Thursday, February 25, 2021

विषय

Hinduphobia

रिंकू शर्मा की हत्या के बाद बजरंग दल पर ट्वीट कर विवादों में ‘गाना’ की तंजिला अनीस

रिंकू की हत्या के बाद ऑनलाइन म्यूजिक स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म 'गाना' की कंटेंट हेड तंजिला अनीस एक ट्वीट को लेकर विवादों में घिर गई हैं।

जो राम मंदिर भारत की संस्कृति का प्रतीक है, उससे हिंदुओं को नीचा क्यों दिखा रही कॉन्ग्रेस?

अयोध्या में भूमि पूजन हो चुका है। निधि समर्पण अभियान चल रहा है। ऐसे में सहज जिज्ञासा हो सकती है कि इस सवाल का क्या तुक है? वजहें ठोस है और हर हिंदू के लिए जानना जरूरी है।

‘हिंदू समाज पूरी तरीके से सड़ चुका है… मुसलमान हो मार देंगे’: एल्गार परिषद में जुटान छोटा, जहर पूरा

एल्गार परिषद 2021 में भीड़ भले नहीं मौजूद थी, लेकिन मजाल है कि जहर की मात्रा में रत्ती भर कमी आई हो।

रूस के 1.4 लाख हिन्दुओं को प्रताड़ित कर रहा ईसाई एक्टिविस्ट, एक रूसी हिन्दू ने वीडियो बना माँगी मदद

अलेक्जेंडर दोर्किन ने अफवाहों और झूठी खबरों के सहारे रूस के हिन्दुओं को परेशान करना शुरू किया है। वो उनके खिलाफ शिकायतें दर्ज करवाता है।

भगवान परशुराम बीफ के बिना नहीं खाते थे, माता सीता उनके लिए खुद बनाती थीं: TMC नेता मदन मित्रा

"जब जानकी माता को पता चला कि परशुराम घर आए हैं तो उन्होंने कहा कि जल्दी करो और गाय पकाओ। वह बिना गाय के भोजन नहीं करेंगे।"

‘धार्मिक भावनाओं को आहत करने वाला स्क्रिप्ट नहीं लिखो’ – TANDAV वालों की होगी गिरफ्तारी, रोक से SC का इनकार!

वेब सीरीज ‘तांडव’ के निर्माताओं को सुप्रीम कोर्ट से राहत नहीं मिल पाई। कोर्ट ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इनकार करते हुए...

ऐसे लोगों को छोड़ा नहीं जाना चाहिए: मुनव्वर फारूकी पर जस्टिस रोहित आर्य, कुंडली निकालने में जुटा लिब्रांडु गिरोह

हिन्दू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले मुनव्वर फारूकी की याचिका पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति रोहित आर्य ने कहा कि ऐसे लोगों को बख्शा नहीं जाना चाहिए।

मुनव्वर फारूकी ने कोई ‘जोक क्रैक’ नहीं किया तो जैनब सच-सच बतलाना कमलेश तिवारी क्यों रेता गया

कितनी विचित्र विडंबना है, धार्मिक भावनाएँ आहत होती हैं और उनका विरोध होता है तो साम्प्रदायिकता! लेकिन मज़हबी जज़्बात आहत होते हैं तो...।

रूस में हिन्दू धर्म: इतिहास, रूसी समाज में स्वीकार्यता और कट्टरपंथी ईसाई द्वोरकिन के हमले

क्या है रूस का श्री प्रकाश धाम? अलेक्ज़ेंडर द्वोरकिन क्यों पड़ा है हिन्दुओं के पीछे? मॉस्को में रह रहे प्रसून प्रकाश से बातचीत

जब एयरपोर्ट, उद्योग, व्यापार आदि सरकार के हाथ में नहीं, तो फिर मंदिरों पर नियंत्रण कैसे: सद्गुरु

"हम चाहते हैं कि सरकार को एयरलाइंस, उद्योग, खनन, व्यापार का प्रबंधन नहीं करना चाहिए, लेकिन फिर यह कैसे है कि सरकार द्वारा पवित्र मंदिरों का प्रबंधन किया जा सकता है।"

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

291,795FansLike
81,852FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe