Thursday, July 18, 2024
Homeविविध विषयअन्य'काश निर्भया की जगह तुम होती, एहसान मानो अभी तक जिंदा हो…': स्वर्ण मंदिर...

‘काश निर्भया की जगह तुम होती, एहसान मानो अभी तक जिंदा हो…’: स्वर्ण मंदिर में योग करने वाली लड़की को मिल रही रेप-हत्या की धमकी, गुजरात पुलिस ने सुरक्षा दी

रेप और जान से मारने की धमकियाँ भी मिल रही हैं। उन्हें कहा जा रहा है- "काश निर्भया की जगह तुम होतीं", "ये तो एहसान मानो अभी तक जिंदा हो वरना किसी ने अभी तक मार देना था तुमको।"

योग दिवस (21 जून) के मौके पर श्री हरमिंदर साहिब गुरुद्वारे (स्वर्ण मंदिर) के भीतर जाकर ‘शीर्षासन’ करने वाली इंस्टाग्राम इन्फ्लुएंसर अर्चना मकवाना के विरुद्ध अमृतसर में शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने शिकायत दर्ज की है। संगठन ने अर्चना पर धार्मिक भावनाएँ आहत करने का आरोप लगाकर उनके खिलाफ कार्रवाई की माँग की है।

इसके अलावा उनकी तस्वीरें वायरल होने के बाद उन्हें रेप और जान से मारने की धमकियाँ भी मिल रही हैं। इस सबंध में इन्फ्लुंसर ने खुद अपने सोशल मीडिया पर आकर बताया। साथ ही जानकारी दी कि इन धमकियों के मद्देनजर उन्हें गुजरात की वडोदरा पुलिस ने बिन माँगे सुरक्षा मुहैया कराई है जिसके लिए वह उनकी आभारी है। अपने पोस्ट में उन्होंने वडोदरा पुलिस के साथ गुजरात सरकार का भी धन्यवाद किया है। साथ ही अपने फॉलोवर्स को बताया है कि वो अभी सुरक्षित हैं।

बता दें कि 23 जून को अर्चना मकवाना की वीडियो वायरल होने के बाद उनके खिलाफ केस दर्ज हुआ था। एसजीपीसी प्रमुख हरजिंदर सिंह धामी ने कहा था कि इस मामले में पुलिस आयुक्त को शिकायत भेजी गई है। उन्होंने एक बयान में कहा था कि किसी को भी स्वर्ण मंदिर में सिखों के आचरण के खिलाफ काम करने की इजाजत नहीं दी जा सकती, मगर कुछ लोग जानबूझकर इस पवित्र स्थान की पवित्रता और ऐतिहासिक महत्व को नजरअंदाज करते हैं और आपत्तिजनक कार्य करते हैं।

वहीं मकवाना का कहना था कि उन्होंने इस मंशा के साथ स्वर्ण मंदिर में योग नहीं किया जैसा लोगों ने समझ लिया । उन्होंने सिर्फ पंजाब में योग को लेकर जागरूकता फैलाने के लिए ऐसा किया था, मगर उनकी बात को गलत ले लिया गया। अपनी एक वीडियो में उन्होंने हाथ जोड़कर माफी तक माँगी थी। बावजूद इसके उन्हें धमकियाँ आने लगीं।

अर्चना ने कुछ स्क्रीनशॉट भी अपनी स्टोरी पर लगाए हैं जिसमें उन्हें मैसेज किया गया है- “काश निर्भया की जगह तुम होतीं”, “ये तो एहसान मानो अभी तक जिंदा हो वरना किसी ने अभी तक मार देना था तुमको।”

उल्लेखनीय है कि इस मामले में सिर्फ अर्चना मकवाना के खिलाफ कार्रवाई की बात नहीं हो रही बल्कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (एसजीपीसी), सर्वोच्च गुरुद्वारा निकाय ने भी अपने तीन कर्मचारियों को अपने कर्तव्यों का पालन नहीं करने के लिए निलंबित कर दिए जाने की भी खबर है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -