Friday, May 14, 2021

विषय

Islamic Terror

ऑस्ट्रिया: बंद हुईं इस्लामी कट्टरपंथ का गढ़ बन चुकी मस्जिदें, अन्य मस्जिदों पर कार्रवाई की तैयारी

ऑस्ट्रिया की सरकार ने ऐसी मस्जिद को बंद करने का निर्णय लिया है जो कथित तौर पर कट्टरपंथी आतंकवाद का अड्डा बन गई थी।

कुरान और गीता में हिंसा एक नहीं है: ‘अधर्मी से युद्ध’ और ‘विधर्मी को काटने’ में हिंदू-मुसलमान का अंतर है

जब बर्बरता तुम्हारी शिक्षा की आधारशिला है, हत्या तुम्हारे लिए एक सम्मानजनक कर्म है, बलात्कार पुण्य और काफिरों के धार्मिक स्थल तोड़ना जन्नत-उल-फिरदौस में कमरे रिजर्व करवाता है, फिर कोई सामान्य बुद्धि-विवेक वाला तुमसे या तुम्हारे मजहब को स्नेहाशिक्त भाव से कैसे देख सकता है?

‘तुम सिखाते हो कि महिलाओं के पास पुरुषों की तरह अधिकार नहीं है’: फ्रांस के राष्ट्रपति ने कहा- समझ लो, ये हमारे संस्कार नहीं

फ्रेंच राष्ट्रपति ने कहा कि कहा कि आज ऐसे लोग हैं, जो इस्लाम के नाम पर हिंसक अभियान चलाते हुए हत्याओं और नरसंहार को जायज ठहरा रहे हैं।

‘सर कटा सकते हैं, लेकिन ईशनिंदा बर्दाश्त नहीं, फ्रांस मिट जाएगा-इंशा अल्लाह’: रज़ा अकादमी के समर्थन में उतरे कट्टरपंथी

रज़ा अकादमी के कारनामों का बचाव करते हुए शाहिद मंसूरी नाम के एक यूजर ने कहा कि वो सर कटा सकते हैं, लेकिन ईशनिंदा के कृत्य को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

फ़्रांस में इस्लामी आतंक का विरोध, भारत में समर्थन | Ajeet Bharti speaks on France beheadings and Islamic terror

फ्रांस के नीस शहर में एक महीने के अंदर दो आतंकी हमले हुए। 3 लोगों की गर्दन काट दी गई थी। फिर फ्रांस के चर्च में बम रखने की बात सामने आई।

‘कोई ऐसा गंदा कार्टून बना दे, तो हम तो उसको मार देंगे’: मुनव्वर राणा ने फ्रांस के आतंकी हमलावर का किया बचाव

“अगर अभी कोई शख्स मेरे बाप का कार्टून कोई ऐसा बना दे कोई गंदा, मेरी माँ का कोई ऐसा गंदा कार्टून बना दे, तो हम तो उसको मार देंगे...."

‘पैगंबर मोहम्मद के कार्टून बना वो सोचते हैं कि ‘वो’ ‘अभिव्यक्ति की आजादी’ समझ पचा लेंगे?’ नरसंहार ट्वीट का बचाव

खुद को भुक्तभोगी साबित करते और ट्विटर की आलोचना करते हुए महातिर मोहम्मद इस बात पर अड़े थे कि पैगंबर मोहम्मद का कार्टून बनाना...

‘अल्लाह-हू-अकबर’ और ‘हत्या’ को इस्लाम से नहीं जोड़ा जा सकता: दिल्ली दंगों के ‘मास्टरमाइंड’ अपूर्वानंद का फ्रांस पर मास्टरस्ट्रोक

अपूर्वानंद ने अपने ट्वीट के माध्यम से यह बताना चाहा कि पिछले कुछ दिनों में फ्रांस में इस्लामिक आतंकवादियों द्वारा किए गए गैर-मुस्लिमों की हत्या का इस्लाम के साथ कोई लेना-देना नहीं है।

कुरान में गलती से जिस शख्स का पैर लग गया, पहले उसे मारा और फिर आग में झोंक दिया

“हमने उन्हें अपने पास सुरक्षित रखने की कोशिश की। लेकिन भीड़ ने इमारत को गिरा दिया और उनमें से एक को अपने साथ जबरन ले गए।”

एक ही दिन में ‘अल्लाह-हू-अकबर’ बोल कर फ्रांस में दूसरा आतंकी हमला, सऊदी अरब में भी दूतावास में तैनात गार्ड को मारा चाकू

फ्रांस के एविगनन शहर में एक व्यक्ति ने धारदार हथियार से पुलिसकर्मियों के एक समूह पर हमला कर दिया। इसी तरह सऊदी अरब के फ्रांसीसी दूतावास में तैनात सुरक्षाकर्मी पर धारदार हथियार से हमला किया गया।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,361FansLike
93,776FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe