Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाज1 महिला सहित 10 नक्सली ढेर, लाइट मशीनगन और AK 47 जैसे घातक अस्त्र...

1 महिला सहित 10 नक्सली ढेर, लाइट मशीनगन और AK 47 जैसे घातक अस्त्र बरामद: छत्तीसगढ़ में वामपंथी आतंकियों के खिलाफ सुरक्षा बलों को बड़ी सफलता

सुरक्षा बलों ने इनकी घेराबंदी की और सरेंडर करने को कहा। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने सरेंडर के बजाय जवानों पर गोलियाँ बरसानी शुरू कर दीं।

छत्तीसगढ़ के बीजापुर सुरक्षा बलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर है। इस मुठभेड़ में कुल 10 नक्सलियों के मारे जाने की खबर है जिसमें एक महिला भी शामिल है। मुठभेड़ में वॉन्टेड नक्सल कमांडर पापराव के मारे जाने की भी अपुष्ट सूचना आ रही है। हालाँकि पापराव के बारे में अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। मंगलवार (2 अप्रैल, 2024) की सुबह 6 बजे से शुरू हुई यह मुठभेड़ अभी तक जारी है। दोनों तरफ से रुक-रुक का फायरिंग चल रही है। सुरक्षा बलों को कोई बड़ी क्षति नहीं पहुँची है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस को कोरचोली और लेंड्रा के जंगलों में बड़ी तादाद में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिली थी। इस सूचना पर पुलिस और CRPF की टीमों ने घटनास्थल की तरफ मूव किया। सूचना सही पाई गई और एक जगह पर PLG कम्पनी 2 के तमाम नक्सली मौजूद मिले। सुरक्षा बलों ने इनकी घेराबंदी की और सरेंडर करने को कहा। बताया जा रहा है कि नक्सलियों ने सरेंडर के बजाय जवानों पर गोलियाँ बरसानी शुरू कर दीं। मजबूरन आत्मरक्षा में सुरक्षा बलों को भी गोलियाँ चलानी पड़ीं।

दोनों तरफ से काफी देर तक रह-रह कर शाम तक गोलियाँ चलती रहीं। आखिरकार शाम तक कुल 10 नक्सलियों के मारे जाने की पुष्टि हुई। इनमें एक महिला भी शामिल बताई जा रही है। सर्च ऑपरेशन में LMG (लाइट मशीन गन) और AK-47 जैसे घातक हथियार बरामद किए गए हैं। इलाके में अतिरिक्त सुरक्षा बल भेजे गए हैं। सर्च अभियान अभी तक जारी है। सुरक्षा बलों की भाषा में यह एक क्लीन ऑपरेशन है जिसमें जवानों को कोई नुकसान नहीं पहुँचा है।

छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री विजय शर्मा ने रायपुर में इस मुठभेड़ की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि मारे गए नक्सलियों और उनको पहुँचे नुकसान का आंकलन करवाया जा रहा है। एक अपुष्ट सूचना के मुताबिक मरने वालों में वांटेड नक्सल कमांडर पापराव भी शामिल है। हालाँकि, पापराव के मारे जाने की अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है। बस्तर रेंज के IG ने मीडिया को बताया कि सर्च अभियान पूरा होने के बाद ही मृत और घायल नक्सलियों के बारे में सटीक आँकड़े मिल पाएँगे। बताते चलें कि बस्तर रेंज में पिछले 7 दिनों में कुल 17 नक्सली सुरक्षा बलों के हाथों मारे जा चुके हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -