Wednesday, July 17, 2024
Homeविविध विषयअन्यनिवेशकों को किया गुमराह, कमाया ₹75 लाख: SEBI ने एक्टर अरशद वारसी को बीवी,...

निवेशकों को किया गुमराह, कमाया ₹75 लाख: SEBI ने एक्टर अरशद वारसी को बीवी, साले सहित किया बैन, 45 यूट्यूबर्स पर कार्रवाई

सेबी ने उन अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की है, जिन्होंने इन कंपनियों के शेयरों को पंप और डंप करने के लिए यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया। साधना ब्रॉडकास्ट के अपराधियों की सूची में बॉलीवुड अभिनेता अरशद वारसी, उनकी बीवी मारिया और उनके भाई इकबाल वारसी शामिल हैं।

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) ने बॉलीवुड अभिनेता अरशद वारसी (Arshad Warsi) सहित 45 यूट्यूबर्स को शेयर पंप एंड डंप मामले में दोषी पाया है। सेबी ने गुरुवार (2 मार्च 2023) को सभी दोषियों पर कार्रवाई करते हुए बाजार में ट्रेडिंग से तत्‍काल रोक लगा दी। इस मामले में अरशद वारसी, उनकी बीवी मारिया गोरेट्टी (Maria Goretti) और साले पर भी पाबंदी लगाई गई है। इन लोगों पर निवेशकों को गुमराह करने और शेयर बाजार को नुकसान पहुँचाने का आरोप लगा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, साधना ब्रॉडकास्ट (Sadhna Broadcast) और शार्पलाइन ब्रॉडकास्ट (Sharpline Broadcast) नाम की दो कंपनियों के शेयर में हेराफेरी करने के मामले में यह कार्रवाई की गई है। सेबी ने अपनी जाँच में पाया कि अपराधियों ने कृत्रिम रूप से बढ़ाए गए साधना ब्रॉडकास्ट के शेयर बेचे। इसके लिए 45 यूट्यूबर्स ने 41.90 करोड़ रुपए का अवैध लाभ भी कमाया। साधना ब्रॉडकास्ट के शेयरों को लेकर ‘द एडवाइजर’ और ‘मनीवाइज’ नाम के YouTube चैनलों ने निवेशकों को गुमराह किया।

सेबी ने उन अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई की है, जिन्होंने इन कंपनियों के शेयरों को पंप और डंप करने के लिए यूट्यूब जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया। साधना ब्रॉडकास्ट के अपराधियों की सूची में बॉलीवुड अभिनेता अरशद वारसी, उनकी बीवी मारिया और उनके भाई इकबाल वारसी शामिल हैं। सभी अपराधियों पर एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है।

दरअसल, सेबी लंबे समय से यूट्यूब इंफ्लूएंशर्स पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा था। इसको लेकर दो साल पहले ही नियम बनाने की कवायद शुरू हो गई थी। सेबी ने कहा है कि मामले में दोषी पाए गए अरशद वारसी सहित कई यूट्यूबर्स निवेशकों को गुमराह करके अपना वॉल्‍यूम बढ़ा रहे थे और महीने में 75 लाख रुपए तक की कमाई कर रहे थे। सेबी ने अभिनेता की बीवी के साथ इस बारे में हुई बातचीत को भी रिकॉर्ड किया है। सेबी ने अपने आदेश में कहा किसाधना ब्रॉडकास्ट के लिए उन्होंने 27 अप्रैल, 2022 से 30 सितंबर, 2022 के बीच जाँच की, जबकि शार्पलाइन ब्रॉडकास्ट की जाँच 12 अप्रैल, 2022 से 19 अगस्त, 2022 के बीच की गई थी।

इसको लेकर सोशल मीडिया पर यूजर्स अरशद वारसी के जमकर मजे ले रहे हैं। उन पर मीम्स बना रहे हैं। अभिषेक लिखते हैं, “अरशद वारसी को जब पंप और डंप यूट्यूबर्स का कॉल आए।”

एक और यूजर ने लिखा कि भाई सर्किट का करियर तो शुरू होते ही खत्म हो गया।

प्रेम दोशी लिखते हैं कि हम हैरान क्यों हैं? साधना ब्रॉडकास्ट सर्किट में ही चलता था। सर्किट तो होगा ही ना! साधना ब्रॉडकास्ट x अरशद वारसी।

बता दें कि सेबी ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि Moneywise, The Advisor, MidCap Calls और Profit Yatra के अलावा इस मामले में शामिल अन्य यूट्यूब चैनल्‍स अपना काम बनने के बाद उसे डिलीट कर देते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अमेरिकी राजनीति में नहीं थम रहा नस्लवाद और हिंदू घृणा: विवेक रामास्वामी और तुलसी गबार्ड के बाद अब ऊषा चिलुकुरी बनीं नई शिकार

अमेरिका में भारतीय मूल के हिंदू नेताओं को निशाना बनाया जाना कोई नई बात नहीं है। निक्की हेली, विवेक रामास्वामी, तुलसी गबार्ड जैसे मशहूर लोग हिंदूफोबिया झेल चुके हैं।

आज भी फैसले की प्रतीक्षा में कन्हैयालाल का परिवार, नूपुर शर्मा पर भी खतरा; पर ‘सर तन से जुदा’ की नारेबाजी वाले हो गए...

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि गौहर चिश्ती 17 जून 2022 को उदयपुर भी गया था। वहाँ उसने 'सर कलम करने' के नारे लगवाए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -