Thursday, July 29, 2021
Homeसोशल ट्रेंडबड़े मियाँ हो या छोटे मियाँ, सब घर पर रहो: पंजाब पुलिस ने सोशल...

बड़े मियाँ हो या छोटे मियाँ, सब घर पर रहो: पंजाब पुलिस ने सोशल मीडिया पर जारी किया लॉकडाउन का पालन करने लिए कई मजेदार पोस्टर

मजेदार बात यह है कि पुलिस इन इमेज मैसेज में से कुछ मैसेज को फिल्मी गानों पर बनाया गया है। इनमें से उन पुलिस वालों की फोटो भी लगाई गई है जिन्होंने इनको बनाया है। एक संदेश में लिखा है, “उँची है बिल्डिंग, लिफ्ट तेरी बंद है। नीचे ना आना, पुलिस बंदोबस्त है।”

कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरे भारत में लॉकडाउन का फैसला लिया गया है, लेकिन इसके बावजूद कई जगहों पर अभी भी लोग इस लॉकडाउन और कर्फ्यू को हलके में ले रहे हैं। प्रशासन की सख्ती के बाद भी लोग घरों से बाहर आ रहे हैं। पुलिस की ओर से भी लगातार ये कोशिश की जा रही है कि कैसे भी लोगों को घरों में रहने के लिए कहा जाए। इन सबके बीच पंजाब पुलिस ने लोगों को घरों में रहने के लिए एक खास अपील की है।

पंजाब पुलिस ने कोरोना वायरस से निपटने को लेकर लगाए गए कर्फ्यू को सही ढंग से लागू करवाने के लिए एक अनोखा तरीका अपनाया है। पुलिस ने सोशल मीडिया के माध्यम से कई ऐसे फोटो मैसेज तैयार किए हैं, जिससे लोगों को यह बताया जा सके कि अगर लोगों ने कर्फ्यू के नियमों को तोड़ा तो घर के बाहर पंजाब पुलिस उनका इंतजार कर रही है।

इन मैसेजों के जरिए हल्के-फुल्के अंदाज में पुलिस सख़्ती का संदेश दे रही है। पंजाब पुलिस के ये संदेश सोशल मीडिया पर खूब वायरल भी हो रहे हैं। दिलचस्प ये है कि ये सारे संदेश खुद पुलिस ने ही तैयार किए हैं। ये कोई फोटोशॉप तस्वीरें नहीं हैं। पुलिस ने इन संदेशों को अपने सोशल मीडिया के अकांउट पर भी पोस्ट कर रखा है।

लोगों को पुलिस का ये अंदाज काफी रास आ रहा है। दरअसल पुलिस विभाग नहीं चाहता कि लोगों को सख्ती से कर्फ्यू को लागू करने के लिए कहा जाए। लेकिन इसके बाद भी कुछ लोग बिना काम के घर से बाहर घूमने-टहलने निकल जा रहे हैं। ऐसे लोगों को सख्त चेतावनी देने के लिए पुलिस ने इन दिलचस्प संदेशों को तैयार किया है। 

हर जिले की पुलिस ने कोई न कोई स्लोगन पोस्ट किया गया है। इसमें जिला पुलिस ने अपने इलाके के लोगों को कर्फ्यू नहीं तोड़ने को लेकर स्लोगन लिखा हुआ है। इनका उद्देश्य है कि स्लोगनों को पढ़ने के बाद लोग जागरूक हों और कर्फ्यू का पालन करें।

मजेदार बात यह है कि पुलिस इन इमेज मैसेज में से कुछ मैसेज को फिल्मी गानों पर बनाया गया है। इनमें से उन पुलिस वालों की फोटो भी लगाई गई है जिन्होंने इनको बनाया है। एक संदेश में लिखा है, “उँची है बिल्डिंग, लिफ्ट तेरी बंद है। नीचे ना आना, पुलिस बंदोबस्त है।”

इसी तरह एक अन्य संदेश में लिखा है, “किसी डिस्को में जाएँ, किसी होटल में खाएँ। पुलिस देख लेगी हमें वहाँ, चले घर पर ही रह लें हम।”

एक में लिखा है, “गोरे-गोरे ओ बाँके छोरे, अब कुछ दिन घर पे बिताया करो।”

एक अन्य संदेश में लिखा है, “थोड़ा है, थोड़े की जरूरत है। बाहर इमरजेंसी या फिर दवा लेने ही है जाना।” 

पंजाब पुलिस ने एक संदेश में लिखा है, “घर से निकलते ही, कुछ दूर चलते ही रास्ते में मिल गई पंजाब पुलिस, तो मैं वापस घर चला आया।”

एक में लिखा है, “मटरगश्ती खुली सड़क में, तगड़ी तड़क भड़क में। देख लेगी पंजाब पुलिस, उससे अच्छा है रह ले कुछ दिन घर में।”

इसी तरह से पंजाब पुलिस ने एक अन्य संदेश में लिखा है, “अंदर से कोई बाहर ना जा सके, बाहर से कोई अंदर ना आ सके, पुलिस अगर देख ले तो क्या हो, बैहतर है कि घर पे दिन बिता लो।”

एक संदेश में लिखा है, “मैं निकला ओ गड्डी लेकर, रास्ते पर सड़क पर ओ सड़क में इक पंजाब पुलिस का अफसर आया मैं उत्थे हीरोगिरी छोड़ आया।” इस संदेश को शेयर करते हुए पुलिस ने लिखा कि गड्डी लेकर निकलोगे तो गदर हो जाएगा।

पुलिस ने कुछ लोगों को कर्फ्यू तोड़ने पर पकड़ा तो उनके जवाब सुन पुलिस भी हैरान रह गई। इनमें से कुछ लोग पिज्जा खाने, बाल कटवाने जा रहे थे तो कुछ ने कहा कि घर में मन नहीं लगता क्या करें। पकड़े गए कुछ लोगों ने तो यहाँ तक कहा, “साहब कुत्ते को गाड़ी में घूमने का शौक है। कुत्ते को कैसे समझाएँ।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,743FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe