Saturday, September 25, 2021

विषय

उत्तराखंड

चारधाम देवस्थानम बोर्ड: उत्तराखंड के मंदिरों के प्रबंधन में आवश्यक है सरकार की भूमिका, जानिए कारण

आर्थिक स्तर पर दक्षिण भारत के मंदिरों और उत्तर भारत के मंदिरों की तुलना करेंगे तो सब स्पष्ट हो जाएगा। आपदा प्रभावित उत्तराखंड के मंदिर...

भविष्य बद्री ही होगा कलियुग का भविष्य तीर्थ: जब बद्रीनाथ का बंद होगा मार्ग… तो भविष्य बद्री होगा भगवान विष्णु का निवास स्थान

जोशीमठ से लगभग 25 किमी और बद्रीनाथ से लगभग 56 किमी की दूरी पर स्थित है, भविष्य बद्री। यह स्थान भविष्य के बद्री तीर्थ के रूप में जाना जाता है।

‘अरेस्ट तो उनका बाप भी नहीं कर सकता’: गिरफ्तारी की माँग के बीच वायरल हो रहा स्वामी रामदेव का ये बयान

अब अपने लोगों को भी ट्रेंड चलाने की प्रैक्टिस हो गई है। इस दौरान रामदेव ने ताली बजाई और हँसते हुए कहा कि आप ट्रेंड में हमेशा ही टॉप पर पहुँच जाते हो इसके लिए आपको बधाई है।

15 दिन में माफ़ी माँगो, वरना वसूलेंगे ₹1000 करोड़: IMA का बाबा रामदेव को नोटिस, कोरोनिल का विज्ञापन हटाने को भी कहा

बाबा रामदेव से 76 घंटे के अंदर कोरोनिल के भ्रामक विज्ञापन को हरेक जगह से हटाने को कहा गया है।

इधर बाबा रामदेव ने पूछे 25 सवाल, उधर IMA उत्तराखंड ने CM को लिखा- जल्द और सख्त कार्रवाई करिए

बाबा रामदेव के एलोपैथी डॉक्टरों पर वायरल टिप्पणी से नाराज आईएमए की उत्तराखंड राज्य शाखा ने तीरथ सिंह रावत सरकार से रामदेव के खिलाफ सख्त कार्रवाई की माँग की है।

‘असली भारत’ के नाम पर राजदीप सरदेसाई ने परोसा झूठ, उत्तराखंड सरकार ने खोली पोल

राजदीप सरदेसाई एक बार फिर झूठ परोसते पकड़े गए हैं। इस बार उनकी पोल उत्तराखंड के स्वास्थ्य मंत्रालय ने खोली है।

NDTV के पूर्व पत्रकार दिनेश मानसेरा को उत्तराखंड CM ने मीडिया सलाहकार पद से हटाया

मानसेरा की नियुक्ति के बाद से सोशल मीडिया पर उनके पुराने ट्वीट शेयर किए जा रहे थे। कुछ लोगों का उन ट्विट्स को देखकर ये भी कहना था कि भाजपा को ऐसे नेताओं के होते दुश्मनों की जरूरत नहीं है।

वीडियो: केदारनाथ मंदिर के कपाट खुले, पीएम मोदी ने किया पहला रुद्राभिषेक; 11 क्विंटल फूलों से की गई भव्य सजावट

केदारनाथ मंदिर के कपाट छह महीने के बाद सोमवार 17 मई 2021 को खुल गए हैं। वहीं, बदरीनाथ धाम के कपाट मंगलवार 18 मई 2021 को खोले जाएँगे। कपाट खुलने की प्रक्रिया सुबह 3 बजे शुरू हुई थी।

उत्तराखंड: देवप्रयाग में बादल फटने से मची तबाही, आईटीआई भवन सहित कई दुकानें ध्वस्त, लॉकडाउन की वजह से बचे लोग

एसएचओ ने बताया कि आज शाम पाँच बजे बादल फटने की खबर मिली। इसमें 12-13 दुकानें और अन्य संपत्ति को नुकसान पहुँचा है।

कुदरत का कहर: हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में फटा बादल, बाढ़ के हालात में सड़कें और कई कारें क्षतिग्रस्त

एक और देश में कोरोना की दूसरी लहर बेकाबू हो गई है। हर रोज कोरोना वायरस की चपेट में आकर लोग मर रहे हैं। दूसरी तर​फ हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कुदरत का कहर देखने को मिला है।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,198FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe