Tuesday, July 16, 2024
Homeव्हाट दी फ*मजदूरी कर पैसे भेजता था पति, मकान मालिक संग लूडो खेलती पत्नी, एक दिन...

मजदूरी कर पैसे भेजता था पति, मकान मालिक संग लूडो खेलती पत्नी, एक दिन खुद को ही हार गई: मैसेज भेज कहा- मेरा चक्कर छोड़ो, आकर लिखा-पढ़ी कर लो

पीड़ित पति के अनुसार पत्नी ने उसे फोन कर खुद के हार जाने की जानकारी दी। उससे कहा कि प्रतापगढ़ आकर लिखा-पढ़ी कर लो। साथ ही धमकी दी कि अब यदि मेरे चक्कर में पड़ोगे तो काट कर फेंक दिए जाओगे।

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले से एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। मकान मालिक से लूडो के खेल में एक महिला ने खुद को दांव पर लगाया और हार गई। इसके बाद राजस्थान के जयपुर में मजदूरी करने वाले अपने पति को संदेश भेजा कि वह अब उसका चक्कर छोड़ दे। आकर लिखा-पढ़ी कर ले। पीड़ित पति ने पुलिस से हस्तक्षेप की गुहार लगाई है।

बताया जा रहा है कि मकान मालिक ने इस व्यक्ति की पत्नी और दो बच्चों को अपने पास रख रखा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लूडो में हारने वाली महिला मूल रूप से अमेठी की रहने वाली ही ,प्रतापगढ़ के बेल्हा क्षेत्र में किराए के एक मकान में रहती है। महिला का पति पिछले 6 माह से जयपुर में मजदूरी कर रहा है। उसके भेजे पैसे से महिला मकान का भाड़ा और घर का अन्य खर्च चलाती थी। इस बीच उसे मकान मालिक के साथ लूडो खेलने की लत लग गई। यही लत आगे चल कर जुए में बदल गई। महिला लूडो के माध्यम से हार-जीत के लिए कभी पैसे तो कभी अन्य सामान दाँव पर लगाने लगी थी।

बताया जा रहा है कि जुए की लत में महिला धीरे-धीरे एक-एक सामान हारती रही। वो अपने सारे पैसे भी हार चुकी थी। एक दिन महिला ने मकान मालिक के आगे खुद को ही दांव पर लगा दिया। वो बाजी भी मकान मालिक ने जीत ली। इसके बाद महिला को उसकी बेटी सहित मकान मालिक ने अपने पास रख लिया। महिला के 2 बच्चे हैं जो मकान मालिक के ही पास हैं। कहा जा रहा है कि महिला के पति ने अपनी पत्नी को समझाने की कोशिश भी की लेकिन वो मानने के लिए तैयार नहीं है।

महिला के पति ने पुलिस को बताया है कि पत्नी ने ही उसको फोन कर पर खुद के लूडो में हार जाने की जानकारी दी थी। अपनी शिकायत में पीड़ित पति ने लिखा है कि फोन पर उससे पत्नी ने प्रतापगढ़ आकर लिखा-पढ़ी करने के लिए कहा। साथ ही उसे धमकी देते हुए कहा है कि अगर हमारे चक्कर में पड़ोगे तो काट कर फेंक दिए जाओगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -