Wednesday, July 28, 2021
Homeविविध विषयअन्य'भारतीयों को कभी भी... मतलब कभी भी कम मत आँको' - ऑस्ट्रेलियन कोच ने...

‘भारतीयों को कभी भी… मतलब कभी भी कम मत आँको’ – ऑस्ट्रेलियन कोच ने ऐसे मानी हार, पहले दिखाई थी हेकड़ी

“भारतीयों को कभी भी... मतलब कभी भी कम मत आँको। भारत में डेढ़ अरब आबादी है और उनमें से यहाँ 11 खेल रहे हैं, उनका मुकाबला करना मुश्किल है।”

भारतीय क्रिकेट टीम ने इतिहास रच दिया है। ब्रिस्बेन में खेले गए चौथे टेस्ट में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 3 विकेट से धूल चटाते हुए टेस्ट सीरीज 2-1 से जीत ली है। ब्रिस्बेन में 33 साल से ऑस्ट्रेलिया नहीं हारा था, लेकिन टीम इंडिया ने इसको भी मुमकिन कर दिखाया और गाबा के मैदान पर ऑस्ट्रेलिया की बादशाहत का अंत कर दिया।

ऑस्‍ट्रेलिया ने भारत के सामने 328 रनों का लक्ष्‍य रखा था, जिसे मेहमान टीम ने सात विकेट गँवाकर हासिल कर लिया। करारी शिकस्‍त मिलने के बाद ऑस्‍ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर (justin Langer) के तेवर नरम पड़ गए और उन्‍होंने भारत के लिए बड़ा बयान दे दिया। 

टीम इंडिया की इस ताकत को देखने के बाद लैंगर ने चैनल 7 से बात करते हुए कहा, “भारतीयों को कभी भी… मतलब कभी भी कम मत आँको। भारत में वहाँ पर डेढ़ अरब आबादी है और उनमें से यहाँ 11 खेल रहे हैं, उनका मुकाबला करना मुश्किल है।”

भारत की युवा क्रिकेट टीम ने अपने जबरदस्त जुझारूपन और जज्बे के दम पर चौथे और आखिरी टेस्ट मैच के 5वें दिन मंगलवार (जनवरी 19, 2021) को ऑस्ट्रेलिया को तीन विकेट से हरा बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-Gavaskar Trophy) अपने पास ही रखी है।

ऐतिहासिक सीरीज जीतने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने अपने खिलाड़ियों पर धनवर्षा की है। बीसीसीआई के सेक्रेटरी जय शाह (Jay Shah) ने टीम को 5 करोड़ रुपए का बोनस देने की घोषणा की है।

गाबा में खेले गए चौथे टेस्ट मैच से पहले भी भारत चोटों से परेशान थी। जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा और हनुमा विहारी भी चोटिल हो गए थे। भारत का तेज गेंदबाजी आक्रमण इस मैच में बेहद अनुभवहीन और युवा था, बावजूद इसके भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पटक चार मैचों की टेस्ट सीरीज 2-1 से अपने नाम की

इस सीरीज में शुभमण गिल ने भी अंतरराष्ट्रीय टेस्ट मैच में पहली बार कदम रखा था। जहाँ तक इस मैच की बात है, ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में मारनस लाबुशेन की शतक की मदद से 369 रनों का स्कोर खड़ा किया था। नटराजन और शार्दुल ठाकुर ने 3-3 विकेट लिए।

भारत ने पहली बारी में शार्दुल और सुंदर के पचासों की मदद से 336 रन बनाए। हेजलवुड ने 5 विकेट लिए। लेकिन, दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया को भारत ने 394 पर समेट दिया। अंतिम पारी में भारत ने सफलतापूर्वक लक्ष्य को चेज कर लिया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कराहते केरल में बकरीद के बाद बिकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

साँवरें के रंग में रंगी हरियाणा की तेजतर्रार महिला IPS भारती अरोड़ा, श्रीकृष्‍ण भक्ति के लिए माँगी 10 साल पहले स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने इस खबर की पुष्टि की है। उन्होंने बताया है कि अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe