विषय: मेक इन इंडिया

मेक इन इंडिया

Make In India: पहली बार मिसाइलें निर्यात करने को तैयार भारत, कई देश ख़रीदने को आए आगे

भारतीय रक्षा क्षेत्र के लिए अब अच्छे मौके इसीलिए बन रहे हैं क्योंकि खाड़ी देशों में धीमी आर्थिक विकास के साथ ही उन्हें कम दामों पर विश्वसनीय रक्षा उत्पादों की तलाश है। भारत अब ये चीजें उचित मूल्य में उन्हें मुहैया कराने की क्षमता रखता है।
धनुष आर्टिलरी गन्स

गौरव का क्षण: सेना को मिली स्वदेशी ‘धनुष’ Artillery Guns, 38Km रेंज के साथ यह है बोफोर्स का अपग्रेडेड वर्जन

फायर करने के बाद 'धनुष' आर्टिलरी गन अपनी पोजिशन चेंज कर सकती है। इस गन का वजन 13 टन है। विशेष गोला-बारूद के साथ इसका रेंज 38 किलोमीटर हो जाता है। इसे चीन व पाकिस्तान से लगी सीमा पर तैनात किए जाने की उम्मीद है।
HAL

Make In India: ₹19,400 करोड़ के टर्नओवर के साथ HAL का कॉन्ग्रेस और राहुल को करारा तमाचा

बीते वित्त वर्ष में एचएएल ने 11 सुखोई-30MKI और 7 तेजस फाइटर्स का निर्माण किया। उन्होंने 5 डोर्नियर-228 एयरक्राफ्ट्स, तीन चीता (लाइट) हैलीकॉप्टर और 15 ध्रुव (एडवांस लाइट) हैलीकॉप्टर्स का निर्माण किया। कुल मिलकर उन्होंने 41 एयरक्राफ्ट्स का निर्माण किया।
पीयूष गोयल

Make In India का कमाल, एक वर्ष में हुआ 6000 से भी अधिक रेलवे कोच का निर्माण

रायबरेली स्थित मॉडर्न कोच फैक्ट्री ने इस वित्त वर्ष 1425 कोच का निर्माण कर एक नया रिकॉर्ड सेट किया। इस तरह से उसने लक्ष्य से ज्यादा कोच का निर्माण किया। चेन्नई स्थित इंडियन कोच फैक्ट्री ने तो कोच बनाने के मामले में चीन को भी पीछे छोड़ दिया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

‘मेक इन इंडिया’ ने भारतीय वैज्ञानिक और इंजीनियरिंग क्षमता का लोहा मनवाया – PM मोदी

हमारे नौजवान साथी जो डिजिटल इंडिया के युग में सामाजिक और राजनीतिक व्यवस्था का हिस्सा बन रहे हैं, हम उनके साथ मिलकर वर्तमान स्थिति को बदलने वाले है।
नेवी हेलिकॉप्टर्स

नेवी के हेलिकॉप्टर्स निर्माण के लिए बिडर्स के नाम ‘मेक इन इंडिया’ के तहत जल्द होंगे तय

नेवी के इन हेलीकॉप्टरों का उपयोग खोज और बचाव कार्यों, आकस्मिक निकासी और ज़रूरत पड़ने पर परिवहन के लिए किया जाएगा।

मेक इन इंडिया के तहत ऑटोमेटेड ट्रेन एग्जामिनेशन सिस्टम से रेलयात्रा होगी पहले से अधिक सुरक्षित

रेल मंत्री ने रेलवे सुरक्षा के लिए आरपीएफ और जीआरपी को मिल-जुलकर एक साझा रणनीति बनाने और एकसाथ मिलकर काम करने पर ज़ोर दिया

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

40,759फैंसलाइक करें
7,817फॉलोवर्सफॉलो करें
63,313सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें