Saturday, July 20, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकसोशल मीडिया फ़ैक्ट चेक'अपनी आईडी से दूसरों के लिए टिकट बुक किया तो ₹10000 का जुर्माना, IRCTC...

‘अपनी आईडी से दूसरों के लिए टिकट बुक किया तो ₹10000 का जुर्माना, IRCTC का नया नियम’: सोशल मीडिया पर फैली खबर, जानिए क्या है सच

आप अपने लिए, घर वालों के लिए, दोस्तों के लिए आधार लिंक्ड अकाउंड से महीने में 24 टिकट तक बुक सकते हैं। हाँ, ये जरूर है कि अगर ये टिकट बेचा गया है, तब ये दंडनीय अपराध है।

भारतीय रेलवे हिंदुस्तान की जीवन रेखा मानी जाती है, जिससे हर दिन करोड़ों लोग यात्रा करते हैं। आज कल के समय में ऑनलाइन टिकट बुकिंग एक आम बात है। इस बीच, सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें तेजी से फैलीं कि IRCTC के पर्सनल अकाउंट के जरिए किसी और का ट्रेन टिकट बुक करने पर जेल भी जाना पड़ सकता है और यात्री को 10 हजार रुपए का फाइन भी देना पड़ सकता है। क्या ऐसी खबर आपके सामने से भी गुजरी?

सोशल मीडिया पर बीते दिनों ऐसी खबरें चल रही थीं, जिसमें ये दावा किया गया है कि अगर अपने पर्सनल अकाउंट से किसी और का ट्रेन टिकट बुक किया तो आपको जेल की सजा तक हो सकती है। क्या ये बात वाकई में सच है? आइए जानते हैं ट्रेन टिकट बुकिंग से जुड़ा ये जरूरी नियम….

दरअसल, IRCTC की साइट से टिकट की बुकिंग रेलवे बोर्ड की गाइडलाइंस के मुताबिक होती है। इन नियमों के मुताबिक, कोई भी व्यक्ति अपने पर्सनल यूजर आईडी से दोस्तों, फैमिली या रिलेटिव के लिए टिकट की बुकिंग कर सकता है। ऐसे में सोशल मीडिया पर चल रही ये खबर कि दोस्तों का ट्रेन टिकट बुक करने पर आपको जेल हो सकती है, पूरी तरह से निराधार और गलत है।

खुद IRCTC ने एक नोट जारी कर ऐसी अफवाहों का खंडन किया है। IRCTC द्वारा जारी नोट में बताया गया है कि कोई भी यूजर, जिसका खाता आधार लिंक्ड है, वो 24 टिकट तक बुक कर सकता है। अगर आधार से लिंक नहीं है, तब भी वो महीने के 12 टिकट बुक करा सकता है हालाँकि, रेलवे ने इसी के साथ ये भी साफ कर दिया कि किसी व्यक्ति द्वारा पर्सनल अकाउंट से ली गई ट्रेन टिकट को कॉमर्शियली नहीं बेचा जा सकता है। रेलवे एक्ट, 1989 के सेक्शन 143 के मुताबिक, पर्सनल अकाउंट से बुक किए गए टिकट को बेचा नहीं जा सकता है, इसके लिए सख्त सजा का प्रावधान है।

फैक्ट चेक : सोशल मीडिया पर टिकट बुकिंग से जुड़ा दावा पूरी तरह से बेबुनियाद है। आप अपने लिए, घर वालों के लिए, दोस्तों के लिए आधार लिंक्ड अकाउंड से महीने में 24 टिकट तक बुक सकते हैं। हाँ, ये जरूर है कि अगर ये टिकट बेचा गया है, तब ये दंडनीय अपराध है। अत: निजी इस्तेमाल के लिए आईआरसीटीसी के अकाउंट से बुकिंग आप खुलकर कर सकते हैं और अपनी यात्रा का आनंद उठा सकते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -