Thursday, July 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यएंटी डोपिंग एजेंसी ने विनेश फोगाट को दिया नोटिस, न पते पर मिली-न फोन...

एंटी डोपिंग एजेंसी ने विनेश फोगाट को दिया नोटिस, न पते पर मिली-न फोन पर; पति ने भी नहीं दिया जवाब: रिपोर्ट

"डीसीओ ने उन तक (विनेश फोगाट) तक पहुँचने की कोशिश में 40 मिनट से अधिक समय लगाया। उनके पति सोमवीर राठी को भी फोन किया। लेकिन उनकी ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।"

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (NADA) ने पहलवान विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) को नोटिस जारी किया है। जवाब देने के लिए उन्हें 14 दिनों का समय दिया गया है। एजेंसी के अधिकारी को वह न तो सोनीपत के अपने पते पर मिली और न उनसे फोन पर संपर्क हो सका। अधिकारी ने जब उनके पति सोमवीर राठी से संपर्क की कोशिश की तो उनकी तरफ से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।

पता को लेकर एजेंसी के नियमों का पालन नहीं करने को लेकर उन्हें नोटिस जारी किया गया है। द ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार विनेश ने सोनीपत के प्रताप कॉलोनी का पता दे रखा है। 27 जून को एक डोप नियंत्रण अधिकारी (DCO) ने इस जगह का दौरा किया। लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया। रिपोर्ट में कहा गया है, “डीसीओ ने उन तक (विनेश फोगाट) तक पहुँचने की कोशिश में 40 मिनट से अधिक समय लगाया। उनके पति सोमवीर राठी को भी फोन किया। लेकिन उनकी ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।”

इसके बाद नाडा के परियोजना अधिकारी अंकुश गुप्ता ने ‘एडीआर की ठिकाने आवश्यकताओं का पालन करने में विफलता’ पर विनेश गुप्ता से जवाब देने को कहा है। उल्लेखनीय है कि जो एथलीट रजिस्टर्ड टेस्टिंग पूल (RTP) का हिस्सा हैं, उन्हें हर तीन महीने पर अपने ठिकाने की जानकारी अपडेट करने के लिए एंटी-डोपिंग एडमिनिस्ट्रेशन मैनेजमेंट सिस्टम (ADAMS) का उपयोग करना पड़ता है। इसमें उन्हें अपना पता, ईमेल, फोन नंबर, कार्यसूची, प्रशिक्षण स्थल और कार्यक्रम का डिटेल देना होता है। दिसंबर 2022 से विनेश आरटीपी का हिस्सा हैं।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि बीते 12 महीने में ऐसा पहली बार हुआ है कि विनेश ने नियमों का उल्लंघन किया है। 12 महीने में यदि तीन बार ठिकाने की पुष्टि नहीं हो तो वह नियमों का उल्लंघन माना जाता है। वैसी स्थिति में दो साल तक का निलंबन भी हो सकता है। वैसे इस तरह का नोटिस पाने वाली विनेश दूसरी भारतीय महिला पहलवान हैं। इससे पहले विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता पूजा ढांडा को भी यह नोटिस मिल चुका है। ढांडा के पते की पुष्टि करने में नाडा लगातार तीन बार जुलाई, अक्टूबर और दिसंबर 2022 में असफल रहा था।

उल्लेखनीय है कि भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के निवर्तमान अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Sharan Singh) पर यौन शोषण का आरोप लगाते हुए जिन पहलवानों दिल्ली के जंतर-मंतर पर डेरा डाल रखा था, उनमें विनेश फोगाट प्रमुख थीं। हंगरी में आयोजित बुडापेस्ट रैंकिंग सीरीज से वे प्रतिस्पर्धी कुश्ती में वापसी करने जा रही हैं। इससे पहले टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम (TOPS) के तहत विनेश और बजरंग पुनिया को विदेश में ट्रेनिंग के लिए खेल मंत्रालय से मंजूरी मिलने की खबर आई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -