Thursday, April 15, 2021
Home हास्य-व्यंग्य-कटाक्ष गणित शिक्षक रियाज नायकू की मौत से हुआ भयावह नुकसान, अनुराग कश्यप भूले गणित

गणित शिक्षक रियाज नायकू की मौत से हुआ भयावह नुकसान, अनुराग कश्यप भूले गणित

अनुराग कश्यप से जब फैक्ट चेकर 'फ़ॉल्टन्यूज' ने इस बाबत सम्पर्क किया तो कश्यप ने बताया कि उन्हें यह बताने में कोई झिझक नहीं है कि उन्होंने यह गणित नेहरू जी द्वारा बनाए गए विश्वविद्यालयों में सीखी थी ना कि किसी आरएसएस के विद्यालय में।

अनुराग कश्यप ट्विटर पर गणित कर रहे हैं। इस गणित के मिले-जुले परिणाम मिल रहे हैं। अभी रियाज नायकू को जन्नत पहुँचे दो माह भी पूरे नहीं हुए थे कि बुतपरस्तों के मुल्क में अनुराग कश्यप जैसे गणितज्ञों की शक्ल में इसके भयावह नतीजे सामने आने लगे।

वही रियाज नायकू, जो पिछले माह ही भारतीय सेना की गोली से बिना ‘एक, दो, तीन’ की उल्टी गिनती गिने ही ‘चल दिए’ थे। जिनके जाते ही पता चला था कि वो तो गणित के महान शिक्षक थे और अगर सेना द्वारा मारे ना जाते तो उस काल अवधि की गणना अवश्य कर लेते, जब बॉलीवुड निर्देशक अनुराग कश्यप बिना सस्ता नशा किए कोई ट्वीट करते।

हिजबुल मुजाहिदीन के शीर्ष कमांडर और महान गणितज्ञ रियाज नाइकू की अल्पायु में मौत के दो दुष्परिणाम सामने आए हैं – पहला यह कि अनुराग कश्यप अब उस काल घड़ी को जान ही नहीं पाएँगे जब उन्हें अपने होशोहवास में सोशल मीडिया इस्तेमाल करना था, और दूसरा यह कि इसी बात का फायदा उठाकर वो अपनी नशीली गणित से ट्विटर पर बेख़ौफ़ लोगों की नींद उड़ाते जा रहे हैं।

ट्विटर पर वोक-लिबरल्स ने इसे ‘प्रगतिशील गणित’ का नाम दिया है। उनका कहना है कि आज तक वो सिर्फ प्रोफ़ेसर कुणाल कामरा से ही इतिहास, राजनीतिशास्त्र और दर्शन शास्त्र पढ़ते आ रहे थे, लेकिन अब उन्हें एक गणित का भी टीचर मिल गया है। उन्होंने कहा कि अंग्रेजी के लिए वो आज भी कामरान अकमल पर निर्भर हैं। और बाकी सभी विषयों में वोलेंटियर ध्रुव राठी उनकी मदद करते आए हैं।

पिता-पुत्र संवाद के एक कालजयी दृश्य में महान राजनेता रामधीर सिंह ने अपने प्रिय पुत्र को कहा था कि वो सिर्फ इस कारण ज्यादा ज़िंदा रह सके, क्योंकि वो सिनेमा नहीं देखते थे। इसी तर्ज पर अब सोशल मीडिया यूजर्स की चाह है कि वो भी किसी दिन अनुराग कश्यप को अपने पास बिठाकर उन्हें बता सकें कि वो लोग सिर्फ इस कारण जिन्दा हैं, क्योंकि उन्होंने कभी अनुराग कश्यप से गणित नहीं पढ़ी।

दरअसल, अनुराग कश्यप ने आज एक मार्मिक और भावुक ट्वीट करने के लिए गणित का सहारा लेते हुए बताया कि सत्या फिल्म को बाईस और गैंग्स ऑफ़ वासेपुर के आठ साल पूरे होने के कारण वो अब तीस साल के हो गए हैं। अनुराग कश्यप के इस ट्वीट के बाद लोग एक दूसरे को चूंटी काट रहे हैं और अपने जिन्दा होने का सबूत फैज की किसी नज़्म में तलाश रहे हैं।

यूनेस्को ने दिया ‘विश्व की बेस्ट गणित’ का खिताब

समाचार लिखे जाने तक यूनेस्को ने भी अनुराग कश्यप की गणित को विश्व की बेस्ट गणित घोषित कर दिया है लेकिन गोदी मीडिया यह बात छुपा रहा है। यूनेस्को ने कहा है कि फासिज़्म और पैट्रीआर्की के समूल विनाश से पहले ही इसे विश्व धरोहर में सूचीबद्द किया जाएगा। यह समय कब आएगा, इसकी गणना की जिम्मेवारी भी अनुराग कश्यप को ही दी गई है।

वहीं, अनुराग कश्यप से जब फैक्ट चेकर ‘फ़ॉल्टन्यूज’ ने इस बाबत सम्पर्क किया तो कश्यप ने बताया कि उन्हें यह बताने में कोई झिझक नहीं है कि उन्होंने यह गणित नेहरू जी द्वारा बनाए गए विश्वविद्यालयों में सीखी थी ना कि किसी आरएसएस के विद्यालय में।

राहुल गाँधी को भी अनुराग कश्यप द्वारा इजाद की गई इस गणित की जब सूचना दी गई तो पहले उनके माथे पर यह सोचकर पसीना आ गया कि कहीं अब अनुराग कश्यप नेहरू और इंदिरा गाँधी कि कुल उम्र को जोड़कर उनके युवा रहने की समयवधि ना निकाल लें। लेकिन जब उन्हें लगा कि अनुराग कश्यप ऐसा कभी नहीं करेंगे तो उन्हें अनुराग कश्यप को सलाह दी कि उन्हें पूरे जोश के साथ ये मजा पूरे देश को देना चाहिए।

कुछ लोगों ने यह भी माँग की है कि अनुराग कश्यप की गणित की इस प्रतिभा का खुलासा होने के बाद अब लद्दाख स्थित गलवान घाटी में चायनीज दुश्मनों को गंदी मौत देने के लिए और उन्हें कड़ा सबक सिखाने के लिए अनुराग कश्यप को उन्हें गणित पढ़ाने के लिए भेजा जाना चाहिए।

अनुराग कश्यप इसके लिए सिर्फ इस शर्त पर तैयार हुए हैं कि उन्हें वहाँ पर सस्ते गाँजे की सप्लाई में कोई कमी नहीं होनी चाहिए और अगर ऐसा हुआ तो वो मानवाधिकार वालों को सूचित कर देंगे। स्वरा भास्कर ने इसके लिए ट्विटर पर एक ऑनलाइन कैम्पेन भी शुरू कर दिया है।

संघियों ने अपनी गणित का प्रमाण दे कर की वोक शिक्षक अनुराग से डिग्रियाँ लेने की कोशिश

अनुराग कश्यप की इस कालजयी गणित से प्रभावती होकर कुछ संघियों ने भी वोक-शिक्षक अनुराग से डिग्रियाँ लेने की कोशिश की और अपनी गणित के प्रमाण पेश किए। ऐसे ही कुछ अनुभवों पर एक नजर –

इस प्रकार की गणित जब सत्यान्वेषी पत्रकार रवीश कुमार के संज्ञान में आई तो वो बस यही कह पाए –

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

आशीष नौटियाल
पहाड़ी By Birth, PUN-डित By choice

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सुशांत सिंह राजपूत पर फेक न्यूज के लिए AajTak को ऑन एयर माँगनी पड़ेगी माफी, ₹1 लाख जुर्माना भी: NBSA ने खारिज की समीक्षा...

AajTak से 23 अप्रैल को शाम के 8 बजे बड़े-बड़े अक्षरों में लिख कर और बोल कर Live माफी माँगने को कहा गया है।

‘आरोग्य सेतु’ डाउनलोड करने की शर्त पर उमर खालिद को जमानत, पर जेल से बाहर ​नहीं निकल पाएगा दिल्ली के हिंदू विरोधी दंगों का...

दिल्ली दंगों से जुड़े एक मामले में उमर खालिद को जमानत मिल गई है। लेकिन फिलहाल वह जेल से बाहर नहीं निकल पाएगा। जाने क्यों?

कोरोना से जंग में मुकेश अंबानी ने गुजरात की रिफाइनरी का खोला दरवाजा, फ्री में महाराष्ट्र को दे रहे ऑक्सीजन

मुकेश अंबानी ने अपनी रिफाइनरी की ऑक्सीजन की सप्लाई अस्पतालों को मुफ्त में शुरू की है। महाराष्ट्र को 100 टन ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी।

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।

चीन के लिए बैटिंग या 4200 करोड़ रुपए पर ध्यान: CM ठाकरे क्यों चाहते हैं कोरोना घोषित हो प्राकृतिक आपदा?

COVID19 यदि प्राकृतिक आपदा घोषित हो जाए तो स्टेट डिज़ैस्टर रिलीफ़ फंड में इकट्ठा हुए क़रीब 4200 करोड़ रुपए को खर्च करने का रास्ता खुल जाएगा।

कोरोना पर कुंभ और दूसरे राज्यों को कोसा, खुद रोड शो कर जुटाई भीड़: संजय राउत भी निकले ‘नॉटी’

संजय राउत ने महाराष्ट्र में कोरोना के भयावह हालात के लिए दूसरे राज्यों को कोसा था। कुंभ पर निशाना साधा था। अब वे खुद रोड शो कर भीड़ जुटाते पकड़े गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

बेटी के साथ रेप का बदला? पीड़ित पिता ने एक ही परिवार के 6 लोगों की लाश बिछा दी, 6 महीने के बच्चे को...

मृतकों के परिवार के जिस व्यक्ति पर रेप का आरोप है वह फरार है। पुलिस ने हत्या के आरोपित को हिरासत में ले लिया है।

छबड़ा में मुस्लिम भीड़ के सामने पुलिस भी थी बेबस: अब चारों ओर तबाही का मंजर, बिजली-पानी भी ठप

हिन्दुओं की दुकानों को निशाना बनाया गया। आँसू गैस के गोले दागे जाने पर हिंसक भीड़ ने पुलिस को ही दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

‘कल के कायर आज के मुस्लिम’: यति नरसिंहानंद को गाली देती भीड़ को हिन्दुओं ने ऐसे दिया जवाब

यमुनानगर में माइक लेकर भड़काऊ बयानबाजी करती भीड़ को पीछे हटना पड़ा। जानिए हिन्दू कार्यकर्ताओं ने कैसे किया प्रतिकार?

जानी-मानी सिंगर की नाबालिग बेटी का 8 सालों तक यौन उत्पीड़न, 4 आरोपितों में से एक पादरी

हैदराबाद की एक नामी प्लेबैक सिंगर ने अपनी बेटी के यौन उत्पीड़न को लेकर चेन्नई में शिकायत दर्ज कराई है। चार आरोपितों में एक पादरी है।

थूको और उसी को चाटो… बिहार में दलित के साथ सवर्ण का अत्याचार: NDTV पत्रकार और साक्षी जोशी ने ऐसे फैलाई फेक न्यूज

सोशल मीडिया पर इस वीडियो के बारे में कहा जा रहा है कि बिहार में नीतीश कुमार के राज में एक दलित के साथ सवर्ण अत्याचार कर रहे।

‘अब या तो गुस्ताख रहेंगे या हम, क्योंकि ये गर्दन नबी की अजमत के लिए है’: तहरीक फरोग-ए-इस्लाम की लिस्ट, नरसिंहानंद को बताया ‘वहशी’

मौलवियों ने कहा कि 'जेल भरो आंदोलन' के दौरान लाठी-गोलियाँ चलेंगी, लेकिन हिंदुस्तान की जेलें भर जाएंगी, क्योंकि सवाल नबी की अजमत का है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

292,985FansLike
82,218FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe