Sunday, May 16, 2021
Home रिपोर्ट मीडिया 'कश्मीर में 60000 की मौत, 10 लाख घायल' - पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा वाले न्यूयॉर्क टाइम्स...

‘कश्मीर में 60000 की मौत, 10 लाख घायल’ – पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा वाले न्यूयॉर्क टाइम्स की पत्रकारिता

न्यूयॉर्क टाइम्स, जो अमेरिका के 'प्रतिष्ठित' अखबारों में से एक है, उसने पैसों के लिए ये पेड प्रोपेगेंडा चलाकर ना सिर्फ अपने पब्लिकेशन का स्तर गिरा दिया, बल्कि पत्रकारिता के मूलभूत सिद्धांतों की भी अवहेलना की।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार (सितंबर 27, 2019) को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74वें सत्र में अपने पहले संबोधन में कश्मीरी प्रोपेगेंडा को हवा दिया। ग्लोबल वॉर्मिंग से भाषण शुरू करने वाले इमरान खान की सुई कश्मीर पर जाकर अटक गई। यूएन में पाकिस्तान का नापाक चेहरा एक बार फिर सामने आया। इमरान खान ने एक तरह से धमकी देते हुए कहा कि कश्मीर से कर्फ्यू हटते ही युद्ध जैसे हालात बनेंगे। खान का युद्ध राग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उसी मंच से कुछ समय पहले दिए गए शांति संदेश के ठीक उलट था। पीएम मोदी ने कहा था कि भारत एक ऐसा देश है, जिसने विश्व को ‘‘युद्ध नहीं बुद्ध’’ दिए।

शर्मिंदगी की बात ये है कि अमेरिका के प्रतिष्ठित अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स ने भी भिखारियों की तरह चंद डॉलरों के लालच में पाकिस्तान का साथ दिया और झूठा एवं मनगढ़ंत अभियान चलाया। दरअसल, शुक्रवार (सितंबर 27, 2019) को न्यूयॉर्क टाइम्स में कश्मीर को लेकर एक विज्ञापन छापा गया। जहाँ ये बताया गया कि कैसे कश्मीरियों के साथ जुल्म हो रहा है। बता दें कि न्यूयॉर्क टाइम्स ने इसे खबर के तौर पर नहीं, बल्कि विज्ञापन के तौर पर छापा। जिसमें ये दिखाने की कोशिश की गई कि भारत किस तरह कश्मीरियों को दबाकर कश्मीरी लोगों के साथ जुल्म कर रहा है। खबर के मुताबिक, इस विज्ञापन को इंटरनैशनल ह्यूमैनिटैरियन फाउंडेशन ने स्पॉन्सर किया है, जिसके केन्या, इंडोनेशिया और थाइलैंड में ऑफिस हैं।

इस विज्ञापन में पाकिस्तान के झूठे बयान को दिखाया गया है, जबकि पाकिस्‍तान में ईसाइयों, हिंदुओं, शियाओं, अहमदियों और गुलाम कश्‍मीर के खिलाफ मानवाधिकार उल्लंघन के ट्रैक रिकॉर्ड को नजरअंदाज करने के साथ ही जम्मू कश्मीर में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के खुले तथ्य को पूरी तरह से छुपाया गया है। इस तथ्यहीन विज्ञापन में दावा किया गया है कि भारत सरकार द्वारा कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370 को निरस्त किए जाने के बाद से लोगों को बंदी बना कर रखा गया है। जबकि वास्तविकता में यहाँ पर संचार व्‍यवस्‍था की बहाली के बाद सामान्य स्थिति वापस आ रही है। जम्मू कश्मीर के पुलिस अधिकारी इम्तियाज हुसैन 26 सितंबर को अपने ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर करते हुए इसकी पुष्टि की थी और कहा था कि प्रोपेगेंडा फैलाने वालों के दिमाग के अलावा कहीं भी बंद या प्रतिबंध नहीं है।

Hey न्यूयॉर्क टाइम्स f**k you, फिर से!

इसके अलावा इस विज्ञापन में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा आरएसएस का पूरे देश में फैलने के बयान का भी उल्‍लेख है, मगर पाकिस्तान में स्वतंत्र रूप से काम कर रहे कई आतंकी समूहों के बारे में या इस मसले पर विज्ञापन ने चुप्पी साध रखी है।

न्यूयॉर्क टाइम्स में प्रकाशित विज्ञापन (फोटो साभार: news x)

न्यूयॉर्क टाइम्स ने अपने विज्ञापन में लिखा कि कश्मीर में अब तक सुरक्षाबलों के हाथों 60000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि दस लाख से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं। एक जिम्मेदार (जो कि कहीं से भी यह शायद अब रहे नहीं!) पब्लिकेशन हाउस के नाते न्यूयॉर्क टाइम्स को ये बताना चाहिए कि आखिर जो आँकड़े उन्होंने छापे हैं वो कहाँ से आए? किस जगह ये आँकड़े छपे हैं कि कश्मीर से आर्टिकल 370 निष्क्रिय होने के बाद से अब तक 60000 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं या दस लाख से ज्यादा लोग घायल हैं। न्यूयॉर्क टाइम्स के इस विज्ञापन की दुनिया भर में किरकिरी हो रही है।

न्यूयॉर्क टाइम्स, जो अमेरिका के ‘प्रतिष्ठित’ अखबारों में से एक है, उसने पैसों के लिए ये पेड प्रोपेगेंडा चलाकर ना सिर्फ अपने पब्लिकेशन का स्तर गिरा दिया, बल्कि पत्रकारिता के मूलभूत सिद्धांतों की भी अवहेलना की, जो ये सिखाता है कि आप प्रायोजित प्रोपेगेंडा का हिस्सा नहीं बनेंगे। बड़ा सवाल ये है कि अगर न्यूयॉर्क टाइम्स ने विज्ञापन के तौर पर ही सही यदि कश्मीरियों के कंधे पर रखा पाकिस्तान का एजेंडा विज्ञापन के तौर पर छापा तो, वो बलूचिस्तान को क्यों भूल गए? क्या बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना किस तरह लोगों को मार रही है, वो उन्हें नजर नहीं आता?

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ईद में तिरंगा बिछाया, उसके ऊपर खाना खाया: असम में 6 गिरफ्तार, रेजिना परवीन सुल्ताना के घर हो रही थी दावत

असम पुलिस ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि अभयपुरी के टेंगनामारी गाँव की रेजिना परवीन सुल्ताना के घर में डाइनिंग टेबल पर भारतीय ध्वज...

कॉन्ग्रेस नेता और बॉक्सर विजेंद्र सिंह Randya पर फँसे: घेर रहे थे BJP को, अब ‘गाली नहीं है’ पर दूसरे दे रहे सफाई

कॉन्ग्रेस नेता व बॉक्सर विजेंद्र सिंह ट्विटर पर किए गए एक आपत्तिजनक ट्वीट को लेकर फँस गए हैं। कॉन्ग्रेस नेता ने Randya लिख कर...

Tauktae का कहर, 6 की मौत: कर्नाटक, महाराष्ट्र, गुजरात, गोवा में भारी बारिश, प्रभावित राज्यों के CM के साथ गृहमंत्री की बैठक

अरब सागर में बने चक्रवाती तूफान Tauktae ने पश्चिमी भारत के समुद्री तटों पर दस्तक दे दी है। इसकी वजह गुजरात, महाराष्ट्र और गोवा समेत...

इजराइली बेबस बाप की गोद में बेटी और आसमान में फटता रॉकेट: रोंगटे खड़े कर देने वाला वीडियो वायरल

यह वीडियो फिलिस्तीन के आतंकी संगठन हमास द्वारा किए गए हमले का है। आप इस वीडियो में देख सकते हैं कि किस तरह एक बेबस पिता..

हमास और PIJ के टॉप 30+ आतंकियों को उड़ा दिया: नाम और फोटो के साथ इजराइल ने कहा – अभी और मारेंगे

इजराइल और हमास के बीच खूनी संघर्ष सातवें दिन भी जारी है। इजराइल डिफेंस फोर्स ने 30 से अधिक हमास और फिलिस्तीनी इस्लामिक जिहादियों को...

White House की ईद में नहीं जाएँगे, राष्ट्रपति बायडेन ने क्यों किया इजराइल का समर्थन: अमेरिकी मुस्लिम संगठन

इजराइल-फिलिस्तीन में बढ़ते तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन के इजराइल को समर्थन वाले बयान से कट्टरपंथी इस्लामी संगठन बौखला गए।

प्रचलित ख़बरें

ईद पर 1 पुलिस वाले को जलाया जिंदा, 46 को किया घायल: 24 घंटे के भीतर 30 कट्टरपंथी मुस्लिमों को फाँसी

ईद के दिन मुस्लिम कट्टरपंथियों ने 1 पुलिसकर्मी के साथ मारपीट की, उन्हें जिंदा जला दिया। त्वरित कार्रवाई करते हुए 30 को मौत की सजा।

पैगंबर मोहम्मद की दी दुहाई, माँगा 10 मिनट का समय: अल जजीरा न्यूज चैनल बिल्डिंग के मालिक को अनसुना कर इजरायल ने की बमबारी

इस वीडियो में आप देख सकते हैं कि बिल्डिंग का मालिक इजरायल के अधिकारी से 10 मिनट का वक्त माँगता है। वो कहता है कि चार लोग बिल्डिंग के अंदर कैमरा और बाकी उपकरण लेने के लिए अंदर गए हैं, कृपया तब तक रुक जाएँ।

ईद में नंगा नाच: 42 सदस्यीय डांस ग्रुप की लड़कियों को नंगा नचाया, 800 की भीड़ ने खंजर-कुल्हाड़ी से धमकाया

जब 42-सदस्यीय ग्रुप वहाँ पहुँचा तो वहाँ ईद के सांस्कृतिक कार्यक्रम जैसा कोई माहौल नहीं था। जब उन्होंने कुद्दुस अली से इस बारे में बात की तो वह उन्हें एक संदेहास्पद स्थान पर ले गया जो हर तरफ से लोहे की चादरों से घिरा हुआ था। यहाँ 700-800 लोग लड़कियों को घेर कर खंजर से...

इजरायल के विरोध में पूर्व पोर्न स्टार मिया खलीफा: ट्वीट कर बुरी तरह फँसीं, ‘किसान’ प्रदर्शन वाला ‘टूलकिट’ मामला

इजरायल और फिलिस्तीनी आंतकियों के बीच संघर्ष लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पूर्व पोर्न-स्टार मिया खलीफा ने गलती से इजरायल के विरोध में...

इजरायली सेना ने अल जजीरा की बिल्डिंग को बम से उड़ाया, सिर्फ 1 घंटे की दी थी चेतावनी: Live Video

गाजा में इजरायली सेना द्वारा अल जजीरा मीडिया हाउस की बिल्डिंग पर हमला किया गया है। यह बिल्डिंग पूरी तरह ध्वस्त हो गई है।

इजरायली रॉकेट से मरीं केरल की सौम्या… NDTV फिर खेला शब्दों से, Video में कुछ और, शीर्षक में जिहादियों का बचाव

केरल की सौम्या इजरायल में थीं, जब उनकी मौत हुई। वह अपने पति से बात कर रही थीं, तभी फिलिस्तीनी रॉकेट उनके पास आकर गिरा। लेकिन NDTV ने...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,371FansLike
94,783FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe