Sunday, July 14, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिदेखत रूप चराचर मोहा… नयनाभिराम, बाल मुख पर दिव्य मुस्कानः प्राण-प्रतिष्ठा से पहले रामलला...

देखत रूप चराचर मोहा… नयनाभिराम, बाल मुख पर दिव्य मुस्कानः प्राण-प्रतिष्ठा से पहले रामलला ने दिया पहला दर्शन, कृष्णशिला से गढ़े गए हैं श्रीराम

कृष्णशिला पर बनाई गई इस मूर्ति का वजन करीब 150 से 200 किलो है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो जाएगी।

अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर में रामलला की जिस मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की जा रही है, उनकी पहली तस्वीर सामने आ चुकी है। रामलला की इस भव्य, मनमोहक और सुंदर छवि का आप भी दर्शन कीजिए। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर अनुष्ठान 16 जनवरी से शुरू हो चुका है और 22 जनवरी को रामलला की मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा की जाएगी।

प्राण प्रतिष्ठा के मुख्य कार्यक्रम से पहले रामलला की पहली भव्य तस्वीर सामने आ गई है। तस्वीर में श्रीराम के चेहरे पर मधुर मुस्कान है और माथे पर तिलक है। मौजूदा समय की बात करें तो अभी रामलला की मूर्ति गर्भगृह में है और आचार्यों के मार्गदर्शन में तमाम अनुष्ठान चल रहे हैं। रामलला की ये तस्वीर किसी भी कार्यक्रम के शुरू होने से मूल रूप में है। अब सबको इंतजार है 22 जनवरी है, जब ये प्रतिमा प्राण-प्रतिष्ठित होगी।

बता दें कि रामलला की मूर्ति का निर्माण मूर्तिकार अरुण योगीराज ने किया है। कृष्णशिला पर बनाई गई इस मूर्ति का वजन करीब 150 से 200 किलो है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा हो जाएगी, अगले दिन 23 जनवरी से सभी भक्त रामलला के दर्शन कर सकेंगे।

अयोध्या में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

अयोध्या में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, “राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर अयोध्या धाम, उत्तर प्रदेश और पूरे देश में जश्न का माहौल है। मैं यहाँ तैयारियों का निरीक्षण करने आया हूँ।” सीएम योगी ने कहा कि 22 जनवरी के ऐतिहासिक कार्यक्रम के लिए अधिकारियों और राज्य सरकार के मंत्रियों ने अपनी योजना पहले ही पूरी कर ली है।

इससे पहले, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुँचे। उन्होंने हनुमानगढ़ी में पूजा अर्चना की, इसके बाद वो प्राण प्रतिष्ठा समारोह स्थल पर भी गए। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा समारोह की अन्य तैयारियों का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने भगवान राम के भव्य मंदिर के सामने तस्वीर खिंचवाई और उसे सोशल मीडिया पर पोस्ट भी किया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या में सुबह 11.10 बजे राम कथा पार्क पहुँचे। यहाँ से वो सीधे हनुमानगढ़ी गए और दर्शन-पूजन के उपरांत जन्मभूमि परिसर गए। वो 12 बजे रामलला की आरती में शामिल हुए, फिर हनुमान गुफा पर टेंट सिटी का अवलोकन किया। इसके बाद सीएम योगी ने साकेत पेट्रोल पंप के पास नगर निगम द्वारा बनाए गए टेंट सिटी का भी निरीक्षण किया। फिर वो सरयू तट पहुँचे, जहाँ उन्होंने सोलर बोट का शुभारंभ किया। अयोध्या में अपनी 5 घंटे की मौजूदगी में सीएम योगी ने संतों से भी मुलाकात की और प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर समीक्षा बैठक भी की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -