Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाज8 घंटे 20 मिनट के बाद खाना, बुजुर्ग-बच्चों को पानी तक नहीं: IndiGo पायलट...

8 घंटे 20 मिनट के बाद खाना, बुजुर्ग-बच्चों को पानी तक नहीं: IndiGo पायलट के मार खाने वाले मामले में फ्लाइट-क्रू की अभद्रता की आँखोंदेखी

"सुबह 7:40 बजे रवाना होने वाली थी फ्लाइट। शाम 4:00 बजे के बाद भोजन मुहैया कराया गया। पानी के लिए बुजुर्ग यात्रियों ने कई बार कहा, लेकिन फ्लाइट-क्रू के लोगों ने इसे अनदेखा कर दिया। वे लोग अपनी बातचीत में मशगूल थे।"

दिल्ली से गोवा जा रही इंडिगो फ्लाइट में पैसेंजर द्वारा पायलट को थप्पड़ रसीद करने के मामले में नया मोड़ आया है। दरअसल, फ्लाइट में सवार एक रशियन मॉडल और एक अन्य यात्री का आरोप है कि फ्लाइट के घंटों लेट होने पर भी इंडिगो के पायलट और केबिन क्रू का बर्ताव यात्रियों के साथ अच्छा नहीं था।

रूसी मॉडल और एक्टर एवगेनिया बेल्सकिया इंडिगो की इसी फ्लाइट नंबर 6E 2175 में सवार थी। इसी फ्लाइट के 28 साल के एक पैसेंजर सतीश कटारिया ने को-पायलट अनूप कुमार पर हमला किया था।

बेल्सकिया का कहना है कि अधिकतर पैसेंजर टेकऑफ़ में लगातार देरी की वजह से गुस्से में थे। उन्हें शुरू में बताया गया था कि फ्लाइट अपने तय समय से दो घंटे बाद रवाना होगी। हालाँकि, बाद में उन्हें बताया गया कि फ्लाइट 10 घंटे की देरी से उड़ेगी और बाद में इसमें 3 घंटे की और देरी हो गई।

बेल्सकिया के मुताबिक, इतने घंटे की देरी की वजह से कई पैसेंजर ने क्रू और पायलटों से सवाल करना शुरू कर दिया। उन्होंने कहा कि को-पायलट अनूप कुमार ने पैसेंजर से कहा कि वो बहुत सारे सवाल पूछ रहे थे और यही वजह है कि फ्लाइट में देरी हुई।

बेल्सकिया ने आरोप लगाया कि को-पायलट के अभद्र तरीके से बात करने पर पैसेंजर सतीश कटारिया गुस्से में आ गए और उन्होंने पायलट पर हमला कर दिया। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर वीडियो शेयर कर लिखा, “मैं इस स्थिति को थोड़ा स्पष्ट करना चाहती हूँ। पायलट ने पैसेंजर्स के साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया और इस देरी के लिए उन्हें दोषी ठहराया, क्योंकि वो भी कई सवाल पूछ रहे थे। साथ ही क्रू भी अच्छा नहीं था! उन्होंने लोगों को खाना पानी तक नहीं दिया। पायलट को मारना गलत है। लेकिन क्रू बिल्कुल भी अच्छा नहीं था, इसलिए ऐसा हुआ।”

बेल्सकिया ने आगे कहा कि इंडिगो टीम कह रही थी कि फ्लाइट में एक घंटे लेट थी, लेकिन यह कम से कम 10 घंटे तक लेट हुई थी जब तक कि हमें प्लेन में चढ़ने की मंज़ूरी नहीं दी गई। रूसी मॉडल ने कहा, “मेरी टीम अपनी फ्लाइट के लिए 10 घंटे तक इंतजार करती रही थी, तभी एक शख्स तंग आ गया और इसके बाद उन्हें और इंतजार करना पड़ा। पुलिस उस आदमी को ले गई और उन्हें पायलट भी बदलना पड़ा।”

इसी वजह से 14 जनवरी, 2024 सुबह 7:40 बजे रवाना होने वाली इंडिगो की फ्लाइट आखिरकार रविवार शाम 6 बजे रवाना हुई। वहीं इस फ्लाइट में सवार एक अन्य पैसेंजर सनल विज ने भी अपने एक्स हैंडल पर लिखा, “मैं हिंसा का समर्थन नहीं करता, लेकिन इंडिगो ने फायदा उठाया और हमला करने वाले पैसेंजर ने जो किया उसकी आड़ में अपने सभी कुप्रबंधन और गलतियों को छुपाया।”

उन्होंने कहा कि उड़ान 6E2175, जो सुबह 7:40 बजे रवाना होने वाली थी वो कई घंटे की देरी का सामना करने के बाद शाम 05:35 बजे रवाना हुई। विज ने आगे कहा कि एक को पैसेंजर के तौर पर घटना का प्रत्यक्षदर्शी होने की वजह से वो अपना अनुभव शेयर करना जरूरी समझते हैं।

उन्होंने कहा, “लगभग 186 पैसेंजर्स जिनमें शिशु, छोटे बच्चे और बुजुर्ग शामिल थे, सबकी दोपहर 12:20 बजे (खराब मौसम की वजह से 5 घंटे की देरी के बाद) बोर्डिंग शुरू हुई, करीब 12:40 बजे तक बोर्डिंग पूरी करने के बावजूद फ्लाइट के डोर दोपहर 2:50 बजे तक खुले रहे थे।” विज ने कहा, “ग्राउंड स्टाफ ने देरी के लिए ATC (हवाई यातायात नियंत्रण) को भीड़ के वजह से फ्लाइट रवाना होने के लिए मंजूरी नहीं देने के लिए जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि पायलट ने दोपहर 1:30 बजे ऐलान किया कि वे क्रू मेंबर्स का इंतजार कर रहे हैं और फ्लाइट शीघ्र ही रवाना होगी।”

विज ने कहा कि इससे साफ हो गया कि ग्राउंड स्टाफ और क्रू ने गलत सूचना दी। उन्होंने आरोप लगाया कि क्रू के सदस्यों को गैर-पेशेवर रवैया अपनाते देखा गया। ये लोग ग्राउंड स्टाफ के साथ लंबी बातचीत में मशगूल थे। विज ने यह भी दावा किया कि पानी के लिए बुजुर्ग यात्रियों ने कई बार कहा, लेकिन इन लोगों ने इसे अनदेखा कर दिया क्योंकि वे अपनी बातचीत में मशगूल थे। उन्होंने आगे बताया कि क्रू के सदस्य देरी से दोपहर 2:40 बजे के करीब पहुँचे और प्लेन के दरवाजे बंद हो गए।

हालाँकि, प्लेन कुछ देर तक वहीं रहा। इस वजह से यात्रियों ने पूछताछ शुरू की और क्रू मेंबर्स के साथ बहस भी हुई। दोपहर 3.20 बजे को-पायलट देरी की वजह में बताने के लिए कॉकपिट से बाहर आए। इसी दौरान उन पर हमला हुआ।

विज ने कहा कि हिंसा अस्वीकार्य है, लेकिन इंडिगो के कुप्रबंधन, गैरपेशेवर रवैये और 185 पैसेंजर्स के घंटों तक बगैर भोजन के फँसे रहने के बारे में क्या? उन्होंने कहा कि उन्हें शाम 4:00 बजे के बाद भोजन मुहैया कराया गया था। वहीं को-पायलट पर हमला करने वाले सतीश कटारिया को सुरक्षाकर्मी ने तुरंत मौके पर पहुँच पकड़ लिया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। कटारिया को दिल्ली पुलिस स्टेशन ले जाया गया, जहाँ से बाद में उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया।

उनके खिलाफ IPC की धारा 323 (जानबूझकर चोट पहुँचाने के लिए सजा), 341 (गलत तरीके से रोकने के लिए सजा) और 290 (सार्वजनिक उपद्रव पैदा करने के लिए सजा) और विमान नियमों की धारा 22 के तहत केस दर्ज किया गया है और जाँच शुरू कर दी गई है।

घटना के बाद इस तरह के हंगामे से बचने के लिए एहतियाती कदम के तौर पर नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने नई गाइडलाइन्स जारी की। उन्होंने एयरलाइंस कंपनियों से कहा कि उड़ानों में देरी पर यात्रियों के अपडेट देते रहो या तो फिर फ्लाइट को कैंसल कर दो। हमले का जिक्र करते हुए इंडिगो ने आंतरिक कमेटी के साथ चर्चा के बाद एक बयान जारी करते हुए कटारिया का नाम नो फ्लाई लिस्ट श्रेणी में शामिल करने का प्रस्ताव दिया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -