Friday, July 19, 2024
Homeविविध विषयअन्य'अपनी ईगो साइड में रख कर दूसरे कप्तान के अंडर खेलें विराट कोहली': कपिल...

‘अपनी ईगो साइड में रख कर दूसरे कप्तान के अंडर खेलें विराट कोहली’: कपिल देव की सलाह, दिया गावस्कर का उदाहरण

शनिवार (15 जनवरी 2022) को विराट ने भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी से अपना इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री और सपोर्ट स्टाफ को धन्यवाद देते हुए कहा था कि इस गाड़ी के इंजन वही लोग थे और उन्हीं के कारण टेस्ट क्रिकेट में भारत और आगे बढ़ा।

विराट कोहली (Virat Kohli) के भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी से इस्तीफा देने के बाद भारत के पूर्व कप्तान और दिग्गज खिलाड़ी कपिल देव (Kapil Dev) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा, “कोहली काफी दिनों से दवाब में दिख रहे थे। अब उन्हें अपनी ईगो साइड में रखकर नए कप्तान के अंडर खेलना होगा।”

मिड डे से बातचीत में उन्होंने कहा, “मैं विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के फैसले का स्वागत करता हूँ। टी-20 की कप्तानी छोड़ने के बाद से ही वह बुरे दौर से गुजर रहे थे। वह बीते कुछ दिनों से काफी तनाव में नजर आ रहे हैं। इसलिए स्वतंत्र रूप से खेलने के लिए कप्तानी छोड़ना एक विकल्प था। इसीलिए उन्होंने यह चुना।”

1983 में भारतीय क्रिकेट टीम को पहली बार विश्व कप दिलाने वाले पूर्व कप्तान कपिल देव को यह भी लगता है कि कोहली शायद कप्तानी का आनंद नहीं ले रहे थे। उन्होंने आगे कहा, “वह एक परिपक्व इंसान हैं। मुझे यकीन है कि उन्होंने यह महत्वपूर्ण निर्णय काफी सोच-विचार करने के ​बाद लिया होगा। हो सकता है कि वह कप्तानी का आनंद नहीं ले रहे थे। हमें उनका समर्थन करना होगा और उन्हें शुभकामनाएँ देनी होंगी।”

कपिल देव, जो कृष्णमाचारी श्रीकांत और मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में भारत के लिए खेल चुके हैं, वह चाहते हैं कि कोहली भी बतौर बल्लेबाज नए कप्तान के नेतृत्व में खेलें। उन्होंने अपने खेल के सुनहरे दिनों को याद करते हुए कहा, “अब विराट कोहली को अपना ईगो साइड में रखकर भारत के अगले टेस्ट कप्तान के अंडर खेलना होगा। यह भारतीय क्रिकेट टीम के लिए बेहतरीन साबित होगा।”

कपिल देव ने कहा, “सुनील गावस्कर भी मेरी कप्तानी में खेले हैं। मैं के श्रीकांत और अजहरुद्दीन के नेतृत्व में खेला, लेकिन इस बात को लेकर मुझमें कोई ईगो नहीं था। विराट को अपना ईगो छोड़ना होगा और एक युवा क्रिकेटर के नेतृत्व में खेलना होगा। इससे उन्हें और भारतीय क्रिकेट को मदद मिलेगी। विराट को नए कप्तान, नए खिलाड़ियों का मार्गदर्शन करना चाहिए। हम विराट को बतौर बल्लेबाज बिलकुल भी नहीं खो सकते।”

बता दें कि शनिवार (15 जनवरी 2022) को विराट ने भारतीय टेस्ट टीम की कप्तानी से अपना इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री और सपोर्ट स्टाफ को धन्यवाद देते हुए कहा था कि इस गाड़ी के इंजन वही लोग थे और उन्हीं के कारण टेस्ट क्रिकेट में भारत और आगे बढ़ा। विराट कोहली ने अंत में महेंद्र सिंह धोनी को भी धन्यवाद देते हुए कहा था कि उन्होंने उनमें विश्वास जताया और उन्हें इस लायक समझा, कि वो भारतीय क्रिकेट को आगे लेकर जा सकें।

इसके बाद विराट की पत्नी अनुष्का शर्मा (Anushka Sharma) ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था, “भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में विराट कोहली के दमदार प्रदर्शन और उनके नेतृत्व में टीम की उपलब्धियों पर मुझे गर्व है। लेकिन, उनका अनादर हुआ, इसके बावजूद उन्होंने बिना रुके खुद को साबित किया। मुझे उन पर गर्व है। वर्ष 2014 में वह काफी युवा थे और नौसिखिए थे। हम सोचते थे कि अच्छे इरादे, सकारात्मक सोच और लक्ष्य हमें जीवन में आगे ले जा सकते हैं। हाँ, ऐसा होता तो है लेकिन चुनौतियों के बिना नहीं। इनमें से अधिकतर चुनौतियाँ जिनका विराट कोहली ने सामना किया, वो मैदान से बाहर की थीं।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -