Sunday, September 19, 2021
Homeसोशल ट्रेंडचेतन भगत की वजह से PM मोदी देने वाले थे इस्तीफा? फिर बन गया...

चेतन भगत की वजह से PM मोदी देने वाले थे इस्तीफा? फिर बन गया टीकाकरण का रिकॉर्ड… जानिए क्या है मामला

एक यूजर ने चेतन भगत को याद दिलाया कि वो 20% GDP विकास दर और सेंसेक्स के रिकॉर्ड स्तर को छूने के लिए क्रेडिट लेना भूल गए हैं।

भारत ने 2 दिन एक-एक करोड़ से अधिक लोगों के कोरोना टीकाकरण का रिकॉर्ड बनाया। अब इसका क्रेडिट लेने के लिए एक व्यक्ति सामने आया है। न-ना, कोई नेता, अधिकारी या स्वाथ्यकर्मी नहीं – लेखक। जी हाँ, लेखक चेतन भगत ने भारत के कोरोना वैक्सीनेशन अभियान का श्रेय लिया है। उनका दावा है कि उन्होंने एक लेख के जरिए टीकाकरण अभियान में 5-10 गुना तेज़ी की वकालत की थी, इसीलिए इसमें उनका भी योगदान है।

अब लोग भी भला कहाँ मानने वाले थे। उन्होंने चेतन भगत को अपने अंदाज़ में जवाब देना शुरू कर दिया। ‘द स्किन डॉक्टर’ ने तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पूरा का पूरा फेक बयान ही चेंप दिया, जिसमें वो कहते हैं – “जब हमने टीकाकरण शुरू किया था तो वैज्ञानिकों ने मुझसे कहा कि साहब जल्दी का काम तो शैतान का होता है। इसलिए हम धीरे-धीरे लगे हुए थे। फिर एक दिन चेतन भगत का ट्वीट देखा। वो कह रहे थे जल्दी लगाओ भाई। वो देख हम नींद से जागे। मैं समझता हूँ कि टीकाकरण में आई तेजी का श्रेय उन्हें ही जाता है।”

ऋषि बागरी नामक ट्विटर यूजर “मुर्ग़े को यही लगता है कि उसके बांग देने से ही सवेरा होता है। इस बात से चेतन भगत का कोई लेना देना नहीं है।”

लेखिका शेफाली वैद्य ने तंज कसा, “चेतन भगत का अगला बयान ये हो सकता है – ‘भगवान श्रीकृष्ण जी को मैंने ही कहा था अर्जुन को कुरुक्षेत्र के रण में थोड़ा उपदेश देने के लिए।'”

किसी ने उनके लेखन का उपहस उड़ाते हुए कहा कि लोगों को धमकी दी गई थी जो टीका नहीं लगवाएगा उनको आपकी किताबें पढ़ाई जाएँगे तभी ये सम्भव हो पाया है, तो किसी ने ये लिखा कि लोगों को चेताया गया था कि कोई जाँच के लिए मना करेगा तो उसे तो उसे ‘हाफ गर्लफ्रैंड’ फिल्म 2 बार दिखाई जाएगी। बता दें कि ये फिल्म चेतन भगत की पुस्तक पर ही आधारित है।

मिस्टर सिन्हा नामक यूजर ने चेतन भगत को याद दिलाया कि वो 20% GDP विकास दर और सेंसेक्स के रिकॉर्ड स्तर को छूने के लिए क्रेडिट लेना भूल गए हैं।

सुमित नाम के यूजर ने चेतन भगत के लिए ‘भारत रत्न’ पुरस्कार की माँग करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तो उनके लेख पढ़ कर इस्तीफा ही देने का सोच लिया था, लेकिन वैज्ञानिकों ने उन्हें बताया कि उन सबने भी चेतन भगत का लेख पढ़ लिया है और इसीलिए अब टीकाकरण अभियान तेज़ हो जाएगा।

एक व्यक्ति ने तो अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन की तस्वीर के साथ ही उनका ये फेक बयान जोड़ दिया, “मैंने अमेरिकी नागरिकों से वादा किया था कि मैं अफगानिस्तान से लोगों को निकालने की प्रक्रिया पर चेतन भगत की सलाह का अनुसरण करूँगा। अब युद्ध समाप्त है।”

बता दें कि देश में मंगलवार (31 अगस्‍त, 2021) को कोरोना के 1.30 करोड़ से अधिक टीके लगाए गए। इससे पहले 27 अगस्त को भी 1 करोड़ से अधिक लोगों का टीकाकरण हुआ था। ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO)’ भी इसके लिए मोदी सरकार की सराहना कर चुका है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,106FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe