Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजसबसे आखिर में आया था श्रद्धा के सिर का नंबर, कटे सिर को थप्पड़...

सबसे आखिर में आया था श्रद्धा के सिर का नंबर, कटे सिर को थप्पड़ मारता था आफताब: हत्या के बाद खाते से पैसे भी किए ट्रांसफर

हत्या करने के बाद आफताब ने श्रद्धा के अकाउंट से पैसे भी ट्रांसफर किए थे। शुरुआत में बरगलाने के लिए वह कह रहा था कि 22 मई से वह श्रद्धा के संपर्क नहीं है। लेकिन अब यह बात सामने आई है कि 26 मई को उसने श्रद्धा के अकाउंट से अपने अकाउंट में 54 हजार रुपए ट्रांसफर किए थे।

आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Amin Poonawalla) ने श्रद्धा के सिर को सबसे आखिर में ठिकाने लगाया था। उसने सिर के टुकड़े नहीं किए थे। श्रद्धा (Shraddha walker) के बॉडी पार्ट्स की तलाश में लगी पुलिस को यदि यह सिर मिल जाता है तो आफताब को अदालत से मौत की सजा दिलाने में यह काफी मददगार साबित होगी।

हिंदुस्तान ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि शव के टुकड़ों के साथ सिर को भी आफताब ने फ्रिज में रख रखा था। वह इसे रोज देखता था। कभी कटे सिर को जोर-जोर से थप्पड़ मारता था। कभी उसका मेअकप करता था। कभी उससे बातें भी करता था।

यह बात भी सामने आई है कि हत्या करने के बाद आफताब ने श्रद्धा के अकाउंट से पैसे भी ट्रांसफर किए थे। शुरुआत में बरगलाने के लिए वह कह रहा था कि 22 मई 2022 से वह श्रद्धा के संपर्क नहीं है। लेकिन अब यह बात सामने आई है कि 26 मई को उसने श्रद्धा के अकाउंट से अपने अकाउंट में 54 हजार रुपए ट्रांसफर किए थे।

श्रद्धा की हत्या आफताब ने 18 मई 2022 को कर दी थी। इसके बाद उसने उसके शव के 35 टुकड़े किए थे। कई दिनों तक वह शव के टुकड़े दिल्ली के महरौली के जंगलों में फेंकता रहा था। 15 नवंबर को शवों के अवशेष की बरामदगी के लिए पुलिस आफताब के लेकर जंगल में गई थी। 10 बॉडी पार्ट्स मिलने की बात कही जा रही है। हालाँकि ये श्रद्धा के ही हैं, इसकी पुष्टि फोरेंसिक और डीएनए जाँच के बाद ही हो पाएगी।

एक रिपोर्ट के मुताबिक श्रद्धा की लाश के साथ आफ़ताब कुल 22 दिनों तक रहा था। सबसे पहले उसने श्रद्धा के हाथों को काटा था, फिर पैरों को। इसके बाद उसने बाकी अंग काटे। कटे हुए अंगों को वो फ्रिज में रखने से पहले बोरिक एसिड से धो दिया था। जिस फ्रिज के एक हिस्से में उसने श्रद्धा की लाश रखी थी, उसी फ्रिज के दूसरे हिस्से में वह बिस्किट, दूध, मक्खन और कोल्डड्रिंक आदि रखता था। सबसे पहले आफताब ने आंतों को फेंका था। शव के टुकड़े करने के लिए उसने एक फुट लंबी आरी का इस्तेमाल किया था।

न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार श्रद्धा की हत्या के बाद भी आफताब सामान्य जीवन जी रहा था। उसने कई महिलाओं से शारीरिक संबंध बनाए। इस हत्या के बाद डेटिंग एप के जरिए संपर्क में आई एक लड़की को भी वह दिल्ली के महरौली की उस फ्लैट में लेकर आया था, जिसमें श्रद्धा के शव के कटे हुए टुकड़े रखे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -