैं’: मसूद हाशमी को शो से निकाला, ‘राजनीतिक विश्लेषक’ बनकर आया था

“सनातन का मज़ाक़ बनाओ, हिंदू बेटियों के खिलाफ बोलो और हम खामोश रहेंगे? अभी तो बस शो से बाहर निकला है। ज़ुबान पर लगाम लगाओ। ना गलत कहते हैं ना सुनेंगे।”

मसूद हाशमी नाम के एक राजनीतिक विश्लेषक ने गुरुवार (23 सितंबर, 2021) को एक टीवी शो में विवादित दावा किया। उसने कहा कि हिंदू माता-पिता दहेज से बचने के लिए अपनी बेटियों को मुस्लिम पुरुषों के पीछे लगाते हैं। उसने यह विवादित टिप्पणी ज़ी हिंदुस्तान पर प्रसारित होने वाले शो ‘शंखनाद’ के दौरान की। इसके बाद एंकर ने उसे शो से बाहर जाने को कहा।

नीचे टीवी शो के वीडियो (लगभग 37 मिनट, 40 सेकंड पर) में आप हाशमी को यह कहते सुन सकते हैं , “हिंदू माता-पिता अपनी जवान बेटियों को मुस्लिम के पीछे लगाते हैं और कहते हैं कि हिंदू धर्म में तो हम तेरी शादी कर नहीं सकते, क्योंकि यहाँ पर दहेज प्रथा है। मुस्लिम तो बगैर दहेज के शादी कर लेता है, तो तू किसी मुस्लिम को सेट कर शादी कर ले।” मसूद हाशमी ने यह टिप्पणी इस्लाम कबूल करने पर ‘जन्नत’ मिलने के दावों पर की थी।

(Video Credits: Youtube/Zee Hindustan)

इसके बाद एंकर रोहित रंजन ने हाशमी को बीच में ही टोक दिया और उसे शो से बाहर जाने को कहा।उन्होंने कहा, “आप उठिए और जाइए। ऐसी घटिया सोच और मानसिकता वाले लोगों का कहीं भी स्वागत नहीं है। आप कौन होते हैं हिंदू धर्म पर सवाल उठाने वाले? क्या आपके पास इस बात का कोई सबूत है, जो आपने अभी क्या कहा? डिबेट में बैठ कर निराधार दावे कर रहे हैं। आप गुनहगार को गुनहगार न बोलो और ऊपर से तमाशा करते रहो। आप हिंदू धर्म के ऊपर सवाल उठा रहे हो। मुझे बेशर्म लोगों से बात करने में बड़ी दिक्कत है और आपकी बेशर्मी हद से ज्यादा है। जिस वक्त आपको हिंदू धर्म समझ में आएगा, उस वक्त मैं आपको फिर से बुलाऊँगा।”

हाशमी ने दावा किया कि एंकर इसलिए गुस्से में थे क्योंकि उन्होंने उनके मुँह पर ‘सच’ कहा था। रोहित रंजन ने उन्हें कार्यक्रम से बाहर कर दिया और अपने दर्शकों के सामने स्पष्ट कर दिया कि उनके शो में हिंदू आस्था का, सनातन धर्म का मजाक बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

रंजन ने ट्वीट करते हुए लिखा, “सनातन का मज़ाक़ बनाओ, हिंदू बेटियों के खिलाफ बोलो और हम खामोश रहेंगे? अभी तो बस शो से बाहर निकला है। ज़ुबान पर लगाम लगाओ। ना गलत कहते हैं ना सुनेंगे।”

बता दें कि यह शो हाल ही में उत्तर प्रदेश में सामने आए धर्मांतरण रैकेट के ऊपर था। उत्तर प्रदेश एटीएस ने धर्मांतरण मामले में 21 सितंबर 2021 को मौलाना कलीम सिद्दीकी को गिरफ्तार किया था। वह 10 दिनों की पुलिस रिमांड पर है। एटीएस ने एक बयान में बताया था कि मौलाना सिद्दीकी अपने मदरसों, सामाजिक और मजहबी संस्थानों की आड़ में देशव्यापी धर्मांतरण का रैकेट चला रहा था और इसके लिए उसे विदेश से फंडिंग भी मिल रही थी। पुलिस ने कहा था कि 64 वर्षीय मौलाना जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट चलाता है, जो कई मदरसों को फंड करता है, जिसके लिए उसे बड़ी विदेशी फंडिंग मिली थी।

यूपी एटीएस ने जून में उमर गौतम और उसके सहयोगी की गिरफ्तारी के बाद बड़े पैमाने पर जाँच अभियान शुरू किया था। कथित तौर पर, दोनों ने अपने अन्य सहयोगियों के साथ इस्लामिक दावा सेंटर (IDC) नामक एक संगठन चलाया, ताकि लोगों को शादी, नौकरी और पैसे और मानसिक दबाव जैसे प्रलोभनों के माध्यम से इस्लाम में परिवर्तित किया जा सके। जाँच में गौतम और उसके साथियों को मिली अवैध विदेशी फंडिंग का भी खुलासा हुआ था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -