J&K पर चलाया प्रोपगेंडा तो सस्पेंड हुए कई हैंडल्स: पाक ने ट्विटर के भारतीय कर्मचारियों को बताया जिम्मेदार

पाकिस्तान के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा है कि उनके कई ट्विटर हैंडल्स सिर्फ़ इसीलिए बंद कर दिए हैं क्योंकि उनके द्वारा 'कश्मीर के समर्थन में' ट्वीट्स किए जा रहे थे। गफूर ने लिखा कि पाकिस्तान ने इन एकाउंट्स को सस्पेंड किए जाने का मामला ट्विटर के समक्ष उठाया है।

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता और अफवाह फैलाने के लिए कुख्यात आसिफ गफूर ने ट्विटर पर पक्षपात का आरोप लगाया है। उन्होंने ट्विटर पर ट्विटर के ख़िलाफ़ ट्वीट करते हुए यह रोना रोया है। बता दें कि हाल ही में भारत सरकार ने ट्विटर को कई ऐसे एकाउंट्स की सूची सौंपी थी, जिनके द्वारा जम्मू-कश्मीर को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही थीं। इन हैंडल्स द्वारा जम्मू कश्मीर में खून-खराबे की झूठी ख़बर फैलाई जा रही थी। इनमें कश्मीरी अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी के नाम से भी हैंडल था। गृह मंत्रालय ने ट्विटर से इन पाकिस्तानी प्रोपेगंडा चलाने वाले हैंडल्स को बंद करने को कहा था।

पाकिस्तान के मेजर जनरल आसिफ गफूर ने बताया कि उनके कई ट्विटर हैंडल्स सिर्फ़ इसीलिए बंद कर दिए हैं क्योंकि उनके द्वारा ‘कश्मीर के समर्थन में’ ट्वीट्स किए जा रहे थे। गफूर ने लिखा कि पाकिस्तान ने इन एकाउंट्स को सस्पेंड किए जाने का मामला ट्विटर के समक्ष उठाया है। गफूर ने इन सबके लिए ट्विटर में कार्यरत भारतीय कर्मचारियों को जिम्मेदार ठहराया। गफूर के अनुसार, “ट्विटर में कार्यरत भारतीय कर्मचारियों के कारण पाकिस्तानी एकाउंट्स सस्पेंड किए जा रहे हैं।”

साथ ही गफूर ने ट्विटर पर ऐसे लोगों को उन एकाउंट्स के बारे में जानकारी देने को कहा, जिनके एकाउंट्स सस्पेंड हुए हों या जो ऐसे किसी अकाउंट के बारे में जानते हों। इसके बाद पाकिस्तानी लोगों ने रिप्लाई में कई भारत-विरोधी हैंडल्स के सस्पेंड होने की बात बताई। तलत नामक महिला ने बताया कि पिछले 2 दिनों के भीतर उसके 4 एकाउंट्स सस्पेंड किए गए हैं। उन्होंने लिखा कि इन सारे एकाउंट्स का प्रयोग कश्मीर से सम्बंधित ट्वीट्स करने के लिए किया जा रहा था।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

कई पाकिस्तानी यूजर्स ने ऐसे एकाउंट्स की झड़ी लगा दी, जिन्हें ट्विटर ने सस्पेंड कर दिया गया है। इससे पता चलता है कि भारत के ख़िलाफ़ एजेंडा चलाने में पाकिस्तान ने ट्विटर का पूरी तरह से ग़लत इस्तेमाल किया है और सोशल मीडिया पर मिली लिबर्टी का ग़लत फायदा उठाया है। भारत के स्वतंत्रता दिवस के दिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान सहित वहाँ के कई नेताओं ने अपनी प्रोफाइल पिक्चर को काला कर लिया था। ट्विटर पर भारत विरोधी प्रोपेगंडा चलाए जाने के कारण ही गृह मंत्रालाय ने कम्पनी को इस सम्बन्ध में कार्रवाई करने को कहा था।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

नीरज प्रजापति, सीएए हिंसा
सीएए के समर्थन में आयोजित रैली में शामिल नीरज प्रजापति मुस्लिमों की हिंसा का शिकार बने थे। परिजनों ने ऑपइंडिया से बात करते हुए आरोप लगाया कि पुलिस व प्रशासन ने जल्दी-जल्दी अंतिम संस्कार कराने के चक्कर में धार्मिक रीति-रिवाज भी पूरा नहीं करने दिया।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

145,329फैंसलाइक करें
36,957फॉलोवर्सफॉलो करें
166,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: