राजनीतिक गहमागहमी के बीच जम्मू-कश्मीर में चुनाव की तैयारियॉं शुरू, 14 महीने में पूरा होगा परिसीमन

घाटी के 69 और जम्मू क्षेत्र के 81 थाना क्षेत्रों में दिन की पाबंदियॉं हटा दी गई है। 1500 प्राथमिक और 1000 माध्यमिक स्कूल खुल गए हैं। शिक्षा विभाग शैक्षणिक गतिविधि पूरी तरह बहाल करने को लेकर प्रयास कर रहा है।

आर्टिकल 370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद से जारी राजनीतिक गहमागहमी के बीच जम्मू-कश्मीर में चुनाव की तैयारियॉं शुरू हो गई है। राज्य के मुख्य सचिव (योजना आयोग) रोहित कंसल ने शनिवार को बताया कि ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव को लेकर अहम फैसला किया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य में पंचायती राज्य व्यवस्था को मजबूत करने की दिशा में यह अगला कदम होगा।

राज्य के ग्रामीण विकास विभाग की सचिव शीतल नंदा ने बताया कि पूरे राज्य के 316 ब्लॉक डेवलपमेंट काउंसिल के चुनाव होंगे।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक जम्मू और कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित किए जाने के कुछ दिनों बाद, चुनाव आयोग परिसीमन का काम पूरा करने को तैयार है। सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि परिसीमन पूरा होने में करीब 14 महीने लगेंगे। पूरी प्रक्रिया नौ से 10 चरणों में पूरी होगी।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

राज्य में हालात अब धीरे-धीरे सामान्य होते जा रहे हैं। कंसल ने बताया कि घाटी के 69 थाना क्षेत्रों में अब दिन में पाबंदियों को हटा लिया गया है। जम्मू क्षेत्र में 81 थाना क्षेत्रों में दिन में पाबंदियॉं हटाई गई हैं।

उन्होंने बताया कि राज्य में 1500 प्राथमिक और 1000 माध्यमिक स्कूल खुल गए हैं। हालॉंकि छात्रों की उपस्थिति फिलहाल कम है। शिक्षा विभाग शैक्षणिक गतिविधि पूरी तरह बहाल करने को लेकर प्रयास कर रहा है।

कंसल के मुताबिक 17 अगस्त के बाद छिटपुट विरोध की घटनाओं में भी कमी देखी गई है। हालॉंकि सीमा पार से आंतकी खतरे की आशंका बनी हुई है जिसके कारण सुरक्षा बलों को अलर्ट पर रखा गया है।


शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

सुब्रमण्यम स्वामी
सुब्रमण्यम स्वामी ने ईसाइयत, इस्लाम और हिन्दू धर्म के बीच का फर्क बताते हुए कहा, "हिन्दू धर्म जहाँ प्रत्येक मार्ग से ईश्वर की प्राप्ति सम्भव बताता है, वहीं ईसाइयत और इस्लाम दूसरे धर्मों को कमतर और शैतान का रास्ता करार देते हैं।"

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

154,510फैंसलाइक करें
42,773फॉलोवर्सफॉलो करें
179,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: