Wednesday, September 30, 2020
Home विविध विषय भारत की बात ...जब सावरकर ने लेनिन को लंदन में 3 दिन के लिए दी थी शरण

…जब सावरकर ने लेनिन को लंदन में 3 दिन के लिए दी थी शरण

भारत में भी कुछ गिने-चुने साहसी कम्युनिस्टों ने सावरकर को वीर और महान माना है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) के संस्थापक मानवेंद्रनाथ राय (M N Roy) जो लेनिन-स्टालिन के साथ सोवियत रूस में कार्य कर चुके थे उन्होंने सावरकर को अपना 'हीरो और प्रेरणास्त्रोत' माना है।

वीर सावरकर ने लेनिन को लंदन में 3 दिनों तक शरण दी थी। इसके बारे में शायद ही कभी बात की जाती है। कारण यह है कि आज के नव-कम्युनिस्ट यह स्वीकार नहीं करना चाहते कि राष्ट्रवादी सावरकर को लेनिन सहित कई प्रमुख वामपंथियों ने महान और वीर कहने का साहस किया था।

वीर सावरकर की आज 137वीं जयंती मनाई जा रही है। मई 28, 1883 को महाराष्ट्र के नासिक जिले में उनका जन्म हुआ था। उनका व्यक्तित्व और जीवन दोनों ही साधारण नहीं कहे जा सकते।

सावरकर के जीवन का प्रत्येक क्षण राष्ट्र के गौरव के लिए समर्पित रहा है। वीर सावरकर का मानना था कि भारत को अंग्रेजी साम्राज्य से स्वतंत्रत कराने के लिए युवाओं को सशस्त्र क्रान्ति में बढ़-चढ़कर योगदान देना चाहिए। यह बात शायद ही बहुत लोग जानते होंगे कि वह एक महान क्रांतिकारी होने के साथ-साथ साहित्यकार, कवि, इतिहासकार और समाजसुधारक भी थे।

वर्ष 1906 में लोकमान्य तिलक ने श्यामजी कृष्ण वर्मा से सावरकर को छात्रवृत्ति देने की सिफ़ारिश की थी। फलस्वरुप सावरकर ‘शिवाजी छात्रवृत्ति’ प्राप्त कर जुलाई 03, 1906 को कानून की पढ़ाई करने इंग्लैंड पहुँचे। यहाँ सावरकर का निवास ‘इंडिया हाउस’ में था, जिसे श्यामजी कृष्ण वर्मा संचालन करते थे।

अगले तीन वर्षों तक इंडिया हाउस क्रांतिकारी कार्यों का केंद्र बना रहा। केवल भारत के क्रन्तिकारी ही नहीं अपितु मिस्र, तुर्की, आयरलैंड, रूस आदि के क्रांतिकारी भी इंडिया हाउस की सभाओं और बैठकों में शामिल होते थे। इन्हीं क्रांतिकारियों में एक थे रूसी कम्युनिस्ट क्रांतिकारी ‘व्लादिमीर लेनिन’ (Vladimir Lenin)!

वर्ष 1909 मार्च माह के मध्य में वीर सावरकर के कट्टर समर्थक व उनके मित्र गाए ऐ एल्ड्रेड (Guy.A. Aldred) जो खुद को खुलकर कम्युनिस्ट बताते थे, वह इंडिया हाउस में रूसी कम्युनिस्ट क्रन्तिकारी ‘लेनिन’ को लेकर आए थे।

सावरकर और लेनिन की बैठक हुई जिसमे मदनलाल ढींगरा भी शामिल थे। उनके बीच क्या वार्ता हुई, यह किसी नहीं पता। लेनिन-सावरकर के बीच और भी बैठकें हुई थी, परन्तु उनकी जानकारी उपलब्ध नहीं है। हालाँकि, सावरकर-लेनिन वार्ता का एक किस्सा हमें ‘श्री दत्तोपंत ठेंगड़ी’ जी की पुस्तक ‘कम्युनिज्म अपनी ही कसौटी पर’ से जरूर मिलता है। इसमें ठेंगड़ी जी बताते हैं कि उनके कॉलेज के दिनों में वीर सावरकर अरवी के पास उनके गाँव गए थे।

वीर सावरकर पर प्रतिबन्ध हटने के बाद यह उनका पहला दौरा था। इस गाँव में एक हाईस्कूल था, वहाँ के 9वीं-10वीं के छात्रों ने कम्युनिस्ट मास्टरों के भड़काने पर वीर सावरकर के विरुद्ध प्रदर्शन आयोजित किया था। जब सावरकर को इसकी जानकारी मिली तो उन्होने उन बच्चों को ऐसे ही जाने न दिया। सभी बाल प्रदर्शनकारियों को बुलवाया गया। उन बच्चों को अपने सामने बिठाकर वीर सावरकर ने उनसे विरोध का कारण पूछा।

एक 9वीं का छात्र खड़ा हुआ और वीर सावरकर से प्रश्न किया, “आप हिन्दू-राष्ट्र की बात करते हो, तो हिन्दू-राष्ट्र की रूपरेखा क्या है? कैसे रचना होगी?”

वीर सावरकर ने अपने उत्तर में एक संस्मरण सुनाया। उन्होंने कहा कि जब वे लंदन में कानून की पढ़ाई कर रहे थे, उस समय आयरलैंड के ईमान डी वैलेरा (Eamon de Valera) और रूस के व्लादिमीर लेनिन दोनों लंदन में थे।

तब लेनिन के पीछे रूस के गुप्तचर लगे हुए थे। उनसे बचने के लिये वह फ़रार थे। यही वो समय था जब सावरकर ने लेनिन को ‘इंडिया हाऊस‘ में तीन दिन तक शरण दी थी। दिनभर सावरकर अपने काम में व्यस्त रहते, पर रात भोजन उनका लेनिन के साथ होता था। एक बार लेनिन इधर-उधर की बातें करते, तो सावरकर ने उनसे कहा –

“यह आपका ‘इज्म’ आदि क्या है मुझे इससे मतलब नहीं, पर यह बताइए की यदि रूस का शासन आप लोगों के हाथ में आता है तो आपके ‘इज्म’ के अनुसार रूस में समाजिक-आर्थिक रचना क्या होगी?”

इस प्रश्न पर लेनिन हँसे और कहा, “देखो मेरे पास इस तरह की कोई रूपरेखा नहीं है और हो भी नहीं सकती क्यूँकि जब तक हम शासन में नहीं आते और परिस्थितियाँ दिखाई नहीं देती तब तक हम सारा खाका कैसे तैयार करेंगे।”

इस प्रसंग को सुनाने के बाद वीर सावरकर उन बाल प्रदर्शनकारियों से बोले, “आपके नेता लेनिन हैं, वे कम्युनिस्ट समाज की रूपरेखा नहीं दे सके और आप मुझसे हिन्दू-राष्ट्र की रूपरेखा माँग रहे हैं? यदि आज लेनिन आपका ही प्रश्न मुझसे करते हैं तो मैं उन्हें उन्हीं का उत्तर याद दिलाता। तो बच्चों मै तुम्हारा उत्तर नहीं दे सकता, तुम जीते और मैं हारा।”

यह बात उल्लेखनीय है कि वीर सावरकर विश्व के पहले क्रांतिकारी हैं, जिनका मुकदमा अंतरराष्ट्रीय अदालत में लड़ा गया था। लंदन में हुई उनकी गिरफ्तारी के बाद भारत ले जाते समय जहाज के सीवर होल से भागने की घटना का समाचार पूरे यूरोप में आग की तरह फ़ैला था।

सावरकर के समर्थन में यूरोप के कई दल सामने आए थे। कार्ल मार्क्स के पौत्र जीन लोंगयट (Jean Longuet) ने खुलकर सावरकर का समर्थन किया था। इटली का वाम-दल इटालियन रिपब्लिकन कॉन्ग्रेस (IPR) ने भी सावरकर के समर्थन में प्रदर्शन किया था।

वर्ष 1910 अगस्त, अंतरराष्ट्रीय सोशलिस्ट कॉन्ग्रेस (International Socialist Congress) में वीर सावरकर की रिहाई का प्रस्ताव पारित हुआ था। रूस के महान लेखक जिन्हें सोवियत साहित्य का पितामह भी कहा जाता है, ‘मैक्सिम गोर्की’ ने वीर सावरकर को अपने देश के क्रांतिकारी ‘निकोलाई चेर्नशेवेस्की’ के बराबर माना है।

भारत में भी कुछ गिने-चुने साहसी कम्युनिस्टों ने सावरकर को वीर और महान माना है। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (CPI) के संस्थापक मानवेंद्रनाथ राय (M N Roy) जो लेनिन-स्टालिन के साथ सोवियत रूस में कार्य कर चुके थे उन्होंने सावरकर को अपना ‘हीरो और प्रेरणास्त्रोत’ माना है।

एमपीटी आचार्य (M.P.T Acharya) ने तो वीर सावरकर के क्रांतिकारी व्यक्तित्व पर लेख भी लिखा था। यही नहीं, बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने ‘पार्टी डॉक्यूमेंट’ में ‘वीर सावरकर और तिलक को अंग्रेजी साम्राज्य का सबसे बड़ा शत्रु’ बताया।

हालाँकि, प्रखर राष्ट्रवादी वीर सावरकर के बहुआयामी चरित्र और क्रांतिकारी व्यक्तित्व को किसी कम्युनिस्ट के प्रमाण की आवश्यकता नहीं है। लेकिन आवश्यक यह है कि आज के नव-कॉमरेड यह बात जान लें। वो पढ़ेंगे, इस बात पर संदेह है।

(यह लेख हार्दिक सिंह नेगी द्वारा लिखा गया है, जो कि वर्तमान में JNU में अध्ययनरत हैं)

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हाथरस ‘गैंगरेप’ में लिबरल गिरोह ‘जाति’ क्यों ढूँढ रहा है? अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Hathras ‘gangrape’ case

इस बीच मौकापरस्त पत्रकार और नेता मामले को स्पिन देते हुए आरोपित की ‘जाति’ निकाल कर सामने ला रहे हैं कि वो उच्च जाति का होने की वजह से पुलिस ने रेप से इनकार किया।

1959 के एकतरफा तरीके से परिभाषित LAC कभी स्वीकार नहीं: भारत ने चीन को दिया दो टूक जवाब

चीन ने एक बार फिर एलएसी के मसले पर नया विवाद खड़ा करने की कोशिश की है। लेकिन भारत ने पलटवार करते हुए चीन से सख्त अंदाज में कह दिया है कि बार-बार भटकाने की मंशा सफल नहीं होगी।

‘बॉलीवुड के नकली अंग्रेज, जिनके रोम-रोम में बसा है इटली वाला रोम’ – सनातन धर्म की रक्षा के लिए अर्नब गोस्वामी का हल्ला बोल

“मैं बॉलीवुड के नकली अँग्रेज़ को बताना चाहता हूँ, भारतीय सिनेमा छोड़ दो। हमारी संस्कृति और परंपराओं पर बॉलीवुड का प्रभाव बढ़ रहा है।"

ड्रग्स सिंडिकेट की एक्टिव मेंबर… तस्करी, डिलीवरी से लेकर घर में स्टोरेज तक: रिया के खिलाफ कोर्ट में NCB

वॉट्सऐप चैट, मोबाइल, लैपटॉप और हार्ड डिस्क से निकाले गए रिकॉर्ड बताते हैं कि वह ना केवल लगातार इसका सौदा करती थीं, बल्कि...

RSS से जुड़े ब्राह्मण ने दिया था अंग्रेजों का साथ, एक मुस्लिम वकील लड़ा था भगत सिंह के पक्ष में – Fact Check

"भगत सिंह को फ़ाँसी दिलाने के लिए अंग्रेजों की ओर से जिस 'ब्राह्मण' वकील ने मुकदमा लड़ा था, वह RSS का भी सदस्य था।" - वायरल हो रहा मैसेज...

योग, सरदार पटेल, राम मंदिर और अब किसान… कॉन्ग्रेसियों के फर्जी विरोध पर फूटा PM मोदी का गुस्सा

राम मंदिर, सरदार पटेल की प्रतिमा, सर्जिकल स्ट्राइक, जन-धन खाता, राफेल और योग दिवस - कॉन्ग्रेस ने हर उस फैसले का जम कर विरोध किया, जो देशहित में था, जनता के भले के लिए था।

प्रचलित ख़बरें

बेच चुका हूँ सारे गहने, पत्नी और बेटे चला रहे हैं खर्चा-पानी: अनिल अंबानी ने लंदन हाईकोर्ट को बताया

मामला 2012 में रिलायंस कम्युनिकेशन को दिए गए 90 करोड़ डॉलर के ऋण से जुड़ा हुआ है, जिसके लिए अनिल अंबानी ने व्यक्तिगत गारंटी दी थी।

‘दीपिका के भीतर घुसे रणवीर’: गालियों पर हँसने वाले, यौन अपराध का मजाक बनाने वाले आज ऑफेंड क्यों हो रहे?

दीपिका पादुकोण महिलाओं को पड़ रही गालियों पर ठहाके लगा रही थीं। अनुष्का शर्मा के लिए यह 'गुड ह्यूमर' था। करण जौहर खुलेआम गालियाँ बक रहे थे। तब ऑफेंड नहीं हुए, तो अब क्यों?

एंबुलेंस से सप्लाई, गोवा में दीपिका की बॉडी डिटॉक्स: इनसाइडर ने खोल दिए बॉलीवुड ड्रग्स पार्टियों के सारे राज

दीपिका की फिल्म की शूटिंग के वक्त हुई पार्टी में क्या हुआ था? कौन सा बड़ा निर्माता-निर्देशक ड्रग्स पार्टी के लिए अपनी विला देता है? कौन सा स्टार पत्नी के साथ मिल ड्रग्स का धंधा करता है? जानें सब कुछ।

व्यंग्य: दीपिका के NCB पूछताछ की वीडियो हुई लीक, ऑपइंडिया ने पूरी ट्रांसक्रिप्ट कर दी पब्लिक

"अरे सर! कुछ ले-दे कर सेटल करो न सर। आपको तो पता ही है कि ये सब तो चलता ही है सर!" - दीपिका के साथ चोली-प्लाज्जो पहन कर आए रणवीर ने...

आजतक के कैमरे से नहीं बच पाएगी दीपिका: रिपब्लिक को ज्ञान दे राजदीप के इंडिया टुडे पर वही ‘सनसनी’

'आजतक' का एक पत्रकार कहता दिखता है, "हमारे कैमरों से नहीं बच पाएँगी दीपिका पादुकोण"। इसके बाद वह उनके फेस मास्क से लेकर कपड़ों तक पर टिप्पणी करने लगा।

शाम तक कोई पोस्ट न आए तो समझना गेम ओवर: सुशांत सिंह पर वीडियो बनाने वाले यूट्यूबर को मुंबई पुलिस ने ‘उठाया’

"साहिल चौधरी को कहीं और ले जाया गया। वह बांद्रा के कुर्ला कॉम्प्लेक्स में अपने पिता के साथ थे। अभी उनकी लोकेशन किसी परिजन को नहीं मालूम। मदद कीजिए।"

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में हाथियों को गोद लेने की योजना शुरू: 1 दिन से 1 साल तक कोई भी दे सकता है योगदान

“हाथियों के लिए कायाकल्प शिविर सोमवार को शुरू हुआ, जिससे उन्हें अपने नियमित काम से छुट्टी मिल गई। ये हाथी हमें पूरे साल पेट्रोलिंग, ट्रैकिंग और अन्य नियमित कार्यों में मदद करते हैं।”

डेनमार्क की PM के नाम से The Hindu ने भारत में कोरोना की स्थिति को बताया ‘बहुत गंभीर’, राजदूत ने कहा- फेक न्यूज़

'द हिन्दू' ने इस फर्जी खबर में लिखा है कि डेनमार्क की PM ने द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए सोमवार को भारत में COVID-19 की स्थिति के बारे में गहरी चिंता व्यक्त की है।

‘1991 का कानून कॉन्ग्रेस की अवैध मस्जिदों को जिंदा रखने की साजिश, 9 मस्जिदों का जिक्र कर बताया यहाँ पहले थे मंदिर’: PM को...

"द प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट 1991 कॉन्ग्रेस की हुकूमत में इसलिए बनाया गया, ताकि मुगलों द्वारा भारत के प्राचीन पवित्र मंदिरों को तोड़ कर बनाई गई अवैध मस्जिदों को हिंदुस्तान की जमीन पर एक विवाद के रूप में जिंदा रखा जाए और....."

हाथरस ‘गैंगरेप’ में लिबरल गिरोह ‘जाति’ क्यों ढूँढ रहा है? अजीत भारती का वीडियो | Ajeet Bharti on Hathras ‘gangrape’ case

इस बीच मौकापरस्त पत्रकार और नेता मामले को स्पिन देते हुए आरोपित की ‘जाति’ निकाल कर सामने ला रहे हैं कि वो उच्च जाति का होने की वजह से पुलिस ने रेप से इनकार किया।

1959 के एकतरफा तरीके से परिभाषित LAC कभी स्वीकार नहीं: भारत ने चीन को दिया दो टूक जवाब

चीन ने एक बार फिर एलएसी के मसले पर नया विवाद खड़ा करने की कोशिश की है। लेकिन भारत ने पलटवार करते हुए चीन से सख्त अंदाज में कह दिया है कि बार-बार भटकाने की मंशा सफल नहीं होगी।

‘उसे अल्लाह ने चुना था’: शार्ली एब्दो के पूर्व कार्यालय के बाहर हमला करने वाले आतंकी को PAK ने बनाया हीरो, जताई खुशी

"मुझे सुनकर बहुत अच्छा लगा। पैगंबर का सम्मान बचाने के लिए मैं अपनी जिंदगी और अपने पाँचों बेटों की कुर्बानी देने को तैयार हूँ।"

LAC पर चीन के साथ टकराव के बीच अमेरिका से खरीदे जाएँगे 30 गार्जियन ड्रोन: ₹22,000 करोड़ होगी कीमत

भारत, अमेरिका से 30 MQ-9B गार्डियन्‍स ड्रोन खरीदेगा। जल्‍द ही इस ड्रोन से जुड़ा खरीद प्रस्‍ताव रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई वाली रक्षा खरीद परिषद में पेश किया जाने वाला है।

हाथरस ‘गैंगरेप’ पीड़िता ने तोड़ा दम: पुलिस ने सोशल मीडिया पर आँख फोड़ने, जीभ काटने का किया खंडन

“सोशल मीडिया के माध्यम से यह असत्य खबर सार्वजनिक रुप से फैलाई जा रही है कि थाना चन्दपा क्षेत्रान्तर्गत दुर्भाग्यपूर्ण घटित घटना में मृतिका की जीभ काटी गई, आँख फोड़ी गई तथा रीढ़ की हड्डी तोड़ दी गई थी।"

मेरा साथ देने पर पड़ोसियों को मिली घर तोड़ने की धमकी, BMC ने भेजा नोटिस: कंगना रनौत

ट्वीट में कंगना ने मुंबई में अपने पड़ोसियों के घरों को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि बीएमसी ने उनके पड़ोसियों को धमकाया है और नोटिस भेज दिया है।

‘बॉलीवुड के नकली अंग्रेज, जिनके रोम-रोम में बसा है इटली वाला रोम’ – सनातन धर्म की रक्षा के लिए अर्नब गोस्वामी का हल्ला बोल

“मैं बॉलीवुड के नकली अँग्रेज़ को बताना चाहता हूँ, भारतीय सिनेमा छोड़ दो। हमारी संस्कृति और परंपराओं पर बॉलीवुड का प्रभाव बढ़ रहा है।"

हमसे जुड़ें

264,935FansLike
78,083FollowersFollow
326,000SubscribersSubscribe