Monday, July 13, 2020
Home विविध विषय अन्य मुलायम ने कहा- परिंदा भी पर नहीं मार सकता, लेकिन उन भाइयों ने गुंबद...

मुलायम ने कहा- परिंदा भी पर नहीं मार सकता, लेकिन उन भाइयों ने गुंबद पर भगवा लहरा दिया

राम और शरद ने 22 अक्टूबर की रात ट्रेन पकड़ी। बनारस आकर रुके। टैक्सी से आजमगढ़ के फूलपुर कस्बे तक आए। सड़क रास्ता बंद था। 200 किलोमीटर पैदल चल अयोध्या पहुॅंचे और विवादित इमारत के गुंबद पर चढ़ भगवा ध्वज फहरा दिया।

ये भी पढ़ें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

सौमित्र मुझे बचपने से खासे लुभाते रहे हैं। अक्सर सोचता हूॅं कि वह भाई किस मिट्टी का बना होगा जो भरी जवानी में अपनी नवविवाहिता को छोड़ भाई और भाभी की सेवा के लिए वन चला गया। कितने मजबूत कलेजे का रहा होगा कि जिस भाभी के लिए जान पर खेल गया, उसे ही भाई के आदेश पर गर्भावस्था में अरण्य छोड़ आया। कितना समर्पित रहा होगा कि जब भाई यज्ञवेदी पर बैठा था तो अश्व लेकर भूमंडल जीतने निकल पड़ा।

फिर मुझे कोठारी बंधु याद आते हैं। राम के लिए वैसा ही समर्पण। रामलला के लिए शरद कोठारी ने सिर में गोली खाई तो रामकुमार कोठारी के गले को चीरती गोली निकल गई।

खत आया, भाई न आए

साल था 1990 और महीना था दिसंबर। पहले हफ्ते के एक दिन डाकिया आज के कोलकाता और तब के कलकत्ता के खेलत घोष लेन स्थित एक घर में पोस्टकार्ड लेकर पहुॅंचता है। बकौल पूर्णिमा कोठारी, “चिट्ठी देख मैं बिलख पड़ी। उसने मॉं और बाबा का ध्यान रखने को लिखा था। साथ ही कहा था कि चिंता मत करना हम तुम्हारी शादी में पहुॅंच जाएँगे।” यह पत्र था पूर्णिमा के भाई शरद कोठारी का जो अपने बड़े भाई रामकुमार के साथ अयोध्या में 2 नवंबर को ही शहीद हो चुके थे। चिट्ठी शहादत से कुछ घंटों पहले ही लिखी गई थी।

वादा जो पूरा न हुआ

22 साल के रामकुमार और 20 साल के शरद कोलकाता में अपने घर के करीब बड़ा बाजार में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखा में नियमित रूप से जाते थे। दोनों द्वितीय वर्ष प्रशिक्षित थे। कई अन्य स्वयंसेवकों की तरह ही राम और शरद ने भी विहिप की कार सेवा में शामिल होने का फैसला किया। 20 अक्टूबर 1990 को उन्होंने अयोध्या जाने के अपने इरादे के बादे में पिता हीरालाल कोठारी को बताया। उसी साल दिसंबर के दूसरे हफ्ते में बहन पूर्णिमा की शादी होनी तय थी। पिता ने कहा- कम से कम एक भाई तो घर पर रुको ताकि शादी के इंतजाम हो सके। पर दोनों भाई इरादे से पीछे नहीं हटे।

बकौल पूर्णिमा, “आखिर में एक शर्त पर पिता राजी हुए। उनसे हर रोज अयोध्या से खत लिखते रहने को कहा। अयोध्या के लिए निकलने से पहले उन्होंने ढेर सारे पोस्टकार्ड खरीदे ताकि चिट्ठियॉं लिख सके। मुझे जब पता चला कि भाई अयोध्या जा रहे हैं तो मैं दुखी हो गई। उन्होंने वादा किया कि वे मेरी शादी तक जरूर लौट आएँगे।” दिसंबर के पहले हफ्ते में पूर्णिमा को जो चिट्ठी मिली वो इनमें से ही एक पोस्टकार्ड पर लिखा गया था। पूर्णिमा की शादी भी उसी साल दिसंबर में हो गई। लेकिन, बहन से किया वादा पूरा करने दोनों भाई घर लौट नहीं पाए।

भाइयों की तस्वीर के साथ पूर्णिमा कोठारी (साभार: news18.com)

घर न लौटने की वह यात्रा

राम और शरद ने 22 अक्टूबर की रात कोलकाता से ट्रेन पकड़ी। हेमंत शर्मा ‘युद्ध में अयोध्या’ में लिखते हैं- बनारस आकर दोनों भाई रुक गए। सरकार ने गाड़ियॉं रद्द कर दी थी तो वे टैक्सी से आजमगढ़ के फूलपुर कस्बे तक आए। यहॉं से सड़क रास्ता भी बंद था। 25 तारीख से कोई 200 किलोमीटर पैदल चल वे 30 अक्टूबर की सुबह अयोध्या पहुॅंचे। 30 अक्टूबर को विवादित जगह पहुॅंचने वाले शरद पहले आदमी थे। विवादित इमारत के गुंबद पर चढ़कर उन्होंने पताका फहराई। दोनों भाइयों को सीआरपीएफ के जवानों ने लाठियों से पीटकर खदेड़ दिया। शरद और रामकुमार अब मंदिर आंदोलन की कहानी बन गए थे। अयोध्या में उनकी कथाएँ सुनाई जा रही थी।

दोनों भाइयों के साथ कोलकाता से अयोध्या के लिए निकले राजेश अग्रवाल के मुताबिक वे 30 अक्टूबर को तड़के 4 बजे अयोध्या पहुॅंंचे। वे बताते हैं कि मस्जिद की गुंबद पर भगवा ध्वज फहरा कोठारी बंधुओं ने उस समय उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव की दावे की हवा निकाल दी थी। मुलायम ने कहा था, “वहॉं परिंदा भी पर नहीं मार सकता।”

घर से खींच मारी गोली

फिर आया 2 नवंबर का दिन। युद्ध में अयोध्या के अनुसार दोनों भाई विनय कटियार के नेतृत्व में दिगंबर अखाड़े की तरफ से हनुमानगढ़ी की ओर बढ़ रहे थे। जब सुरक्षा बलों ने फायरिंग शुरू की तो दोनों पीछे हटकर एक घर में जा छिपे। सीआरपीएफ के एक इंस्पेक्टर ने शरद को घर से बाहर निकाल सड़क पर बिठाया और सिर को गोली से उड़ा दिया। छोटे भाई के साथ ऐसा होते देख रामकुमार भी कूद पड़े। इंस्पेक्टर की गोली रामकुमार के गले को भी पार कर गई। दोनों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। उनकी अंत्येष्टि में सरयू किनारे हुजूम उमड़ पड़ा था। बेटों की मौत से हीरालाल को ऐसा आघात लगा कि शव लेने के लिए अयोध्या आने की हिम्मत भी नहीं जुटा सके। दोनों का शव लेने हीरालाल के बड़े भाई दाऊलाल फैजाबाद आए थे और उन्होंने ही दोनों का अंतिम संस्कार किया था।

भाइयों की याद में पूर्णिमा उनके दोस्त राजेश अग्रवाल के साथ मिलकर ‘राम-शरद कोठारी स्मृति समिति’ नाम से एक संस्था चलाती हैं। ऐसे वक्त में जब सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ हो चुका है राम और शरद की स्मृतियॉं उस ‘शौर्य’ की पहचान है जिसके कारण यहॉं तक का सफर पूरा हो पाया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

ख़ास ख़बरें

कट्टर मुस्लिम किसी के बाप से नहीं डरता: अजान की आवाज कम करने की बात पर फरदीन ने रेप की धमकी दी

ये तस्वीर आशी ने ट्विटर पर 28 जून को शेयर की थी। इसके बाद सुहेल खान ने भी आशी के साथ अभद्रता से बात की थी ।

भारत में ₹75,000 करोड़ निवेश करेगा Google: PM मोदी से बातचीत के बाद CEO सुन्दर पिचाई का ऐलान

गूगल भारत में 'इंडिया डिजिटलाइजेशन फंड' के जारी 10 बिलियन डॉलर अगले 5-7 वर्षों मे क्रमवार तरीके से निवेश करेगा।

‘शूद्र स्तर की राजनीति कर रहे PM मोदी, प्रियंका गाँधी को जिंदगी भर मिलना चाहिए सरकारी बंगला’

"हमारे राजनीतिक मतभेद भले हो सकते हैं लेकिन सरकारी आवास से निकलने का आदेश जारी करना शूद्र स्तर की राजनीति है।"

राजस्थान: दर्जन भर ठिकानों पर IT और ED का छापा, CM गहलोत के बेटे वैभव पर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप

आरोप है कि मॉरीशस की एक कम्पनी के जरिए हुए लेन-देन में वैभव गहलोत ने वित्तीय लाभ प्राप्त किया है। IT और ED के छापे से गरमाई राजनीति।

पद्मनाभस्वामी मंदिर के प्रबंधन में त्रावणकोर राजपरिवार का अधिकार बना रहेगा: SC

केरल हाईकोर्ट ने 2011 में सरकार से मंदिर के प्रबंधन और संपत्तियों को नियंत्रण में लेने को कहा था। इस फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी गई और उसने प्रबंधन में राजपरिवार के अधिकार को मान्यता दी है।

ताहिर हुसैन की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा – ‘दिल्ली दंगों की साजिश की जड़ें काफी गहरी’

ताहिर हुसैन की जमानत याचिका खारिज करते हुए सेशन कोर्ट ने कहा कि दिल्ली मे हुए दंगों के पीछे एक ऐसी साजिश थी, जिसकी जड़ें काफ़ी गहरी हैं।

प्रचलित ख़बरें

मैं हिंदुओं को सबक सिखाना चाहता था, दंगों से पहले तुड़वा दिए थे सारे कैमरे: ताहिर हुसैन का कबूलनामा

8वीं तक पढ़ा ताहिर हुसैन 1993 में अपने पिता के साथ दिल्ली आया था और दोनों पिता-पुत्र बढ़ई का काम करते थे। पढ़ें दिल्ली दंगों पर उसका कबूलनामा।

22 लोगों के लिए नौकरी, सब सीट पर मुस्लिमों की भर्ती: पश्चिम बंगाल या पाकिस्तान का ऑफिस? – Fact Check

22 के 22 सीटों पर जिन लोगों का चयन हुआ है, वो सब मुस्लिम हैं। पश्चिम बंगाल के नाडिया जिले में हुई चयन प्रक्रिया को लेकर सोशल मीडिया में...

‘पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान याद करो’ – शिक्षिका शैला परवीन ने LKG और UKG के बच्चों को दिया टास्क

व्हाट्सप्प ग्रुप में पाकिस्तान और बांग्लादेश का राष्ट्रगान पोस्ट किया गया। बच्चों के लिए उन मुल्कों के राष्ट्रगान का यूट्यूब वीडियो डाला गया।

टीवी और मिक्सर ग्राइंडर के कचरे से ‘ड्रोन बॉय’ प्रताप एनएम ने बनाए 600 ड्रोन: फैक्ट चेक में खुली पोल

इन्टरनेट यूजर्स ऐसी कहानियाँ साझा कर रहे हैं कि कैसे प्रताप ने दुनिया भर के विभिन्न ड्रोन एक्सपो में कई स्वर्ण पदक जीते हैं, 87 देशों द्वारा उसे आमंत्रित किया गया है, और अब पीएम मोदी के साथ ही डीआरडीपी से उन्हें काम पर रखने के लिए कहा गया है।

व्यंग्य: विकास दुबे एनकाउंटर पर बकैत कुमार की प्राइमटाइम स्क्रिप्ट हुई लीक

आज सुबह खबर आई कि एनकाउंटर हो गया। स्क्रिप्ट बदलनी पड़ी। जज्बात बदल गए, हालात बदल गए, दिन बदल गया, शाम बदल गई!

‘हिंदुस्तानी कुत्तों, तुस्सी रहो जरा औकात में’ – मंदिर के खिलाफ फतवे के बाद अब गाना, Pak में हिन्दूघृणा का खुलेआम प्रदर्शन

इस गाने के वीडियो में इस्लामाबाद के श्रीकृष्ण मंदिर विवाद को लेकर भारतीयों को कुत्ता कहा गया है और 'औकात में रहने' की सलाह दी गई है।

कट्टर मुस्लिम किसी के बाप से नहीं डरता: अजान की आवाज कम करने की बात पर फरदीन ने रेप की धमकी दी

ये तस्वीर आशी ने ट्विटर पर 28 जून को शेयर की थी। इसके बाद सुहेल खान ने भी आशी के साथ अभद्रता से बात की थी ।

भारत में ₹75,000 करोड़ निवेश करेगा Google: PM मोदी से बातचीत के बाद CEO सुन्दर पिचाई का ऐलान

गूगल भारत में 'इंडिया डिजिटलाइजेशन फंड' के जारी 10 बिलियन डॉलर अगले 5-7 वर्षों मे क्रमवार तरीके से निवेश करेगा।

COVID-19 की जाँच में 11 लाख का आँकड़ा पार कर अग्रणी राज्य बना UP, सरकार ने दिए डोर टू डोर मेडिकल स्क्रीनिंग के निर्देश

कोरोना संक्रकितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने डोर टू डोर कैंपेन चलाने का निर्देश दिया है।

‘शूद्र स्तर की राजनीति कर रहे PM मोदी, प्रियंका गाँधी को जिंदगी भर मिलना चाहिए सरकारी बंगला’

"हमारे राजनीतिक मतभेद भले हो सकते हैं लेकिन सरकारी आवास से निकलने का आदेश जारी करना शूद्र स्तर की राजनीति है।"

राजस्थान: दर्जन भर ठिकानों पर IT और ED का छापा, CM गहलोत के बेटे वैभव पर मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप

आरोप है कि मॉरीशस की एक कम्पनी के जरिए हुए लेन-देन में वैभव गहलोत ने वित्तीय लाभ प्राप्त किया है। IT और ED के छापे से गरमाई राजनीति।

पद्मनाभस्वामी मंदिर के प्रबंधन में त्रावणकोर राजपरिवार का अधिकार बना रहेगा: SC

केरल हाईकोर्ट ने 2011 में सरकार से मंदिर के प्रबंधन और संपत्तियों को नियंत्रण में लेने को कहा था। इस फैसले को शीर्ष अदालत में चुनौती दी गई और उसने प्रबंधन में राजपरिवार के अधिकार को मान्यता दी है।

ताहिर हुसैन की जमानत याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा – ‘दिल्ली दंगों की साजिश की जड़ें काफी गहरी’

ताहिर हुसैन की जमानत याचिका खारिज करते हुए सेशन कोर्ट ने कहा कि दिल्ली मे हुए दंगों के पीछे एक ऐसी साजिश थी, जिसकी जड़ें काफ़ी गहरी हैं।

BJP विधायक पश्चिम बंगाल में फाँसी के फंदे से झूलते मिले, बँधे हुए थे हाथ: परिजनों ने जताई हत्या की आशंका

हेमताबाद के भाजपा विधायक देबेन्द्र नाथ रॉय की पत्नी और पूर्व पंचायत प्रमुख चांदीमा रॉय ने भी अपने पति की साजिशन हत्या की आशंका जताई है।

‘सचिन पायलट अब BJP में’ – कॉन्ग्रेस नेता पीएल पूनिया ने अपने बयान को कहा मानवीय भूल

पीएल पुनिया का ये बयान ऐसे वक्त में आया है, जब राजस्थान में सचिन पायलट के बगावती तेवर देखने को मिल रहे हैं और सरकार पर खतरा...

‘4 मस्जिद तेज आवाज में अजान बजा कर कॉम्पिटिशन कर रहे कि किसकी आवाज अल्लाह तक जाएगी’

'बिग बॉस 8' से लोकप्रियता पाने वाले प्रीतम सिंह ने लिखा कि ये मस्जिद आपस में ही प्रतियोगिता कर रहे हैं कि कौन कितनी जोर से अजान बजाएगा।

हमसे जुड़ें

239,013FansLike
63,452FollowersFollow
274,000SubscribersSubscribe