Monday, July 22, 2024
Homeविविध विषयअन्यकैच के दौरान जमीन में सटी गेंद, थर्ड अंपायर की आँख पर पट्टी... WTC...

कैच के दौरान जमीन में सटी गेंद, थर्ड अंपायर की आँख पर पट्टी… WTC फाइनल में नॉटआउट थे शुभमन गिल? सोशल मीडिया पोस्ट से भी साधा निशाना

वहीं, कुछ लोग शुभमन गिल को भी ट्रोल कर रहे थे। एक यूजर ने शुभमन गिल की फोटो के साथ लिखा, "जरूरी मैच में रन नहीं बना सकता भाई, रील्स बनानी है तो बता।"

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) का फाइनल खेला जा रहा है। बॉल टेंपरिंग के आरोपों के चलते यह मुकाबला पहले ही विवादों में था। वहीं, अब टीम इंडिया की दूसरी पारी में शुभमन गिल (Shubman Gill) को कैच आउट देने को लेकर ग्राउंड से लेकर सोशल मीडिया तक विवाद छिड़ा हुआ है। 

दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के 444 रनों के पहाड़ जैसे लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया ने पॉजिटिव एप्रोच दिखाते हुए तेज शुरुआत की थी। कप्तान रोहित शर्मा शुभमन गिल के साथ मिलकर करीब 6 रन प्रति ओवर के हिसाब से रन भी बना रहे थे। लेकिन इसी बीच 8वें ओवर में गेंदबाजी करने आए स्कॉट बोलैंड की पहली ही गेंद पर शुभमन गिल गली पर खड़े फील्डर कैमरून ग्रीन को कैच थमा बैठे। इसके बाद टीम इंडिया लड़खड़ाती हुई नजर आई।

शुभमन गिल के बल्ले से लगने के बाद गेंद काफी नीचे थी। ऐसे में कैमरून ग्रीन कैच पकड़ते हुए अनियंत्रित हो गए। ऐसे में फील्ड अंपायर इस बात से संतुष्ट नहीं थे कि कैच पकड़ा गया है या नहीं। ऐसे में मामला टीवी यानि थर्ड अंपायर तक जा पहुँचा। जहाँ थर्ड अंपायर रिचर्ड केटलब्रॉ ने रीप्ले देखने के बाद शुभमन गिल को आउट करार दिया। उनका मानना था कि ग्रीन ने कैच को सही तरीके से पकड़ा है। बस यहीं से विवाद शुरू हो गया।

आउट होने के बाद पवेलियन की ओर जाते हुए शुभमन गिल नाखुश नजर आए। वहीं, नॉन स्ट्राइक पर खड़े कप्तान रोहित शर्मा भी नाराज नजर आए और उन्होंने फील्ड अंपायर से बात भी की। इन सबके बीच सोशल मीडिया पर फैंस के रिएक्शन की बाढ़ आ गई। सोशल मीडिया पर लोगों का कहना है कि कैमरून ग्रीन के कैच लेने के दौरान गेंद जमीन में टच हो गई थी। ऐसे में वह नॉट आउट थे। लेकिन थर्ड अंपायर ने उन्हें आउट करार दिया।

पूर्व भारतीय क्रिकेटर और मुल्तान का सुल्तान के नाम से मशहूर वीरेंद्र सहवाग ने भी थर्ड अंपायर के इस फैसले पर नाराजगी जताई। उन्होंने आँखों में पट्टी बाँधे हुए एक व्यक्ति की फोटो शेयर करते हुए ट्वीट किया, “शुभमन गिल के कैच पर फैसला करते हुए थर्ड अंपायर। फैसला लेने के बाद पर्याप्त सबूत नहीं थे। जब संदेह हो तो नॉट आउट देना चाहिए।”

कमेंटेटर हर्षा भोगले भी वीरेंद्र सहवाग से सहमत नजर आए। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “कैमरून ग्रीन ने कैच पकड़ने के लिए बेहतरीन प्रयास किया था। लेकिन, कैच लेने के तुरंत बाद हाथ मुड़ जाता है। शुभमन गिल को काफी निराश होना पड़ा।”

पूर्व भारतीय क्रिकेटर वसीम जाफर ने मीम शेयर करते हुए थर्ड अंपायर पर निशाना साधा। मीम में एक लड़की बन्दूक से निशाना लगा रही है। लेकिन जिस आँख से उसे बंदूक देखनी चाहिए थी, वह आँख बंद दिखाई दे रही है। वसीम जाफर ने लिखा, “आउट देने से पहले रीप्ले देखते थर्ड अंपायर।”

यही नहीं, चौथे दिन का खेल खत्म होने के बाद शुभमन गिल ने भी थर्ड अंपायर के फैसले पर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने इंस्टाग्राम स्टोरी पर कैच लेते हुए कैमरून ग्रीन की फोटो के साथ ताली बजाते हुए इमोजी शेयर की।

(फोटो साभार: शुभमन गिल का इंस्टाग्राम अकाउंट)

शुभमन गिल ट्विटर पर भी थर्ड अंपायर के फैसले पर नाराजगी जाहिर करते नजर आए।

राजा बाबू नामक यूजर ने गिल की फोटो के साथ लिखा, “ये थर्ड अंपायर मेरे टाइम पर अंधा हो जाता है क्या?”

एक अन्य यूजर ने लिखा, “वन टिप वन हैंड नियम से आउट है ये”

वहीं, कुछ लोग शुभमन गिल को भी ट्रोल कर रहे थे। एक यूजर ने शुभमन गिल की फोटो के साथ लिखा, “जरूरी मैच में रन नहीं बना सकता भाई, रील्स बनानी है तो बता।”

शुभमन गिल के आउट करार देने को लेकर सोशल मीडिया पर मीम की बाढ़ आई हुई है। आइए देखते हैं कुछ मीम्स:

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -