Sunday, March 7, 2021

विषय

जिहाद

‘UPSC जिहाद’: सुप्रीम कोर्ट ने HC के स्टे से पहले सुदर्शन न्यूज की रिपोर्ट पर रोक लगाने से किया था इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम 49 सेकंड के अपुष्ट ट्रांसक्रिप्ट के आधार पर कार्यक्रम के प्रसारण से पहले उसे प्रतिबंधित किए जाने का फैसला देने से बच रहे हैं।

जामिया के जिहादी: छवि ख़राब करने के लिए यूनिवर्सिटी ने की सुदर्शन टीवी और सुरेश चव्हाणके के खिलाफ कार्रवाई की माँग

जामिया यूनिवर्सिटी ने केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय को पत्र लिखकर सुदर्शन न्यूज चैनल के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके के खिलाफ विश्वविद्यालय की छवि को धूमिल करने के लिए कार्रवाई करने को कहा है।

‘इस्लाम शांति का धर्म नहीं है’: लेखक रॉबर्ट स्पेंसर की जिहाद के वैश्विक खतरे के बारे में ऑपइंडिया से बातचीत

कुरान कहता है कि आप केवल तभी शांति प्राप्त कर सकते हैं जब आप खुद को अल्लाह को सौंप देते हैं। समाज में सच्ची शांति केवल गैर-इस्लामी लोगों को इस्लाम मानने वालों को सौंपने से आती है।

आतंकी हमले में मारी गई बहन की मौत के लिए BSF को दोषी बताने का बनाते थे लोग दबाव: IPS इम्तियाज हुसैन

इम्तियाज हुसैन ने एक आतंकी घटना का जिक्र करते हुए बताया है लोगों ने उनके परिवार को यह कहने के लिए मजबूर किया था कि उनकी चचेरी बहन BSF द्वारा मारी गई थी, ना की आतंकियों के हमले से।

जिहाद के लिए उकसाने वाला इनामुल हक बरेली से गिरफ्तार, पूछताछ में जुटी यूपी ATS

ATS ने मोहम्मद इनामुल हक को बरेली से गिरफ्तार किया है। 30 वर्षीय इनामुल पूरी तरह से रेडिकलाइज्ड है।

केरल में Zee न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी के खिलाफ FIR, DNA में बताया था जिहाद के कितने रूप

ज़ी न्यूज़ के एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी के ख़िलाफ़ केरल पुलिस ने मामला दर्ज किया है। गैरजमानती धाराओं के अंतर्गत उनके खिलाफ़ FIR दर्ज किया गया है।

हथियार इकट्ठा कर देश के खिलाफ छेड़ो जिहाद: अलकायदा की भारतीय समुदाय विशेष से अपील

अलकायदा ने कहा है कि भारत सरकार ने समुदाय विशेष के खिलाफ कई कदम उठाए हैं। इसलिए अब भारतीय मुस्लिमों को इकट्ठा होना चाहिए और जिहाद करना चाहिए।

अफवाह और जिहाद का अड्डा बन गया है टिकटॉक, उठी बैन करने की माँग

ट्विट्टर यूजर्स का कहना है की टिकटॉक ऐप जिहाद और अफवाहों का मुख्य स्रोत बन चुका है, इसलिए इसे बंद करना जरूरी है। ट्विटर पर टिकटॉक को जिहादी बताया जा रहा है और इसे बैन करने की माँग की जा रही है।

बरखा की जिहादन ‘हिरोइनों’ ने तथाकथित पत्रकार वामपंथन राणा अयूब के घटिया ट्वीट को दिया समर्थन

राणा अयूब ने कहा था कि नैतिक रूप से भ्रष्ट होने के कारण भारत में हर कोई अंदर से इतना ‘मरा’ है, कि एक वायरस इन्हें (भारतीयों को) क्या मार सकता है? इस असंवेदनशीलता के लिए उसे जमकर लताड़ लगी थी। लेकिन आयशा रेना और लदीदा ने उसका समर्थन किया है।

बालाकोट में 189 साल पहले भी हुआ था एक ऑपरेशन, तब हूरों के चक्कर में मारे गए थे 300 जेहादी

बीते साल भारतीय वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया था। इस घटना से करीब 189 साल पहले भी बालाकोट में रणजीत सिंह की सेना ने जिहादियों का ऐसे ही सफाया किया था।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

292,301FansLike
81,962FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe