Friday, July 19, 2024
Homeविविध विषयमनोरंजनसुप्रीम कोर्ट ने 'हमारे बारह' फिल्म की रिलीज रोकी, कहा - 'टीजर बहुत आपत्तिजनक'...

सुप्रीम कोर्ट ने ‘हमारे बारह’ फिल्म की रिलीज रोकी, कहा – ‘टीजर बहुत आपत्तिजनक’ : कलाकारों को मिल रही रेप, ‘सर तन से जुदा’ की धमकियाँ

हमारे बारह फिल्म से जुड़े कलाकारों को जान से मारने की धमकियाँ दी जा रही हैं। इस फिल्म में लीड कैरेक्टर अन्नू कपूर का है, जिनके साथ अदिति धीमान उनकी बेटी जरीन का किरदार निभा रही हैं। दोनों को जान से मारने की धमकियाँ मिली हैं।

अन्नू कपूर स्टारर फिल्म ‘हमारे बारह’ अब 14 जून को रिलीज नहीं हो पाएगी। बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसले पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी और कहा कि अभी फिल्म को तब तक रिलीज नहीं किया जाएगा, जबतक बॉम्बे हाई कोर्ट इस मामले में पूरी सुनवाई करके आदेश न दे दे। तब तक इस मामले में कोई भी पक्ष न तो स्टे ऑर्डर लेगा और न ही कोई जल्दबाजी दिखाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि बॉम्बे हाई कोर्ट अपने सुझाव के मुताबिक, इस फिल्म पर पूरी रिपोर्ट मँगाए, जिसके लिए उसने CBFC द्वारा 3 सदस्यीय कमेटी के गठन और उसके सुझाव के आधार पर फैसले की बात कही थी। वहीं, दूसरी ओर इस फिल्म के कलाकारों को रेप, जान से मारने की धमकियाँ भी दी जा रही हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने साथ ही कहा कि हमने इस फिल्म का टीजर देखा, जो ‘बेहद आपत्तिजनक’ है। ऐसे में 14 जून को इस फिल्म की रिलीजिंग पर रोक लगाई जाती है। ये मामला सुप्रीम कोर्ट के अवकाशकालीन बेंच में सुना गया। जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस संदीप मेहता की वेकेशन बेंच ने बॉम्बे हाईकोर्ट द्वारा फिल्म की रिलीज की अनुमति दिए जाने के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका पर आदेश पारित किया।

जस्टिस मेहता ने कहा, “सुबह हमने टीजर देखा। इसमें सभी आपत्तिजनक सामग्री है। टीजर यूट्यूब पर उपलब्ध है।” जस्टिस नाथ ने फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने वाले हाईकोर्ट द्वारा पारित पहले अंतरिम आदेश का हवाला देते हुए कहा, “टीजर इतना आपत्तिजनक है कि हाई कोर्ट ने भी अंतरिम आदेश ही दिया।” सुप्रीम कोर्ट ने मामले का गुण-दोष के आधार पर निर्णय लेने का काम हाईकोर्ट पर छोड़ दिया और तब तक फिल्म की स्क्रीनिंग पर रोक लगा दी। इसके अलावा, याचिकाकर्ता को हाईकोर्ट के समक्ष CBFC द्वारा समिति के गठन के बारे में आपत्ति उठाने की स्वतंत्रता दी गई।

इस मामले में याचिकाकर्ता का कहना था कि CBFC इस फिल्म की स्क्रीनिंग के लिए एक कमेटी बनाई थी। CBFC की कमेटी ने स्क्रीनिंग के बाद उस फिल्म के टीजर और उससे जुड़े कुछ हिस्सों को हटाने का सुझाव दिया था। जिसको हटा लिया गया था और उसके बाद हाईकोर्ट में इस फिल्म की रिलीज की अनुमति दी थी।

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया कि फिल्म, जिसे पहले 7 जून को रिलीज किया जाना था, सिनेमैटोग्राफ अधिनियम, 1952 के प्रावधानों और इससे जुड़े नियमों और दिशानिर्देशों का उल्लंघन कर रही है। उन्होंने दावा किया कि ट्रेलर इस्लामी आस्था और भारत में विवाहित मुस्लिम महिलाओं के लिए अपमानजनक है। फिल्म की रिलीज संविधान के अनुच्छेद 19(2) और अनुच्छेद 25 का उल्लंघन करेगी।

बता दें कि हमारे बारह फिल्म लगातार विवादों में घिरी हुई है। फिल्म का टीजर जारी होने के बाद से ही इस फिल्म को लेकर बवाल मचा हुआ है। फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की जा रही है। वहीं सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से हमारे बारह का ट्रेलर भी हटाया जा चुका है। फिल्म पर धर्म विशेष के खिलाफ नफरत फैलाने का आरोप लगाया जा रहा है और इसकी रिलीज को रोके जाने की माँग हो रही है। कर्नाटक सरकार इस फिल्म पर रोक लगा चुकी है।

इस बीच, इस फिल्म से जुड़े कलाकारों को जान से मारने की धमकियाँ दी जा रही हैं। इस फिल्म में लीड कैरेक्टर अन्नू कपूर का है, जिनके साथ अदिति धीमान उनकी बेटी जरीन का किरदार निभा रही हैं। अब अदिति धीमान ने खुलासा किया है कि उनका ‘सिर तन से जुदा करने’, ‘रेप करने’ और जान से मारने की धमकी दी जा रही है। अदिति धीमान ने कहा कि “हम लोग सोसायटी के लिए कुछ अच्छा करना चाह रहे हैं, लेकिन हमें ही जान से मार देंगे, सिर धड़ से अलग कर देंगे। रेप कर देंगे। ऐसे-ऐसे मैसेज आ रहे हैं। एक आर्टिस्ट के तौर पर ये बहुत ज्यादा दिल तोड़ने वाला होता है, लेकिन आपके पास इसे इग्नोर करने के अलावा कुछ नहीं रह जाता है।” अन्नू कपूर को भी जान से मारने की धमकियाँ मिल रही हैं, इसकी प्रतिक्रिया में उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा था कि वो डरने वाले नहीं हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -