Saturday, July 13, 2024
Homeविविध विषयअन्यजंतर-मंतर पर पहलवान: कुश्ती संघ के अध्यक्ष पर यौन शोषण, गाली देने-थप्पड़ मारने के...

जंतर-मंतर पर पहलवान: कुश्ती संघ के अध्यक्ष पर यौन शोषण, गाली देने-थप्पड़ मारने के आरोप; बोलीं विनेश फोगट- पता नहीं जिंदा रहूँगी या नहीं

"हम यहाँ तब तक रहेंगे जब तक बृजभूषण सिंह को पद से नहीं हटाया जाता। उनके पद से हटने तक हम किसी टूर्नामेंट में हिस्सा भी नहीं लेंगे। वह हर दिन मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। हमें छोटी-छोटी बातों के लिए भीख माँगना पड़ता है।"

दिल्ली के जंतर-मंतर पर भारत के पदकवीर पहलवानों ने धरना दिया। वे भारतीय कुश्ती फेडरेशन की मनमानी का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने फेडरेशन के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

धरने पर बैठे पहलवानों में ओलंपिक मेडल विजेता बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक भी शामिल हैं। पहलवानों ने फेडरेशन अध्यक्ष पर यौन उत्पीड़न, जान से मारने की धमकी जैसे आरोप लगाए हैं।

पुनिया ने कहा है, “बृजभूषण सिंह हमें गाली देते हैं। यहाँ के किसी भी खिलाड़ी को टाटा स्पोर्ट्स से कभी सपोर्ट नहीं मिला। प्राइवेट प्रमोटर केवल फेडरेशन से ही आ सकते हैं। युवा खिलाड़ी आते हैं और हमसे पूछते हैं कि कहाँ जाना है। कोई भी खिलाड़ी सवाल करता है तो उस पर बैन लगा दिया जाता है।” उन्होंने यह भी कहा है, “हमें जान से मारने की धमकियाँ दी गईं थीं। टोक्यो ओलंपिक के बाद मैंने प्रधानमंत्री जी को इस बारे में बताया था। बृजभूषण ने ओलंपिक के बाद मुझसे बात करने से इनकार कर दिया। मुझे बृजभूषण से सीधे कोई धमकी नहीं मिली, बल्कि उनके लोग धमकी देते हैं।”

इसको लेकर पूनिया ने ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा है, “फेडरेशन का काम खिलाड़ियों का साथ देना, उनकी खेल की जरूरतों का ध्यान रखना होता है। कोई समस्या हो तो उसका निदान करना होता है। लेकिन अगर फेडरेशन ही समस्या खड़ी करे तो क्या किया जाए? अब लड़ना पड़ेगा, हम पीछे नहीं हटेंगे ।”

वहीं, साक्षी मलिक ने ट्वीट कर कहा है, “खिलाड़ी पूरी मेहनत कर देश को मेडल दिलाता है। लेकिन फेडरेशन ने हमें नीचा दिखाने के अलावा कुछ नहीं किया। मनचाहे क़ायदे-क़ानून लगाकर खिलाड़ियों को प्रताड़ित किया जा रहा है।”

विनेश फोगाट ने कहा है, “रेसलिंग फेडरेशन के अध्यक्ष बृजभूषण और राष्ट्रीय शिविर में कुछ कोचों ने महिला पहलवानों का यौन शोषण किया है। मैंने आज खुले तौर पर यह कहा है। मुझे नहीं पता कि मैं कल जीवित रहूँगी या नहीं। हमने कई बार स्थानांतरित करने का अनुरोध किया है। कैंप लखनऊ से दूर है। ऐसा सिर्फ वहीं क्यों होता है? क्योंकि उसके लिए महिला पहलवानों को शिकार बनाना आसान होता है।”

उन्होंने आगे कहा है, “वे हमारे निजी जीवन में भी दखल देते हैं और हमें परेशान करते हैं। वे हमारा शोषण कर रहे हैं। जब हम ओलंपिक में गए थे तो हमारे पास फिजियो या कोच नहीं था। टोक्यो ओलंपिक में हार के बाद बृजभूषण सिंह ने मुझे खोटा सिक्का कहा। फेडरेशन ने मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है। मैं हर दिन अपने जीवन को समाप्त करने के बारे में सोचती थी। किसी पहलवान को कुछ होता है तो जिम्मेदारी बृजभूषण सिंह पर होगी।”

उन्होंने यह भी कहा है, “हम यहाँ तब तक रहेंगे जब तक बृजभूषण सिंह को पद से नहीं हटाया जाता। उनके पद से हटने तक हम किसी टूर्नामेंट में हिस्सा भी नहीं लेंगे। वह हर दिन मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित करते हैं। हमें छोटी-छोटी बातों के लिए भीख माँगना पड़ता है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -